बेबाक बोल

congress katha, bebaak bol
बेबाक बोल-राजकाज-कांग्रेस कथा: सत्ता और संत

जयप्रकाश नारायण की अगुआई में जनता के प्रतिरोध की आंधी इंदिरा गांधी महसूस कर रही थीं। उस समय चंद्रशेखर ने उन्हें जेपी की ताकत...

Bebak Bol
बेबाक बोल- राजकाज- कांग्रेस कथाः एक समय की बात है

अब तक इंदिरा गांधी को निज के परिवार से मिली लोक की सत्ता पर अहंकार होने लगा था। उनका यह अहंकार टूटा 1972 में...

Bebaak Bol
बेबाक बोल-राजकाज-कांग्रेस कथा: शक और मात

दिल्ली की सीमाओं पर एक से दो डिग्री की कड़कड़ाती ठंड में जवान से लेकर बुजुर्ग किसान हौसले का अलाव तेज कर रहे थे...

congress
राजकाज-बेबाक बोल-कांग्रेस कथा 13: जहाज के पंछी

फिलहाल कांग्रेस भाजपा की नीति का कोई विकल्प नहीं दे पाई है। उसकी सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि समस्या क्या है यह सभी...

बेबाक बोल
राजकाज-बेबाक बोल-कांग्रेस कथा: इसलिए सुनो ये कहानी

2014 में कांग्रेस एक ऐसी कथा बन गई जिससे हर तरह की प्रेरणा तसल्लीबख्श ली जा सकती है। राजनीति में क्या करना चाहिए और...

bebak bol, Rajkaaj
राजकाज-बेबाक बोल-कांग्रेस कथा 11: गरचे दकन में…

राष्ट्रीयता और हिंदुत्व के आधार पर भाजपा अपनी जिस राष्ट्रीय पहचान को बनाने में जुटी थी उसमें वह लगातार कामयाब होती दिख रही है।...

Farmers Protest, Kisan Andolan
‘क‍िसानों ने द‍िखाया व‍िराट रूप और जगाई बड़ी उम्‍मीद भी’

"वर्तमान में चल रहा किसान आंदोलन जाति और सांप्रदायिक दीवारों को पार कर गया है, और इसलिए इसका ऐतिहासिक महत्व है।"

bebak bol
बेबाक बोल-राजकाज: किसानिस्तान

आज के समय में सबसे बड़ा निजी क्षेत्र कृषि ही है। नब्बे के दशक में जो निजीकरण का दौर चला उसने इस सबसे बड़े...

कांग्रेस कथा, bengal election
बेबाक बोल-कांग्रेस कथा: वाम से राम तक

बंगाल अपनी राजनीतिक हिंसा के कारण भी जाना जाता रहा है। आम चुनावों के मसले के साथ यहां राजनीतिक पहचान की लड़ाई भी अहम...

कांग्रेस कथा, बेबाक बोल
बेबाक बोल- कांग्रेस कथा: आगे बंगाल की खाड़ी

ममता बनर्जी जुझारू नेता हैं और वो अपनी जमीन बचाए रखने की पूरी कोशिश करेंगी और भाजपा वहां के हिंदी भाषी प्रदेशों में अपनी...

बेबाक बोल कांग्रेस कथा: मौका-ए-मात

कांग्रेस के साथ दो बड़ी दिक्कत दिख रही है। सवर्णों का वोट बैंक पूरी तरह से भाजपा में हस्तांतरित हो चुका है। ऐसे में...

बेबाक बोल-कांग्रेस कथा: श्री हीन

सामूहिक असंतोष से निकले संघर्ष से पैदा हुए थे श्रीकृष्ण सिंह जिन्होंने नमक सत्याग्रह का रास्ता तैयार किया था। नमक की लड़ाई से तपा...

बेबाक बोल
कांग्रेस कथा: बिहार से बहिष्कार

केंद्र की सत्ता का ताला आज भी उत्तर प्रदेश और बिहार की चाबी से खुलता है। इन दोनों राज्यों की सीटें उस जादुई आंकड़े...

बेबाक बोल- कांग्रेस कथा : कांग्रेस कहां बा

भिखारी ठाकुर को अपनी जीविका के लिए कलकत्ता जाना पड़ा था। कलकत्ता यानी तब का विदेश। एक बिहारी को ‘बिदेशिया’ और ‘बिरहा’ बनाने वाली...

विशेष: पासबां कोई न हो

जगजीवन राम जैसे जुझारू नेता की जमीन को खाली छोड़ दिया गया। सीताराम केसरी का नाम भी किसी की जुबान से नहीं निकलता। कांग्रेस...

हाथरस
कांग्रेस कथा: विपक्षाघात

कांग्रेस से लेकर बसपा तक का उदाहरण है कि सांगठनिक ढांचे को बर्बाद कर चुके राजनीतिक दल अपने हित समूहों को खो देते हैं।...

hathras case, hathras crime
राजकाज: कुरेदते हो जो अब राख…

जब आप बिहार में वर्दीवाला राजनेता पर चुप थे तो एक बार उत्तर प्रदेश में देख लीजिए कि आखिर किस तरह मजबूत जाति के...

Bebak bol, Rajkaj
कांग्रेस कथा 2: रुकावट के लिए ‘खेत’ है

बीसवीं सदी के अंत के साथ कांग्रेस शिक्षा से लेकर खेती को बाजार के हवाले करने के लिए कई तरह के कानून बनाने की...

ये पढ़ा क्या?
X