ताज़ा खबर
 

दिल्ली पर बोले गोयल- झुग्गी बस्तियों से खुलेगा भाजपा की जीत का रास्ता

पूर्ण राज्य के मुद्दे पर गोयल ने कहा कि केंद्र व दिल्ली में एक पार्टी की सरकार बनने से ही पूर्ण राज्य का अधिकार मिलने का रास्ता खुलेगा। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल को प्रधानमंत्री बनने की जल्दी थी। इस वजह से उनकी पार्टी ने गोवा, पंजाब और हरियाणा में भी चुनाव लड़ा था।

Author Published on: April 14, 2019 5:26 AM
केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता विजय गोयल

केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता विजय गोयल ने कहा है कि आम आदमी पार्टी ने अपने चार साल के कार्यकाल में केवल केंद्र, पुलिस व उपराज्यपाल से झगड़ा किया है। इस वजह से दिल्लीवालों के काम फंसे हैं। अगर दिल्ली व केंद्र में एक ही पार्टी की सरकार होगी तो इससे पूर्ण राज्य का दर्जा लेने में आसानी होगी और दस गुना तेजी से काम होगा। विजय गोयल जनसत्ता बारादरी की बैठक में शिरकत करने पहुंचे थे। उन्होंने आम चुनावों को लेकर राष्ट्रीय और दिल्ली के संदर्भ में सवालों के जवाब दिए।

विजय गोयल ने कहा कि दिल्ली में काम करने के लिए जरूरी था कि सबको साथ लेकर काम किया जाए। अब चुनाव की वजह से आम आदमी पार्टी दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने की वकालत कर रही है। चार साल में कभी भी उसने यह मसला नहीं उठाया। इसके अलावा जिन पार्टियों से समर्थन लेने की कोशिश की जा रही है, उन पार्टियों की पूर्ण राज्य के अधिकार को लेकर क्या राय है। इसे भी आज तक आम आदमी पार्टी ने स्पष्ट नहीं किया है। लोकसभा चुनाव में चांदनी चौक सीट पर दावेदारी को लेकर विजय गोयल ने कहा कि इस सीट पर टिकट दिए जाने का फैसला भाजपा का शीर्ष नेतृत्व ही करेगा। उन्होंने कहा कि अब तक उनके कामकाज से संबंधित हर फैसले का अखिरी निर्णय पार्टी ने ही लिया है। इस वजह से उन्होंने अपने राजनीतिक सफर में कई अहम जिम्मेदारियों को सफलतापूर्वक पूरा किया है।

पूर्ण राज्य के मुद्दे पर गोयल ने कहा कि केंद्र व दिल्ली में एक पार्टी की सरकार बनने से ही पूर्ण राज्य का अधिकार मिलने का रास्ता खुलेगा। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल को प्रधानमंत्री बनने की जल्दी थी। इस वजह से उनकी पार्टी ने गोवा, पंजाब और हरियाणा में भी चुनाव लड़ा था। इसके बाद पार्टी की जमानत जब्त हुई। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की तरफ ध्यान नहीं दिया। वे देश के सामने दिल्ली को एक मॉडल के तौर पर विकसित नहीं कर पाए। ‘आप’ ने दिल्ली को झुग्गी बस्ती बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी और प्रदूषण सबसे खतरनाक स्तर तक पहुंच गया है जबकि प्रदूषण पर केंद्र सरकार से कोई टकराव नहीं था।

उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में दिल्ली सरकार को अपने दावों का प्रमाण देने के लिए श्वेतपत्र लाना चाहिए कि कक्षा 12 के बाद कितने बच्चों को कॉलेज व उच्च शिक्षा में जाने का मौका मिला है। इससे जमीनी हकीकत साफ हो जाएगी। बीते सालों में केजरीवाल दिल्ली के बच्चों को प्राथमिकता देने की बात कर रहे हैं, लेकिन आज तक कोई प्राथमिकता नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के कार्यकाल में भ्रष्टाचार अधिक बढ़ा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बारादरी: परीक्षा को बच्चे के स्तर पर लाया जाए
2 बारादरी: इस बार भी मिलेगी हमें शानदार कामयाबी
3 कांग्रेस-आप गठबंधन की अटकलों पर केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने कहा- गिड़गिड़ा रहे हैं मुख्यमंत्री महाशय