ताज़ा खबर
 

बारादरी

बारादरीः मैं लिखती आंखिन की देखी

हिंदी को हर वक्त क्षेत्रीय भाषाओं की जरूरत पड़ती है। हिंदी समृद्ध होती है क्षेत्रीय भाषाओं से। हालांकि बड़े दुख की बात है कि...

बारादरी: सिनेमा को समाज के जिम्मे छोड़ देना चाहिए

फिल्म कलाकार मुकेश त्यागी का कहना है कि कला-माध्यमों पर किसी तरह का बंधन नहीं होना चाहिए। इंटरनेट के इस जमाने में फिल्म सेंसर...

बारादरी: ‘फिल्म उद्योग में सरोकार की कमी नहीं’

दृश्य माध्यम जितना सशक्त तरीके से आम लोगों पर अपना प्रभाव छोड़ता है वह किसी और माध्यम से नहीं हो सकता। सिनेमा के संवाद,...

बारादरी: लोकप्रिय हुआ तो लुगदी का ठप्पा लगा दिया

गल्पकार सुरेंद्र मोहन पाठक का कहना है कि टीवी और इंटरनेट की बढ़ती तकनीक ने उनके वे पाठक छीन लिए हैं, जो फुर्सत मिलते...

बारादरी: कांग्रेस के भगवा आतंकवाद के कुप्रचार का लाभ मिला पाकिस्तान को

विश्व हिंदू परिषद के कार्यवाहक अध्यक्ष आलोक कुमार का कहना है कि राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर बनाने का आंदोलन अपनी परिणति तक पहुंच...

बारादरीः जनतंत्र में हिंसा की कोई जगह नहीं

भाजपा सांसद और दलित चिंतक उदित राज का कहना है कि सामाजिक न्याय लाने की दिशा में भारत का बौद्धिक वर्ग नाकाम रहा है।...

बारादरी: विधाएं भाषा की नहीं, साहित्य की होती हैं

साहित्य, समाज और सत्ता के त्रिकोण में एक अहम भूमिका होती है अकादमियों की। देश की आजादी के बाद सत्ता के केंद्र ने साहित्य...

बारादरी: नाटक सिर्फ मनोरंजन की वस्तु नहीं

राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के निदेशक और मकबूल रंगकर्मी वामन केंद्रे का मानना है कि सिनेमा और इंटरनेट से जुड़े मनोरंजन के माध्यमों ने आम...

बारादरी: सीलिंग का व्यावहारिक हल निकालना जरूरी

आम आदमी पार्टी के बीस विधायकों के अयोग्य करार दिए जाने का मामला हो या सीलिंग का, देश की राजधानी से जुड़े इन मुद्दों...

बारादरी- प्रधानमंत्री पद पर पुनर्विचार करे संघ

वरिष्ठ पत्रकार और विचारक वेद प्रताप वैदिक के अनुसार यह कहना कि पाकिस्तान प्रधानमंत्री के गृह प्रदेश के चुनाव को प्रभावित कर सकता है,...

बारादरी- आत्महंता हो रहे हैं साहित्यकार

प्रतिष्ठित कथाकार चित्रा मुद्गल का मानना है कि गुटबंदी ने साहित्यकारों को आत्महंता बना दिया है। कुछ आलोचकों ने मान रखा है कि अगर...

बारादरी- मोदी ने देश में भरोसे का माहौल बनाया

हरियाणा की राजनीति के प्रमुख चेहरा और फरीदाबाद से सांसद गुर्जर मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर को पूरे नंबर देते हुए कहते हैं कि उन्होंने ‘एक...

जनसत्ता बारादरी: जड़ों की ओर लौटना होगा

आगामी नवंबर में आम आदमी पार्टी अपनी स्थापना के पांच साल पूरे कर लेगी। इस दौरान वैकल्पिक राजनीति की उम्मीद बनी इस पार्टी ने...

बारादरी- मेरा एक भी कदम भगवाकरण की ओर नहीं

केंद्र में भाजपा की सरकार आने के बाद संस्कृति पर छिड़ी बहस आज भी जारी है। संस्कृति के भगवाकरण के आरोप शुरू हुए, जो...

बारादरी: शरद यादव बोले- विपक्ष में बिखराव कोई नई बात नहीं

सत्ता पक्ष इस बात को भुनाने की कोशिश कर रहा है कि विपक्ष है ही नहीं, जबकि हकीकत यह है कि विपक्ष हमेशा बिखरा...

बारादरी: केदारनाथ सिंह- कविता से क्रांति नहीं आती

नरेंद्र मोदी पर जो लिखा जाएगा, उसे साहित्य नहीं मानूंगा मैं।

जनसत्ता बारादरी: विपक्ष को अपनी मर्यादा खुद सीखनी होगी

पार्टी को जनादेश मिलने का गलत अर्थ लगाया जाने लगा है और उसमें एक तरह की तानाशाही आ गई है। वह कांग्रेस मुक्त भारत...

जीएसटी पर सिर्फ भाषण देकर चले जाते थे चिदंबरम: सुशील मोदी

जीएसटी की अवधारणा तो कांग्रेस की ही देन थी लेकिन वह इसे लेकर न तो ज्यादा ऊर्जावान थी और न ही सक्रिय। जीएसटी...