ताज़ा खबर
 

योगेंद्रनाथ मिश्र के सभी पोस्ट

चंद्रबिंदु, बिंदी और नुक्ता

भाषा का उपयोग हम दो रूपों में करते हैं- बोल और लिख कर। वैसे भाषाविज्ञान ऐसे भेद नहीं मानता।

भाषा : व्याकरण लेखन की समस्या

हिंदी व्याकरण की अनेक पुस्तकें लिखी गर्इं और आज भी लिखी जा रही हैं। पर सभी पुस्तकें तरह-तरह की असंगतियों और भ्रांत धारणाओं से...