ताज़ा खबर
 

शादाब आलम

शादाब आलम के सभी पोस्ट 5 Articles

नन्ही दुनिया: कविता और शब्द-भेद

कुछ शब्द एक जैसे लगते हैं। इस तरह उन्हें लिखने में अक्सर गड़बड़ी हो जाती है। इससे बचने के लिए आइए उनके अर्थ जानते...

नन्ही दुनिया: कविता और शब्द भेद

पढ़ें आज की कवित और शब्द-भेद।

नन्ही दुनिया: कविता और दिमागी कसरत

नीचे कुछ पहेलियां और सवाल दिए गए हैं। उन्हें बूझो और बताओ। न समझ आए, तो जरा सिर घुमाओ और नीचे दिए उत्तर देख...

नन्ही दुनिया : गीत – गरमी

गरमी में कपड़ों की हालत छी-छी-छी। मौसम ने तो खोल रखी है उमस भरी संदूकें।

नन्ही दुनिया : गीत – जादू का पेड़

काश! कहीं से जादू पाऊं, फिर जादू का पेड़ लगाऊं, गरमी जब महसूस करूं मैं, पत्तों को वह खूब हिला दे