ताज़ा खबर
 

संजीव पांडेय के सभी पोस्ट

राजनीतिः नक्सल समस्या की जड़ें

अशांत क्षेत्र के नाम पर विकास के लिए खूब पैसा आता है। लेकिन पैसा लोगों के बीच विकास के लिए नहीं पहुंचता। इसका पहले...

संजीव पांडेय का लेख : आतंकवाद की नई चुनौती

अभी तक अफ्रीका से लेकर एशिया तक गरीब घरों के लड़कों को आतंक फैलाने के लिए आतंकी संगठन भेजते रहे। अफगान तालिबान के साथ...

राजनीतिः नकल के सहारे अकल का आकलन

यह कहना गलत होगा कि बिहार की शिक्षा-व्यवस्था आज ही नष्ट हुई है। 1980 तक बिहार की स्कूली शिक्षा बहुत उच्च स्तर की थी।...

किनके निशाने पर हैं पत्रकार

अगर 2016 के पहले चार महीनों के आंकड़ों को देखें तो भारत में पत्रकारों की सुरक्षा की स्थिति पाकिस्तान और बांग्लादेश से भी खराब...

राजनीतिः दो पाटन के बीच

पत्रकार दोहरे दबाव के शिकार हैं। पुलिस की खबर लिखने पर नक्सली उन्हें पुलिस का एजेंट बताते है। पत्रकार सार्इं रेड््डी और नेमि जैन...

नशे की खेती में आतंक की फसल

भारत के लिए नारको आतंकवाद एक बड़ा खतरा है। अगर भारत में ही अफीम की खेती के मौके सुलभ होंगे तो आने वाले...

राजनीतिः इस्लामिक स्टेट और भारत

भारत में इस्लामिक स्टेट के जिस ढांचे का खुलासा अब तक जांच एजेंसियों ने किया है, उसमें कई पढ़े-लिखे युवक भी शामिल हैं। यह...

पठानकोट हमले का सच

पठानकोट वायुसेना अड्डे पर हमला दो कारणों से काफी गंभीर है। पहला कारण यह है कि जम्मू-कश्मीर से बाहर किसी सैन्य प्रतिष्ठान पर पहला...