प्रमोद भार्गव

प्रमोद भार्गव के सभी पोस्ट

31 Articles

मुद्दा: गरीबी का पैमाना

भले भारत के दुनिया में सबसे तेज बढ़ती अर्थव्यवस्था होने का दावा किया जाता हो, पर जब तक सबसे गरीब और कमजोर व्यक्तियों के...

राजनीति: जनगणना से जुड़े बुनियादी सवाल

जरूरी है कि जनगणना की प्रक्रिया के वर्तमान स्वरूप को बदला जाए, जिससे गिनती में निरंतरता बनी रहे। इसके लिए न भारी भरकम संस्थागत...

राजनीति: तेल रिसाव और बिगड़ता पर्यावरण

एक अनुमान के मुताबिक दो सौ खरब रुपए की पर्यावरणीय क्षति अकेले पेट्रोलियम पदार्थों के इस्तेमाल के कारण उठानी पड़ रही है। इस वजह...

राजनीति: आसान नहीं है कोरोना टीके की डगर

दुनिया की दवा निर्माता कंपनियों के पास धन की कोई कमी नहीं है। लेकिन नए रोगाणुओं की नई दवा या टीका बनाने की खोज...

coronavirus disease , covid19

राजनीति: चुनौती बनते विषाणु

बीते सात दशकों में प्रत्येक दशक में नई बीमारियों की संख्या तीन गुना बढ़ी है। हालांकि चिकित्सा विज्ञानी लगातार रोगाणुओं की पहचान कर उन्हें...

राजनीति: दूध उत्पादकों की चुनौतियां

यदि अमेरिकी हितों को ध्यान में रखते हुए डेयरी उत्पादों के निर्यात की छूट दे दी गई तो भारतीय डेयरी उत्पादक अमेरिकी किसानों से...

रविवारीः अंतरिक्ष की पुकार

आकाशवाणी का मिथ और रहस्य नया नहीं है। अगर कुछ नया है तो इसके साथ वैज्ञानिक मुठभेड़। यह मुठभेड़ अब एक वैज्ञानिक रोमांच में...

क्वांटम कंप्यूटर का युग

भविष्य का यह कंप्यूटर तीन से चार मीटर ऊंचे और डेढ़ मीटर व्यास वाले एक बड़े सिलेंडर जैसा नजर आएगा। इसका बाहरी आवरण किसी...

राजनीतिः बचाना होगा हिमखंडों को

बढ़ते तापमान को रोकना आसान काम नहीं है, बावजूद इसके हम अपने हिमखंडों को टूटने और पिघलने से बचाने के उपाय औद्योगिक गतिविधियों को...

संपादकीय: खतरे में गंगा

गंगा के निर्मलीकरण की महत्त्वाकांक्षी योजनाएं अब तक थोथी ही साबित हुई हैं। लिहाजा, गंगा-यमुना के प्रदूषण से जुड़ी खबरें अब झकझोरती नहीं हैं।...

मानसून के अनुमान का संकट

पिछले दस साल के आंकड़ों में एक भी साल भविष्यवाणी सटीक नहीं बैठी। इसलिए मौसम विभाग के अनुमान भी भरोसे के लायक नहीं होते।...

राजनीति: लोकपाल और चुनौतियां

भ्रष्टाचार की व्यापकता और उसकी स्वीकार्यता जिस अनुपात में समाज में व्याप्त हो चुकी है, उसका निर्मूलन इस अकेले कानून से संभव नहीं है।...

उच्च अदालतें और हिंदी

देश की सभी निचली अदालतों में संपूर्ण कामकाज हिंदी व अन्य भारतीय भाषाओं में होता है, किंतु उच्च न्यायालयों और उच्चतम न्यायालय में यही...

राजनीति: सोना उगलता ई-कचरा

भारत में ई-कचरे के पुनर्चक्रण के संयंत्र दिल्ली, मेरठ, बंगलुरु, मुंबई, चेन्नई और फिरोजाबाद में लगे हुए हैं। लेकिन जिस अनुपात में ई-कचरा पर्यावरणीय...

जीएम फसलों से उपजे सवाल

भारत के कृषि मंत्रालय की स्थायी संसदीय समिति की रिपोर्ट ने भी 2009 में खुलासा किया था कि इन बीजों से उपजाई गई फसलें...

राजनीति: बांध सुरक्षा की पहल

यह विधेयक अस्तित्व में आ जाता है तो वर्तमान में मौजूद सलाहकार निकाय के रूप में उपलब्ध केंद्रीय बांध सुरक्षा संगठन (सीडीएसओ) और राज्य...

जीन संपादन से क्लोन निर्माण

जीन विलीन करने की तकनीकों की मदद से पहले भी दो चुहियों से एक संतान पैदा की गई थी, लेकिन उसमें कुछ कमियां रह...

संरचना में सेंध

अभी तक यही माना जाता रहा है कि मानव के डीएनए में बदलाव संभव नहीं है। जीन के सूत्र सदा अपरिवर्तित रहते हैं। पर...

ये पढ़ा क्या?
X