पी. चिदंबरम

पी. चिदंबरम के सभी पोस्ट 231 Articles

दूसरी नजर: स्वतंत्रता का कानून से बचाव

भारत में हिरासत में होने वाली कथित यातनाओं के मामलों में जयराज और फेनिक्स का मामला कोई पहला नहीं है। 1996 में सुप्रीम कोर्ट...

market, finance, poor condition

दूसरी नजर: कहीं नजर आती है उम्मीद की किरण?

यात्रा, पर्यटन, एअरलाइन, बस परिवहन, मेजबानी, होटल उद्योग, उपभोक्ता वस्तुएं, निर्माण, निर्यात आदि सबकी हालत खराब है। इनमें से कइयों को तो करोड़ों रुपए...

दूसरी नजर: मौत का नाच

सन 1962 के युद्ध के बाद से ही भारत-चीन सीमा या वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर इस तरह का उबाल-सा बना हुआ है। लेकिन...

india china tension, chines trade

दूसरी नजर: चीन की चुनौती

अगर चीन यह समझ रहा है कि 1962 के मुकाबले वह 2020 में सैन्य रूप से कहीं ज्यादा मजबूत है तो वह यह भी...

दूसरी नजर: मुश्किल नहीं वृद्धि की डगर

बीस लाख करोड़ रुपए का आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज मोदी के दिमाग की उपज था। और अधिक तरलता, बड़ी-बड़ी पांच साला योजनाओं और थोड़े से...

दूसरी नजर: पहरेदार से उम्मीद

सुप्रीम कोर्ट के एक प्रहरी होने की भूमिका बार-बार कसौटी पर कसी जाती रहेगी। अदालत को अपने कर्तव्य से पीछे नहीं हटना चाहिए, कभी...

nirmala

दूसरी नजर: खर्च, उधारी और मौद्रीकरण

हमने लगातार सात तिमाहियों में जीडीपी वृद्धि दर में गिरावट देखी थी। यह अप्रत्याशित थी। 11 मार्च को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोविड-19...

nirmala sitharaman press conference, nirmala sitharaman press conference, nirmala sitharaman economic package, nirmala sitharaman economic package announcement, nirmala sitharaman press conference updates, nirmala sitharaman press conference updates, nirmala sitharaman press conference today, nirmala sitharaman press meet today, economic package, economic package details, india economic package

दूसरी नजर: बीस लाख करोड़ का नया जुमला

मैं आपको साफ-साफ बताता हूं कि अगर अतिरिक्त उधारी नहीं होती है, तो अतिरिक्त खर्च भी नहीं हो सकता और तार्किक रूप से राजकोषीय...

coronavirus Lockdown

जनसत्ता दूसरी नजर: तीसरी पूर्णबंदी के बाद भी क्या और?

चिकित्सा और स्वास्थ्य विशेषज्ञों को पता चल गया था कि संक्रमण की शृंखला इक्कीस दिन में नहीं टूटेगी। इसलिए उन्होंने पूर्णबंदी को बढ़ाने के...

home quarantine

जनसत्ता दूसरी नजर: कल्पना ही सब कुछ है

कोविड-19 और इसके सामाजिक तथा आर्थिक परिणामों के खिलाफ जंग का नेतृत्व केंद्र और राज्य सरकारें कर रही हैं। हम लोग महज अनुयायी हैं।...

दूसरी नजर: जमाखोर सरकार, भूखे मरते लोग

खाद्यान्न का वितरण लोगों के अलग-अलग वर्गों के वर्गीकरण और वितरण की जटिल व्यवस्था पर आधारित है, जिसमें गरीबी रेखा से ऊपर (एपीएल), गरीबी...

CoronaVirus

दूसरी नजर: बचे रहने और नए जीवन की चुनौती

कोरोना विषाणु की चुनौती मानव जाति के दर्ज इतिहास में पहले कभी नहीं देखी गई। निश्चित रूप से इतिहास में ऐसा कुछ भी देखने...

दूसरी नजर: गरीब को मिले नगदी

राज्य सरकारों की ओर से उन्हें कुछ नगदी मुहैया कराए जाने के बावजूद ज्यादातर गरीबों के सामने आजीविका का कोई साधन नहीं है। हमें...

दूसरी नजर: अब हर कोई कैद में है

नए विषाणु से होने वाली संक्रमित बीमारी को डब्लयूएचओ ने कोविड-19 नाम दिया है। इसका सबसे पहले पता चीनी डाक्टर ली वेनलियांग ने पिछले...

दूसरी नजर: डरते-डरते जो भी किया, उसका स्वागत

यह खेदजनक है कि 30 जनवरी को जब कोरोना के पहले मामले की पुष्टि हुई थी, तब से तैयारी नहीं करना मोदी सरकार की...

Uber cabs restart operations in 25 cities, Uber cabs restart service in 25 cities, cab in green zone, cab service in orange zone, cab servive in red zone, Cab serive available in which zone, Coronavirus lockdown 3.0

दूसरी नजर: कोविड 19 से मुकाबला और उसके आगे

मेरा फर्ज है प्रधानमंत्री का समर्थन करना और मैं ऐसा करूंगा। असल में, उन्होंने लोगों से दुश्मन का मुकाबला नैतिक हथियारों से करने को...

RBI

दूसरी नजर: बैंकिंग नहीं, डकैती

लोगों और संसद को इस बात की मांग करनी चाहिए कि कर्जखोरों के नाम (खासतौर से बड़े कर्जखोर) उजागर किए जाएं और जिन लोगों...

Corona Virus, India, News

दूसरी नजर: आपदा से बचाव

अब जबकि इस वक्त इससे आतंकित होने की कोई वजह नहीं है, चिंता और निराशा का कारण है। हफ्तों पहले संवाद और पीड़ित लोगों...