कुलीना कुमारी

कुलीना कुमारी के सभी पोस्ट 13 Articles

जनसत्ता विशेष समाज: सहना नहीं लड़ना होगा

हालिया प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, 71 फीसद से अधिक बुजुर्ग अपने ही पारिवारिक सदस्यों की प्रताड़ना के शिकार होते हैं। गंभीर सवाल यह...

दुनिया मेरे आगेः बराबरी की राह में

किसी भी क्षेत्र का विकास वहां का वातावरण, जमीन की उर्वरा-शक्ति, लोगों का जीवन स्तर, जनसंख्या का अनुपात, रोजगार की उपलब्धता और कार्य करने...

elderly parents, old age home, old age parents, son, income of children, social issues, women empowerment, women, national news in hindi, international news in hindi, political news in hindi, economy, india news in hindi, world news in hindi, jansatta editorial, jansatta article, hindi news, jansatta

समाजः हाशिए पर बुजुर्ग

यह एक आम रिवायत है कि महिलाएं शादी के बाद मां बन कर रह जाती हैं। बड़ी संख्या में महिलाओं की हस्ती उसी रूप...

SOCIAL MEDIA

दूनिया मेरे आगे: प्रेम की राह में

सोशल मीडिया और इंटरनेट ने जहां संवाद की गति को तीव्र किया है, वहीं चेहरे छिपाने की भी सुविधा दे दी है। इन माध्यमों...

bent penis, cancer, living healthy, health, Peyronies disease, men with a bent penis, bent penis and cancer risk, Cancer risk, bent penis disadvantages, how bent penis have risk of cancer, research in hindi, lifestyle news in hindi, heath news in hindi, jansatta

किशोर दुनिया के तकाजे

उम्र में होने वाला एक बड़ा परिवर्तन यह होता है कि मन के भीतर विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण पनपने लगता है। संपर्क होने...

किस दिवस का कितना महत्त्व- मित्रता दिवस, रक्षा बंधन और स्वतंत्रता दिवस

अगर इसकी अलग-अलग व्याख्या न कर सामान्य रूप से कहें तो मनुष्य को अपनी जड़ से लगाव और रक्षा बंधन के रूप में अपने...

आधी आबादी-कुरीति और कुचक्र

मार्च को महिलाओं के लिए खास माना जाता है, क्योंकि इसी में ‘महिला दिवस’ पड़ता है।

मुद्दा: बाल दिवस की जरूरत

माता-पिता को अपने बच्चों को वे सब चीजें भी सिखानी चाहिए जो भविष्य में उनके जीवन के लिए उपयोगी हो।

भाषा- कब तक होगी प्रतीक्षा

हम हिंदुस्तानी अच्छे से जानते हैं कि जितना सहज हम हिंदी या अपने देशी भाषा में होते हैं, उतनी अन्य किसी भाषा में नहीं।

women, journalism, kuleena kumari, article, aadhi aabadi, column, jansatta, ravivari

‘आधी आबादी’ कॉलम में कुलीना कुमारी का लेख : लेखन में महिलाएं

ये सब बातें अपनी जगह हैं, मगर बदलते समय के साथ न केवल महिलाओं के कार्यक्षेत्र बढ़ रहे हैं बल्कि पुरुष भी बदल रहे...

Women, Manusmriti, Women in Manusmriti

विषमता की रूढ़ियां

मनुस्मृति व कुछ पौराणिक ग्रंथों में स्पष्ट रूप से महिलाओं को दोयम दर्जे का बताया गया है; उन पर विभिन्न रूपों में जुल्म व...

Unlike law, Jansatta article, jansatta opinion, jansatta ravivari

मुद्दाः कानून के उलट

अगर महिला की प्रगति चाहिए तो संस्कार के नाम पर, जो सदियों से लड़कियों को कमजोर बनाए रहने का ढोंग चल रहा है, उसे...

Pratyusha Banerjee, Pratyusha Banerjee Suicide, Mumbai, Pratyusha Banerjee News, Pratyusha Banerjee latest news, Mumbai

खुद से हारे तो खुदकुशी

आत्महत्या की प्रवृत्ति किस कदर बढ़ रही है, इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो ने 2014 में हर...