ताज़ा खबर
 

चंद्र त्रिखा के सभी पोस्ट

इतिहासः बंटवारे की लकीर

वे हादसों के दिन थे। कमोबेश हर घटना हादसों की मानिंद घट रही थी। चारों तरफ विसंगतियां, विरोधाभास भरे पड़े थे। यह एक ऐतिहासिक...

अमन का अलख जगाता कवि

लाहौर के पंजाबी शायर उस्ताद दामन ने, आम आदमी के बीच जो जगह बनाई थी, उसकी कोई दूसरी मिसाल नहीं मिलती। दशकों तक यह...

रूमानियत और बगावत का शायर

फैज़ अहमद फ़ैज़ संभवत: भारतीय उपमहाद्वीप के ऐसे दूसरे शायर थे, जिनका नाम नोबेल पुरस्कार के लिए नामित हुआ था। यह अलग बात है...

संस्कृति: टूटना एक साझे पुल का

भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्तों में तनाव के बावजूद जो शख्सियत एक साझे पुल का काम कर रही थी, उसने भी कुछ दिनों...

स्मरण: वह एक फक्कड़ कवि

शायद अपने समय का वे एकमात्र ऐसे कवि थे, जिन्हें प्रबुद्ध और बौद्धिक जनों का भी भरपूर स्नेह मिला और सामान्य कविता-पाठक का प्यार...

संस्कृति- प्रासंगिक अमृता

पाकिस्तान में पच्चीस जनवरी से अमृता प्रीतम की बहुचर्चित कृति ‘पिंजर’ पर एक धारावाहिक का प्रसारण होने जा रहा है।

दस्तावेज: एक पुरानी प्रेम कहानी

अलार्ड सेंट ट्रोपेज में ही समुद्र के किनारे एक विशाल ‘एस्टेट’ खरीदा थी, जहां बाद में पान देई ने अलार्ड के स्मृति चिह्न और...

‘स्मृतिशेष’ कॉलम में चंद्र त्रिखा का लेख : जिंदगी को रंदा लगाता कथा-शिल्पी

यह संभव नहीं लगता कि कोई कृतिकार अपनी एक ही कृति के माध्यम से महाभारत काल और पौराणिक युग के मिथकों, गुरवाणी और सूफीवाद...

यादः एक गुमशुदा कलमकार

यह अविश्वसनीय लगता है, पर तथ्य है। किसी एक नाटक को देश में चार हजार बार खेला गया। यह सिलसिला जारी है।

राखीगढ़ी : एक सभ्यता की संभावना

विलुप्त सरस्वती नदी के किनारों पर ही स्थित था यह शहर राखीगढ़ी। पुरातत्त्वविदों का मानना है कि हड़प्पा सभ्यता का प्रारंभ इसी राखीगढ़ी से...