ताज़ा खबर
 

चैतन्य नागर के सभी पोस्ट

दुनिया मेरे आगे: प्रतिभा का पाठ

यह समझना आवश्यक है कि हम, शिक्षक और अभिभावक, भी बच्चे के साथ-साथ सीख सकते हैं और दोनों ही जीवन की गुत्थियां सुलझाते हुए...

दुनिया मेरे आगे: ‘मैं’ की बुनावट

मैं को अक्सर अहंकार का पर्याय भी माना जाता है। यह चतुर होता है और सूक्ष्म भी। इसकी तुलना अक्सर तिलचट्टे के साथ की...

दुनिया मेरे आगे: छवियों के संबंध

माजशास्त्री मकाइवर और चार्ल्स पेज ने समाज को संबंधों के संजाल के रूप में परिभाषित किया है। समूचा जीवन ही संबंधों के दायरे में...

दुनिया मेरे आगे: सोच-विचार के गलियारे

सजगता की बिल्ली चौकन्नी होकर बैठी रहे तो विचार का चूहा बिल से ही नहीं निकलता।

प्रसंग- रचेगा सो बचेगा

हर रचनाकार अपनी रचनात्मकता के स्रोत तक जाने की कोशिश करता होगा? यह सवाल हर विधा में काम कर रहे रचनाकारों के लिए है।

दुनिया मेरे आगे: बदलाव की परतें

मेरे एक वरिष्ठ मित्र 1960 के दशक में मास्को गए थे। वहां की बसों में लोगों को खुद से टिकट लेकर बस में बैठते...

दुनिया मेरे आगेः प्रकृति के साथ

मित्रता के भाव के लिए बुद्ध ने ‘मेत्ता’ शब्द का प्रयोग किया। उन्होंने हमेशा अपने शिष्यों से कहा कि वे सभी जीवधारियों के प्रति...

दुनिया मेरे आगेः क्रूरता की कड़ियां

एक दिन अचानक सबका प्यारा ‘नीलू’ लंगड़ाता हुआ दिखा। वह ठीक से कुछ कदम भी नहीं चल पा रहा था।

दुनिया मेरे आगेः सुनने के दस्तूर

सुनना सचमुच एक कला है। किसी खास व्यक्ति को सुनना नहीं, बस सुनना। परिंदों के गीत को, किसी की तकलीफ, पहाड़ों के मौन या...

दुनिया मेरे आगे : समाज का पहिया

मां एक इंसान ही है, जैसे कि पिता। उसकी भी अपनी मजबूरियां, अपने दबाव हैं, संस्कार और असुरक्षा हैं। सामाजिक-आर्थिक परिस्थितियों की वजह से...

परवरिश का परिवेश

यह विडंबना है कि अधिकतर मामलों में स्कूल और खुशी का कोई रिश्ता ही नहीं। ‘कैसा रहा स्कूल’, इस सवाल के जवाब में छिपी...

आभासी दुनिया के लोग

अब आभासी दुनिया में विचरण करने वाले बच्चे हैं। कायदे के खाते-पीते घरों में कंचे खेलने वाले, धूल से लिपटे, कीचड़-पानी में सने बच्चे...

मूक सहचरों की परवाह

यह बेहद अफसोस की बात है कि जल्लीकट्टू को फिर से इजाजत दिए जाने की अधिसूचना केंद्र में बैठी भाजपा सरकार ने जारी की।...

पहाड़-सा दुख

दुख हर इंसान की शिराओं में बहता है, रग-रेशे में सुलगता रहता है। पर इसकी आंखों में झांकने से भी डर लगता है। जितना...