अनीता सहरावत

अनीता सहरावत के सभी पोस्ट

11 Articles

सोच की सीमाएं

उम्र बढ़ने के साथ बड़ा होना महज एक शारीरिक बदलाव नहीं है, बल्कि यह कई तरह के अनुभव अपने साथ लेकर आता है। इसलिए...

चलो घूमने गांव चलें, भारतीय पर्यटन का आकार और राज्यों में ग्रामीण पर्यटन

भारत में पर्यटन उद्योग तेजी से फैल रहा है। अब इसकी सीमा सिर्फ पहाड़ों, ऐतिहासिक स्थलों और तीर्थस्थलों तक सीमित नहीं रह गई है।...

जब मेहमान बन कर जाएं

लोगों से मिलना-जुलना, दावत खाना हर किसी को अच्छा लगता है। मगर जब हम किसी के घर मेहमान बन कर जाते हैं, खासकर दावत...

ग्लोइंग स्किन पाने के लिए अपनाएं ये असरदार टिप्स और सर्दी में रहें खिली खिली

सर्दी का मौसम पहनने-ओढ़ने, खाने-पीने, सैर-सपाटे के लिहाज से बहुत आनंददायक होता है। मैदानी इलाकों में लोग इस मौसम का इंतजार करते हैं कि...

सजने के साजो-सामान: स्कार्फ, जूते-चप्पल और घड़ी से लेकर ज्वेलरी तक

अच्छे कपड़े पहनना, सज-संवर कर निकलना किसे नहीं अच्छा लगता। सलीके से कपड़े पहने और चीजों की साज-संभाल रखने वाले लोग दूसरों को भी...

सहज, सदाबहार स्कर्ट

फैशन का मिजाज बदलता रहता है। कभी बिल्कुल नए अंदाज में आता है, तो कभी किसी पुराने चलन को नया आयाम देता हुआ। ऐसे...

बरसात में बगीचे की देखभाल

बरसात का मौसम अपने साथ हरियाली लेकर आता है। इस मौसम में नमी और उमस लगातार बनी रहती है, जो पेड़-पौधों की बढ़वार और...

घर में सबसे खास होना चाहिए बच्चों का कमरा, जानिए कैसे करें तैयार

हर कोई चाहता है कि उसका घर साफ-सुथरा और सजा हुआ हो। अपनी क्षमता के अनुसार हर कोई घर सजाता भी है। पर आमतौर...

सजावट में बांस की बुनावट

घर की सजावट के लिए लोग तरह-तरह की चीजें आजमाते रहते हैं। खासकर बैठक की सजावट के लिए लकड़ी और बेंत से बनी वस्तुएं...

जब मेहमान घर आएं

मेहमानों के आने पर किस गरमजोशी के साथ स्वागत करना चाहिए, किस तरह उनकी सुविधाओं का खयाल रखना चाहिए, उनकी रुचि और सुविधा-असुविधा का...

मुद्दा : रोजगार का चुग्गा फेंकते संगठन

आज के जमाने में रोजगार के बिना रोटी का जुगाड़ संभव नहीं है। खेती घाटे का सौदा साबित हो रही है। परंपरागत पेशे खत्म...

ये पढ़ा क्या?
X