ताज़ा खबर
 

सियासी किस्साः सेंगर के आगे क्यों सियासत है सरेंडर?

Episode 22
सियासी किस्साः सेंगर के आगे क्यों सियासत है सरेंडर?

आजादी के बाद से ही गांव की राजनीति पर सेंगर परिवार का कब्जा रहा था। कुलदीप को राजनीति अपने नाना बाबू सिंह से विरासत में मिली थी। बाबू सिंह ने राजनीति के जो बीज बोए थे उस कुलदीप सिंह ने बरगद जैसा विशाल बना दिया। पिछले करीब 60 सालों से गांव की राजनीति में सेंगर परिवार का ही कब्जा है। ग्राम प्रधान कौन होगा, ये तय सेंगर परिवार ही करता है। आलम ये है कि सेंगर की मर्जी के बिना कोई पर्चा तक नहीं भर सकता।


चुनावी चैलेंज
X