ताज़ा खबर
 

The DSC Prize for South Asian Literature: 25 हजार डॉलर के इस पुरस्‍कार के लिए इन छह लेखकों में मुकाबला

The DSC Prize for South Asian Literature के लिए अंतिम रूप से छह लेखकों में मुकाबला होगा। इनके नाम का ऐलान 14 नवंबर को लंदन स्‍कूल ऑफ इकोनॉमिक्‍स एंड पॉलिटिकल साइंस, लंदन में किया गया।

इन पुरस्‍कार के लिए होगा मुकाबला

The DSC Prize for South Asian Literature के लिए अंतिम रूप से छह लेखकों में मुकाबला होगा। इनके नाम का ऐलान 14 नवंबर को लंदन स्‍कूल ऑफ इकोनॉमिक्‍स एंड पॉलिटिकल साइंस, लंदन में किया गया। इनका चयन अंतरराष्‍ट्रीय जूरी द्वारा किया गया। अब इनमें से अंतिम विजेता चुना जाएगा। विजेता का ऐलान 22 से 27 जनवरी (2019) के बीच चलने वाले टाटा स्‍टील कोलकाता लिटरैरी मीट में किया जाएगा। यह पुरस्‍कार 25 हजार अमेरिकी डॉलर का है। इसे 2010 में सुरीना नरूला और मनहद नरूला द्वारा शुरू किया गया था।

पुरस्‍कार के लिए इनमें होगा मुकाबला:

1. जयंत कैकिनी: नो प्रेजेंट्स प्‍लीज (तेजस्‍विनी निरंजना द्वारा अनूदित, हार्पर पेरेनियल, हार्पर कॉलिन्‍स, भारत)

2. कैमिला शमशी: होम फायर (रिवरहेड बुक्‍स, यूएसए और ब्‍लूम्‍सबरी, यूके)

3. मनु जोसेफ: मिस लैला आर्म्‍ड एंड डैंजनरस (फोर्थ एस्‍टेट, हार्पर कॉलिन्‍स, इंडिया)

4. मोहसिन हामिद: एग्‍जिट वेस्‍ट (रिवरहेड बुक्‍स, यूएसए और हेमिश हेमिल्‍टन, पेंग्‍विन रैंडम हाउस, इंडिया)

5. नील मुखर्जी: ए स्‍टेट ऑफ फ्रीडम (चैटू एंड विंंडस, विंंटेज, यूके और हेमिश हेमिल्‍टन, पेंग्‍विन रैंडम हाउस, इंडिया)

6. सुजीत सर्राफ: हरिलाल एंड संस (स्‍पीकिंग टाइगर, इंडिया)

Next Stories
1 कविताः ‘स्त्रियों के होठों पर नहीं, उसकी पलकों के नीचे होता है प्रेम’
2 सबरंग- हमारी याद आएगी: नारायण की कल्पना, शंकर ने बदली हकीकत में
3 सबरंग विश्लेषण: दोहराव पर दांव
ये पढ़ा क्या?
X