ताज़ा खबर
 

कला और साहित्य

The DSC Prize for South Asian Literature: 25 हजार डॉलर के इस पुरस्‍कार के लिए इन छह लेखकों में मुकाबला

The DSC Prize for South Asian Literature के लिए अंतिम रूप से छह लेखकों में मुकाबला होगा। इनके नाम का ऐलान 14 नवंबर को...

सबरंग- हमारी याद आएगी: नारायण की कल्पना, शंकर ने बदली हकीकत में

सिनेमा की दुनिया में दक्षिण के दो शंकर मशहूर हैं। एक तो 55 साल के मैकेनिकल इंजीनियर शंकर षणमुगम, जिन्हें दर्शक अनिल कपूर की...

सबरंग विश्लेषण: दोहराव पर दांव

फिल्म ‘तलवार’ न सिर्फ देश-विदेश में सराही गई बल्कि उसे पारिवारिक दर्शकों का भी भरपूर साथ मिला जबकि मनीष गुप्ता की ‘रहस्य’ कब आई...

शख्सियतः मंटो ने जब बीस रुपए में बेची कहानी

सआदत हसन मंटो को भारतीय उपमहाद्वीप का महान उर्दू कहानीकार माना जाता है। उनकी कहानियां भारत-पाक विभाजन के दंश का प्रामाणिक दस्तावेज हैं।

प्रसंगवशः हिंदी की वैश्विक स्वीकार्यता

विश्व की व्यापारिक जरूरतों और अपनी आंतरिक शक्ति के बल पर हिंदी विश्वभाषा के रूप में अपनी स्पष्ट पहचान बनाएगी।

कहानीः अंतिम झूठ

मुरलीधर वैष्णव की कहानी

कविताएंः ‘बच गया’ और ‘ये तीसरे लोग’

दिविक रमेश की कविता

चर्चाः मिथक की चुनौतियां और हिंदी कविता

तमाम विधि निषेधों के बावजूद मिथक हर समर्थ हिंदी कवि को आकर्षित करते रहे हैं और उनकी चुनौतियों से निपटे बिना छुटकारा नहीं मिलता।...

चर्चाः कविता और मिथक – कविता में पुराकथा और जनमानस

आज अगर सूर और तुलसी जैसे कवि जन-जन के अपने कवि बने हुए हैं, तो कारण यही है कि पुराण चरित्रों को दार्शनिक आभा...

मलयाली लेखक बेन्यामिन को मिला साहित्य का पहला जेसीबी पुरस्कार

पहला जेसीबी पुरस्कार मलयाली लेखक बेन्यामिन को उनकी किताब ‘जैस्मिन डेज’ के लिए मिला है जो पश्चिम एशिया में रहने वाले दक्षिण एशियाई लोगों...

प्रसंगः हिंदी गजल की चुनौतियां

हिंदी गजल ने अपनी पांच दशक लंबी यात्रा पूरी कर ली है। उपेक्षा और विरोध का भाव होने के बावजूद हिंदी गजल आज भी...

किताबें मिलींः ‘कश्मीरनामा’, ‘रचना की जमीन’ और ‘वैदिक सनातन हिंदुत्व’

कश्मीर के इतिहास, भूगोल और समकाल की कथा सुनना जरूरी है, ताकि हम कश्मीर को सिर्फ ‘समस्या’ नहीं बल्कि एक ऐसी जगह के रूप...

प्रसंगः लघु पत्रिकाओं के समक्ष चुनौती

लघु पत्रिकाएं जब तक अपने रूप परिवर्तन पर ध्यान केंद्रित नहीं करेंगी तब तक वे इस युग में अस्तित्व की लड़ाई लड़ती रहेंगी।