ताज़ा खबर
 

vinod kambli

अर्जुन तेंदुलकर के शानदार प्रदर्शन से खुश विनोद कांबली, कहा- पहले बाप मैच जीतता था, अब बेटा भी

Triumphs Knights MNE, Mumbai Premier League 2019: आकाश टाइगर्स ने ट्रिम्फ नाइट्स को छह विकेट पर 147 रन पर रोका और तीन गेंद शेष रहते लक्ष्य हासिल कर दिया। नाइट्स की तरफ से सूर्यकुमार यादव ने नाबाद 90 रन बनाए।

1996 विश्व कप में विनोद कांबली को रोता देख फूट-फूट कर रोने लगे थे सुनील शेट्टी

सुनील शेट्टी स्कूली दिनों से ही क्रिकेट को लेकर बेहद पैशनेट थे। उनके स्कूल में एक दिन इंग्लैंड की एक स्कूली क्रिकेट टीम पहुंची थी। सुनील के स्कूल की क्रिकेट टीम मात्र 76 पर आउट हो गई थी और इंग्लैंड ने एक विकेट खोकर ये लक्ष्य हासिल कर लिया था। इंग्लैंड का ये एकमात्र विकेट भी सुनील शेट्टी ने ही लिया था।

Facts, indian cricketer Vinod Kambli Test match average is better than his childhood friend Sachin Tendulkar, indian cricketer Vinod Kambli Test match average , Vinod Kambli, Vinod Kambli and Sachin Tendulkar, indian cricketer, cricket, sports news, cricket Facts

फ्रेंडशिप डे पर सचिन को लेकर इमोशनल हुए कांबली, कहा- ‘ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे’

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर और विनोद कांबली की दोस्ती भी शुरुआती दिनों में काफी सुर्खियां बटोरने में कामयाब रही थी। स्कूली दिनों से ही सचिन और कांबली एक-दूसरे के अच्छे दोस्त थे, भारतीय टीम में आने के बाद इनकी दोस्ती और गहरी होती चली गई। दोनों ने मिलकर भारत के लिए कई यादगार पारी साथ ही खेला है।

विनोद कांबली की पत्नी ने मशहूर सिंगर के पिता को मारा पंच, देखें वीडियो

बॉलीवुड सिंगर अंकित तिवारी के पिता आर.के. तिवारी ने बांगुर नगर पुलिस थाने में विनोद और उनकी पत्नी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। आर.के. तिवारी ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि एंड्रिया ने मॉल में उन्हें पंच मारा। हालांकि इस पूरे वाकये का वीडियो भी सामने आ गया है, जिसमें एंड्रिया आर.के. तिवारी के पंच जड़ती नजर आ रही हैं।

बिना शादी किए पिता बना गया था ये भारतीय क्रिकेटर…

इस खिलाड़ी ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान विनोद कांबली ने 17 टेस्ट मैचों की 21 पारियों में 54.20 के औसत से कुल 1084 बनाए।

Kapil Dev, Sachin Tendulkar, vinod kambli, Cricket

तेंदुलकर की तुलना में विनोद कांबली अधिक प्रतिभावान था लेकिन…

कपिल देव ने कहा, ‘‘प्रतिभा एक चीज है, लेकिन खिलाड़ी को इससे अधिक की जरूरत है। मित्रों, माता पिता, भाई, बहन, स्कूल का समर्थन जरूरी है।’’