UP police

1993 बम धमाकों का दोषी अबू सलेम के खास गुर्गे को यूपी पुलिस ने किया गिरफ्तार, उसके लिए करता था वसूली और प्रॉपर्टी में निवेश

यूपी पुलिस की एसटीएफ ने 1993 में मुंबई बम धमाकों के आरोपी अबू सलेम के खास गुर्गे गजेंद्र सिंह को बुधवार रात को गिरफ्तार किया। गजेंद्र सिंह अबू सलेम के पैसे को प्रॉपर्टी में निवेश करने का काम करता था।

चौपाल: मुठभेड़ का औचित्य

देश में कानून के शासन के अनुसार कार्य करना राज्य यानी सरकार की जिम्मेदारी है और इस पर नजर रखने की जिम्मदारी सुप्रीम कोर्ट को दी गई है। अगर जनता लोकतंत्र के बदले पुलिस तंत्र का समर्थन करती है, तब भविष्य में इसके दुष्परिणाम जनता को ही खुद सहना पड़ेगा।

‘मेरी नजरों के सामने बाइक से लाया गया था विकास दुबे, उतरते ही लगा भागने’, यूपी STF अफसर का दावा, एमपी पुलिस ने किया खारिज

मध्य प्रदेश पुलिस ने यूपी पुलिस के इस दावे को खारिज किया है और कहा है कि विकास दुबे को मोटकसाइकिल पर कहीं नहीं ले जाया गया और न ही उसने कभी भागने की कोशिश की थी।

रियल एस्टेट में था मोटा निवेश, हर महीने करता था 50 लाख की उगाही, विकास दुबे के साम्राज्य की ईडी करेगा जांच

ईडी ने 7 जुलाई को कानपुर पुलिस को आदेश दिया था कि वह विकास दुबे से जुड़ी संपत्तियों और आपराधिक मामलों की जानकारी एजेंसी को भिजवाएं।

‘विकास दुबे नहीं मरता तो 2022 में विधायक-मंत्री होता, यही पुलिसवाले उसके गार्ड होते’, वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान बोले

कमाल ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि अगर विकास दुबे मारा नहीं जाता तो 2022 में वह विधायक बन जाता और हम लोग उसके बंगले के गेट पर उसकी बाइट लेने खड़े होते।

BJP के दो विधायकों से थे विकास दुबे के संबंध, उसी की जुबानी कहता वीडियो सोशल मीडिया में वायरल, गैंगस्टर के साथ ही कई राज दफन

पुलिस ने शुक्रवार (10 जुलाई) को गैंगस्टर विकास दुबे को कानपुर के भौती के पास एनकाउंटर में ढेर कर दिया, उसकी मौत के साथ ही उसके नेताओं और पुलिसकर्मियों से रिश्तों के खुलासे अब राज ही बन कर रह गए हैं।

विकास दुबे से पहले योगी राज में 118 का हो चुका है एनकाउंटर, 74 में क्लीन चिट पा चुकी है पुलिस

एनकाउंटर के इन मामलों में से 74 केस की जांच पूरी हो चुकी है। जिनमें से सभी में पुलिस को क्लीन चिट मिल चुकी है। वहीं 61 केस में तो पुलिस ने क्लोजर रिपोर्ट भी दाखिल कर दी है, जिसे कोर्ट ने भी मंजूर कर लिया है।

Vikas Dubey Encounter: विकास दुबे की कार के सामने आ गया था भैंसों का झुंड! ड्राइवर ने बचाने को मोड़ी थी गाड़ी तो हुआ एक्सीडेंट- STF ने बताया पूरा वाकया

पुलिस ने बताया कि जिस गाड़ी में विकास दुबे बैठा था उसके सामने भैंसों का झुंड आ गया था जिसके बाद ड्राइवर ने बचाने के लिए गाड़ी मोड़ी जिससे गाड़ी अनियंत्रित होकर पलट गई। इस दौरान पुलिसकर्मी थके हुए थे। विकास ने मौका देखकर पुलिसकर्मी का हथियार छीनकर भागने की कोशिश की।

Vikas Dubey Shootout: पुलिस कब कर सकती है एनकाउंटर, क्या हैं NHRC और SC की गाइडलाइंस? जानें

पुलिस कस्टडी में एनकाउंटर कई सालों से विवाद का विषय रहे हैं। जिसके चलते साल 2010 में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने पुलिस एनकाउंटर्स को लेकर एक गाइडलाइंस जारी की थी।

‘गैंगस्टर का एनकाउंटर कर न्यायिक प्रक्रिया का मजाक उड़ाया गया है’, विकास दुबे की मुठभेड़ पर वरिष्ठ पत्रकारों ने उठाए सवाल

“गैंगस्टर का एनकाउंटर करके यूपी पुलिस ने न्यायिक प्रक्रिया का मजाक उड़ाया है। बदले के लिए हत्याएं माफिया करते हैं पुलिस नहीं। सबसे बुरा तो ये है कि ऐसा होने की आशंका पहसे से ही थी।”

विकास दुबे को फर्जी मुठभेड़ से बचाने के लिए आनन-फानन में देर शाम SC में दायर की गई थी PIL, सुबह हो गया ढेर

विकास दुबे को फर्जी मुठभेड़ से बचाने के लिए गुरुवार की शाम आनन-फानन में सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की गई थी। जिसकी सुनवाई आज होनी है। लेकिन सुनवाई से पहले ही दुबे का सुबह एनकाउंटर हो गया।

‘ये कार नहीं पलटी है, राज खुलने से सरकार पलटने से बचाई गयी है’, विकास दुबे के एनकाउंटर पर बोले अखिलेश यादव, प्रियंका गांधी ने भी उठाए सवाल

समाजवादी पार्टी नेता अखिलेश यादव और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पहले ही विकास दुबे मामले में राजनीतिक मिलीभगत की ओर इशार कर चुके हैं।

‘लंगड़ा घोड़ा सबको लपेटता तभी ठोक…’ विकास दुबे एनकाउंटर पर पूर्व IAS ने अनुराग कश्यप को दिया सुझाव; आ रहे ऐसे कमेंट

Vikas Dubey Encounter:पुलिस के मुताबिक विकास को उज्जैन से कानपुर लाया जा रहा था। इसी बीच काफिले की वो गाड़ी पलट गई, जिसमें विकास बैठा था। कहा जा..

विकास दुबे का पूरा गैंग आठ दिन में खत्म, 30 साल में थे 62 केस, थाने में मंत्री की हत्या कर भी बच गया था

पुलिस ने चौबेपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के अभियुक्त विकास दुबे को ढूंढने के दौरान सबसे पहले पिछले हफ्ते शुक्रवार को उसके मामा और चचेरे भाई को एनकाउंटर में मार गिराया था।

गाड़ी खराब हुई तो पिस्‍तौल छीन पुलिस पर फायर कर भागने लगा था विकास दुबे का गुर्गा प्रभात मिश्रा

जवाबी कार्रवाई में प्रभात को मार गिराया गया, लेकिन कहा जा रहा है कि पुलिस की मुस्तैदी कैसी है कि अपराधी उनका हथियार छीनकर उन पर ही फायरिंग कर दे रहे हैं। वह भी उस घटना के बाद जिसमें पुलिस को अपने आठ साथी गंवाने पड़े हैैं।

‘बहुत राज जानता है विकास दुबे, एनकाउंटर में हो जाएगा ढेर; राजदीप सरदेसाई ने किया था ट्वीट, गिरफ्तारी के बाद लोगों ने कर दिया ट्रोल

विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया पर इस बात को लेकर खूब चर्चा हो रही है कि विकास दुबे गिरफ्तार नहीं हुआ बल्कि उसने सुनियोजित रूप से सरेंडर किया है। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भोपाल में विकास दुबे की गिरफ्तारी की पुष्टि की।

‘मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला’, मीडिया वालों को देख चिल्ला उठा था विकास दुबे, कमर में हाथ डाल पुलिसवाले यूं ले गए अंदर

विकास ने चिल्लाया “‘मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला” इसपर एक पुलिसकर्मी ने उसे ज़ोर से एक चांटा मारा और तुरंत गाड़ी में बैठा दिया। यूपी पुलिस ट्रांजिट रिमांड की तैयारी कर रही है।

Kanpur Encounter: गैंगस्टर विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार, मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने की पुष्टि

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन से विकास दुबे की गिरफ्तारी पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की। मध्य प्रदेश पुलिस उसे उत्तर प्रदेश पुलिस को सौंपेगी।

ये पढ़ा क्या?
X