trupti desai

सबरीमला: तृप्ति देसाई 17 नवंबर को जाएंगी मंदिर, पीएम मोदी से मांगी सुरक्षा

तृप्ति ने कहा है, ‘‘हम सबरीमला मंदिर में दर्शन के बिना महाराष्ट्र नहीं लौटेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें सरकार पर विश्वास है कि वह हमें सुरक्षा मुहैया कराएगी।’’ उन्होंने कहा कि हमें सुरक्षा मुहैया कराने और मंदिर ले जाने की जिम्मेदारी राज्य सरकार और पुलिस की है।

हिरासत में ली गईं तृप्ति देसाई, मोदी से शिरडी में मुलाकात की कर रही थीं मांग

महिला अधिकार कार्यकर्ता तृप्ति देसाई का कहना है कि “विरोध प्रदर्शन करना उनका संवैधानिक अधिकार है, लेकिन हमें घर पर ही रोक दिया गया। यह मोदी जी द्वारा हमारी आवाज दबाने की कोशिश है।”

महाराष्ट्र: अब कपालेश्वर मंदिर में घुसी तृप्ति देसाई- कहा पुजारियों की दादागिरी नहीं चलेगी

तृप्ति ने मंदिर प्रवेश से पहले कहा कि मंदिर के पुजारियों की दादागिरी नहीं चलेगी।

हाजी अली दरगाह पहुंचीं तृप्ति देसाई, लिंगभेद समाप्त होने के लिए की इबादत

कड़ी पुलिस सुरक्षा के बीच हाजी अली दरगाह पहुंची भूमाता ब्रिगेड की शक्ति देसाई।

राजनीतिः समानता के अधिकार तहत

देवियों के मंदिर में तो गर्भगृह में स्त्री ही बैठी है, फिर उसका नाम चाहे जो हो। तब पुजारी, जो कि पुरुष हैं, इन्हें कैसे छूते हैं? क्या देवियों के मंदिरों में यह व्यवस्था महिलाओं के हाथ में नहीं होनी चाहिए? भूमाता ब्रिगेड की महिलाएं समानता के अधिकार के तहत केवल पूजा का अधिकार मांग रही थीं। इसमें किसी को भी आपत्ति नहीं होनी चाहिए।

शिवसेना नेता अराफात शेख ने कहा- अगर हाजी अली दरगाह में गईं तृप्ति देसार्इ तो चप्‍पलों से होगी पिटाई

शिवसेना ने अपने वरिष्‍ठ नेता हाजी अराफात शेख के उस बयान से खुद को अलग कर लिया है, जिसमें उन्‍होंने हाजी अली दरगाह में घुसने की कोशिश करने पर महिलाओं को चप्‍पल से पीटने की चेतावनी दी थी।

शनि शिंगणापुर मंदिर में 400 साल पुरानी परंपरा टूटी, महिलाओं को मिली घुसने की इजाजत

शनि शिंगणापुर मंदिर ट्रस्‍ट ने एलान किया कि वे गुडी पड़वा पर महिलाओं को मंदिर के अंदर दाखिल होने की मंजूरी देंगे।

शनि मंदिर के बाद भूमाता बिग्रेड पहुंची नासिक, त्रयम्बकेश्वर मंदिर में घुसने को लेकर घमासान

बिग्रेड की मुखिया तृप्ती देसाई इससे पहले 26 जनवरी को अहमदनगर स्थित शनि शिंगनापुर मंदिर में भी प्रवेश को लेकर बड़ा आंदोलन कर चुकी हैं।