Toilet

MP: ससुराल में टॉयलेट नहीं था तो मायके चली गई विवाहिता, पति लेने गया तो बोली- शौचालय बनवाओ, वरना दे दूंगी तलाक

भारत सरकार स्वच्छता अभियान चलाकर पूरे देश को खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) घोषित कर चुकी है। जिन घरों में टॉयलेट नहीं हैं, उन्हें शासन से मदद दिलाकर वहां टॉयलेट बनवाए जा रहे हैं। इसी विषय पर बनी अक्षय कुमार की एक फिल्म में भी स्वच्छता के लिए टॉयलेट बनवाने को प्रेरित किया गया।

पिता ने घर में नहीं बनवाया शौचालय तो शिकायत लेकर थाने पहुंची नाबालिग, पढ़ें ‘टॉयलेट गर्ल’ हनीफा की कहानी

टॉयलेट बनवाने की बात से जब हनीफा के पिता ने इनकार कर दिया तो उसने पिता की शिकायत थाने में जाकर कर दी। बताया जा रहा है कि जब इस बात की जब खबर पुलिस कमिश्नर को लगी तो वह भी हनीफा से मिलने के लिए उसके घर पहुंच गए।

दिहाड़ी मजदूर ने बकरी बेच और आभूषण गिरवी रखकर बनवाया शौचालय, दूसरों के लिए बना मिसाल

डूंगरपुर-रतनपुर मार्ग पर सड़क के किनारे एक झोपड़ी में रहने वाला कांति लाल रोत एक मिल में दिहाड़ी मजदूरी करता है।

अब खुले में शौच करने वालों की फोटो खींच कर शिक्षा विभाग को WhatsApp करेंगे टीचर

विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस आदेश के तहत शिक्षकों को प्रतिदिन व्हाट्सएप के जरिये वरिष्ठ अधिकारियों को रिपोर्ट और फोटो भेजने होेंगे।

रेलवे की जमीन को शौच मुक्त बनाने की तैयारी

केंद्र ने सभी राज्यों व संघ शासित प्रदेशों को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि रेलवे की जमीन को खुले में शौच से मुक्त किया जाए।

आधी आबादी : बढ़ाने होंगे अधिकारों के दायरे

देश में लगभग 6.3 करोड़ किशोरियों को अलग से शौचालय उपलध नहीं है, जिस कारण महीने में छह-सात दिन उन्हें स्कूल छोड़ना पड़ता है।

गुजरात में एक साल के भीतर सभी गांव खुले में शौच मुक्त होंगे : आनंदीबेन पटेल

मुख्यमंत्री ने दावा किया कि राज्य के 14,000 गांवों में से 4,000 गांव अब खुले में शौच मुक्त हैं।

राज्यसभा : सवाल-जवाब: 2019 तक देश के सभी घरों में होंगे शौचालय

यजल एवं स्वच्छता मंत्री बीरेंद्र सिंह ने बिमला कश्यप सूद के सवाल के जवाब में राज्यसभा को बताया कि दो अक्तूबर 2019 तक हिमाचल प्रदेश की सभी ग्राम पंचायतों सहित सभी राज्यों के सब परिवारों में शौचालय होंगे।

यूपी के बस अड्डों पर खुले में पेशाब करने वालों का बनेगा वीडियो, यूट्यूब पर अपलोड करके किया जाएगा शर्मिंदा

परिवहन निगम इस बात को लेकर कन्फ्यूज है कि ऐसा करने वाले लोगों का चेहरा दिखाया जाए या नहीं। नाइक ने बताया कि बस स्टेशनों पर चेतावनी वाले पोस्टर लगा दिए गए हैं।

एप से ऑनलाइन दिखेंगे शौचालय

ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता के लिए शौचालयों का निर्माण कराया जा रहा है लेकिन निर्माण के बाद उनके प्रयोग को लेकर उदासीनता बरती जा रही है। शौचालय निर्माण..

मोबाइल बनाम शौचालय

जगह-जगह फैला कचरा और खुले में शौच बीमारी को बुलावा देने जैसा है। यह जानने के बावजूद भारत में गंदगी की समस्या एक आम बात है। लोग अपना घर-द्वार तो साफ रखना जानते हैं, लेकिन यही लोग सड़कों पर कूड़ा-कचरा फेंकने से बाज नहीं आते। रेलवे स्टेशनों, पटरियों जैसी जगहों पर आम लोग निस्संकोच केले […]

ये पढ़ा क्या?
X