Supreme Court India

किसान कर रहे ट्रैक्टर रैली का रिहर्सल, सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से कहा- तबलीगी ज़मात के मरकज़ वाला हाल नहीं होना चाहिए

रैली पर चिंता व्यक्त करते हुए मुख्य न्यायधीश एसए बोबड़े ने कहा कि हमें यह नहीं पता कि किसान कोरोना वायरस से सुरक्षित हैं या नहीं है, लेकिन अगर कोरोना नियमों का उचित तरीके से पालन नहीं किया गया तो तबलीगी जमात की तरह की ही दिक्कतें हो सकती हैं।

चौपाल: सख्ती से लागू हो फैसला

हिरासत में होने वाली मौत को लेकर सर्वोच्च अदालत ने महत्त्वपूर्ण फैसला दिया है। ऐसी अमानवीय घटनाओं को रोकने के लिए अब जरूरी है कि केंद्र और राज्य सरकारें सर्वोच्च अदालत के इस फैसले को पूरी तरह से लागू करें और जांच एजेंसियों व थानों में सीसीटीवी कैमरे लगवाएं।

मास्क नहीं लगाने पर सामुदायिक सेवा करने के आदेश पर शीर्ष अदालत ने लगाई रोक, गुजरात हाईकोर्ट ने दिया था आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को मास्क पहनने और सामाजिक दूरी पर केंद्र सरकार के COVID-19 दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित कराने का भी निर्देश दिया।

सुप्रीम कोर्ट ने बीएस4 वाहनों की बिक्री पर लिया बड़ा फैसला, अगर इस महीनें खरीदी है कार तो नहीं किया जाएगा RTO में रजिस्ट्रेशन! देखें पूरा मामला

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इन 10 दिनों की अवधि में 2.55 लाख से अधिक BS4 वाहन बेचे गए हैं, जो उसके आदेश से अधिक था। कोर्ट ने कहा है कि इन 10 दिनों के दौरान जो भी सीमित सीमा से अलग वाहन बेचे गए हैं। उनका पंजीकरण नहीं किया जाएगा।

वकील से गरमागरमी पर बोले जस्टिस मिश्रा- चाहता हूं माफी मांगना, पर घमंड SC को कर रहा तबाह

जमीन अधिग्रहण से जुड़े एक केस में सुनवाई के दौरान जस्टिस मिश्रा की सीनियर वकील गोपाल शंकरनारायण की बहस हो गई थी।

वरिष्ठ नागरिक दंपति को अलग होने की SC ने दी मंजूरी, कहा- नहीं रह सकते खुश तो होइए अलग

सुप्रीम कोर्ट ने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि अगर वे एक साथ नहीं रहना चाहते और अलग होकर खुशहाल जीवन जीना चाहते हैं तो वे ऐसा कर सकते। जस्टिस संजय. के. कौल और केएम जोसेफ की एक बेंच ने ये फैसला लिया।

अयोध्या मामला: जिस किताब का नक्शा फाड़ा गया, उसमें बाबर को बताया गया है उदार शासक

हिंदू महासभा के वकील विकास सिंह ने दलीलें पेश करते हुए पूर्व आईपीएस अधिकारी किशोर कुणाल की कितान ‘Ayodhya Revisited’ में छपे एक नक्शे को हाथ में लेकर जमीन के ढांचे का उल्लेख किया।

पाकिस्‍तान: सुप्रीम कोर्ट के जज ने कहा- ज्‍यादातर पुलिसवाले रात को करते हैं लूट का धंधा, देश में फेल है पुलिस सिस्‍टम

जज ने कहा ‘रात में ज्यादातर पुलिस अधिकारी लूट का धंधा करते हैं। दिन-प्रतिदिन क्राइम बढ़ता जा रहा है। पुलिस अधिकारी वेतन के साथ-साथ लोगों से रिश्वत भी लेते हैं।’

हिरासत में मौत का मामला: पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट को उम्र कैद

1990 में जामनगर में भारत बंद के दौरान हिंसा हुई थी। हिंसा के बाद 100 से ज्यादा लोंगों को गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद आरोपी प्रभुदास माधवजी वैश्नानी की रिहाई के बाद मौत हो गई थी।

CTET परीक्षा में EWS को 10% आरक्षण की मांग वाली याचिका पर केन्द्र से जवाब तलब

उच्चतम न्यायालय ने केन्द्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी)-2019 में आर्थिक रूप से कमजोर वर्गो के लिये दस फीसदी आरक्षण की मांग कर रही याचिका पर बृहस्पतिवार को केन्द्र और सीबीएसई से जवाब मांगा।

प्रशांत भूषण की दलील को मोदी सरकार के वकील ने बताया चुनावी भाषण, चीफ जस्टिस बोले- चुनाव का वक्त है

इलेक्टोरल बॉन्ड की वैधता के मामले में सुप्रीम कोर्ट में प्रशांत भूषण ने बीजेपी को आरोपों के घेरे में लिया। उन्होंने कहा कि इसके जरिए 90 फीसदी चंदा सिर्फ बीजेपी के खाते में गए हैं। मामले में अगली सुनवाई 10 अप्रैल को होगी।

पिछली बार सुप्रीम कोर्ट ने लगाया था 50 हजार जुर्माना, वकील एमएल शर्मा ने फिर लगाई पीआईएल

एमएल शर्मा ने गृह मंत्रालय के उस फैसले के खिलाफ पीआईएल दागी है, जिसमें 10 सरकारी एजेंसियों को जासूसी की छूट दी गई है। पिछली बार कोर्ट ने उन पर बेकार के पीआईएल दाखिल करने के लिए डांट पिलाई थी और 50,000 रुपये का जुर्माना भी ठोका था।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कोई बड़ा आदेश मत देना, अंतरिम सीबीआई प्रमुख ने केस ही बंद करा दिया

एम नागेश्वर राव का यह फैसला इसलिए सवालों के घेरे में है क्योंकि 26 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि सीबीआी के अंतरिम डायरेक्टर कोई भी बड़ा फैसला नहीं लेंगे। लेकिन, 11 नवंबर को इस मामले में सीबीआई के अंतरिम डायरेक्टर ने केस के दोबारा खुलने की संभावनाओं पर पूर्ण विराम लगा दिया।

अब दो जजों ने CJI को लिखी चिट्ठी-फुल कोर्ट में कीजिए सुप्रीम कोर्ट के भविष्य पर चर्चा

चीफ जस्टिस के खिलाफ सात दलों के सांसदों की ओर से महाभियोग की नोटिस देने के दो दिन बाद सुप्रीम कोर्ट के दो वरिष्ठ जजों जस्टिस रंजन गोगोई और मदन लोकुर ने मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर शीर्ष कोर्ट के भविष्य और संस्थागत मुद्दों पर फुल कोर्ट में बहस की मांग की है।

IPL स्पॉट फ़िक्सिंग: सुप्रीम कोर्ट का फैसला ’12 खिलाड़ियों’ की भूमिका पर ख़ामोश

करीब डेढ साल की कानूनी लड़ाई की परिणति बीसीसीआई से एन श्रीनिवासन की विदाई के रूप में हुयी लेकिन उच्चतम न्यायालय के फैसले में उन ‘‘12 खिलाड़ियों’’ की भूमिका पर कोई टिप्पणी नहीं की गयी जिनकी कथित गतिविधियां आईपीएल प्रकरण में न्यायमूर्ति मुद्गल समिति की जांच के दायरे में आयी थीं। न्यायमूर्ति तीरथ सिंह ठाकुर […]

ये पढ़ा क्या?
X