struggle story

नवदीप सैनी की कहानी; सहवाग, गंभीर और कोहली को देखने गए तो गार्ड ने स्टेडियम के गेट से भगा दिया, जूते के लिए 200 रुपए में करते थे बॉलिंग

करनाल प्रीमियर लीग के दौरान सुमित नरवाल नवदीप सैनी की गेंदबाजी से काफी प्रभावित थे। ऐसे में उन्होंने गंभीर से उनकी मुलाकात करवाई। गंभीर ने उनकी गेंदबाजी देखने के बाद दिल्ली की टीम में शामिल कर लिया। बस इसके बाद नवदीप ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

जोश हेजलवुड- छोटे शहर का हीरो; भाला फेंक में जीता था गोल्ड मेडल, ओलंपिक में ले सकते थे हिस्सा

हेजलवुड ऑस्ट्रेलिया के बड़े शहर सिडनी से 300 किलोमीटर उत्तर में रहते थे। उनके छोटे से गांव में सिर्फ 300 लोग रहते थे। अब वहां की आधिकारिक जनसंख्या 450 हो गई है। उनके आस-पास ज्यादा बच्चे नहीं थे। जोश को स्कूली जीवन में भाला फेंक (जेवलिन थ्रो) में महारत हासिल थी।

सड़क किनारे स्टॉल लगाती थीं टी नटराजन की मां, क्रिकेट किट खरीदने के नहीं थे पैसे

नटराजन आईपीएल 2017 में अपने खेल से खास प्रभावित नहीं कर पाए। उन्होंने उस सीजन 6 मैच खेले, जहां उन्होंने 9.07 इकॉनमी से रन लुटाए। साल 2018 में सनराइजर्स हैदराबाद ने उन्हें 40 लाख रुपए में खरीदा और उसके बाद से वह अब तक टीम का हिस्सा बने हुए हैं।

ट्रेनिंग के लिए रोज 80 किमी सफर करती थीं झूलन गोस्वामी, 23 साल पहले एक मैच ने बदला करियर

झूलन भारत के लिए पहला वनडे मुकाबला जनवरी 2002 में चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ खेली थीं। इसके बाद जनवरी में ही लखनऊ में इंग्लैंड के खिलाफ वनडे मैच खेली थीं। 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ ही डर्बी में ही उन्हें पहला टी20 खेलने का मौका मिला था।

बल्लेबाज बनना चाहते थे तुषार देशपांडे, लंबी लाइन ने बना दिया तेज गेंदबाज

तुषार देशपांडे ने आईपीएल में अपने डेब्यू मैच में 37 रन देकर दो विकेट लिए। उन्होंने बताया, ‘तब किसी ने यह नहीं कहा था कि मैं एक औसत लड़के की तुलना में अधिक तेजी से गेंदबाजी करता हूं।’

5 साल पहले टूट गया था निकोलस पूरन का पैर, डॉक्टर ने दी थी क्रिकेट से तौबा करने की सलाह; अब शानदार फील्डिंग से किया सबको हैरान

निकोलस ने राजस्थान की पारी के 8वें ओवर में सैमसन के शॉट को बाउंड्री में जाने से रोक दिया। सैमसन ने रवि बिश्नोई को मिडविकेट की तरफ मारा। ऐसा लगा कि गेंद 6 रन के बाउंड्री के बाहर जा रही है। तभी वहां खड़े निकोलस पूरन ने सुपरमैन की तरह डाइव लगा दिया और 6 रन को दो रन में बदल दिया।

ट्रायल तक के लिए नहीं थे पैसे, तांगे में गुजारनी पड़ी थी रात; संघर्षपूर्ण रही है शोएब अख्तर की कहानी

शोएब अख्तर ने पाकिस्तान के लिए 46 टेस्ट में 178 विकेट लिए। 163 वनडे में उनके नाम 247 विकेट हैं। अख्तर ने टी20 में 15 मैचों में 19 विकेट झटके थे।

ये पढ़ा क्या?
X