Sonia Gandhi

चुनावी सूबों में Congress की राह नहीं आसान! CAA, किसान आंदोलन को भुनाने की कवायद में जुटी

विशेलषकों का मानना है कि कांग्रेस को कार्यकर्ताओं का जोश बढ़ाने और राहुल गांधी की विश्वसनीयता बहाल करने के लिए कम से कम एक राज्य में शानदार प्रदर्शन करना होगा।

नेशनल हेराल्ड केसः सोनिया-राहुल समेत 5 को नोटिस, BJP MP सुब्रमण्यम स्वामी की याचिका पर मांगा जवाब

न्यायमूर्ति सुरेश कैत ने सोनिया और राहुल गांधी, एआईसीसी महासचिव ऑस्कर फर्नांडिस, सुमन दुबे, सैम पित्रोदा और ‘यंग इंडिया’ (वायआई) से 12 अप्रैल तक स्वामी की याचिका पर जवाब देने को कहा है।

गांव में पैदा हुए हैं, सोनिया गांधी की तरह इटली में नहीं- कांग्रेस प्रवक्ता पर भड़क गए संबित पात्रा

डिबेट के दौरान संबित पात्रा कांग्रेस प्रवक्ता पर भड़क गए और कहने लगे कि जिस पार्टी की अध्यक्षा हिंदी नहीं बोल पाती, कागज में लिखकर लाती है, वो हमें अंग्रेज कह रहे हैं।

भारी वित्तीय संकट से गुजर रही कांग्रेस, मदद के लिए कई राज्यों को भेजे SOS संदेश

पार्टी की सबसे बड़ी चिंता पांच राज्यों केरल, असम, बंगाल, तमिलनाडु और पुड्डुचेरी के चुनावों को लेकर है। कांग्रेस के एक सीनियर लीडर का कहना है कि इन राज्यों में चुनाव अच्छे से लड़ना है तो पैसे का इंतजाम तो करना ही होगा।

कांग्रेस पर फिर बरसे कपिल सिब्बल, बोले- सोनिया गांधी की मीटिंग के बाद भी आंतरिक चुनाव पर कोई स्पष्टता नहीं

वरिष्ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने रविवार को कहा कि सोनिया ने इसपर खुली चर्चा की थी और आंतरिक चुनाव का वादा किया था। लेकिन अबतक इसे लेकर कोई रिस्पॉन्स नहीं आया है ना ही स्पष्टता है कि यह कैसे और कब होगा।

कांग्रेस में बढ़ी कलह! पंचायत चुनाव से पहले झटका, रायबरेली के 35 नेताओं ने सोनिया को भेजा इस्तीफा

खफा कांग्रेसियों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि अन्य दलों से आए लोग अमेठी जैसी हालत रायबरेली की भी हो जाएगी।

क्या सोनिया गांधी ने तीनों कानून पढ़े और उन्हें समझ में आया? – फिल्ममेकर ने कांग्रेस अध्यक्ष को मारा ताना; देखें- आने लगे कैसे कमेंट

सोनिया गांधी की मांग पर रिएक्शन देते हुए उन्होंने कांग्रेस लीडर के पूछा है कि क्या सोनिया गांधी को तीनों कानून का सही से पता है? क्या उन्होंने इन्हें पढ़ा और …

सोनिया, ममता और अखिलेश से लेने जाएंगे राम मंदिर का चंदा, VHP नेता बोले- ओवैसी को करेंगे सलाम-नमस्ते

उन्होंने कहा कि ‘राम के तो राज्याभिषेक में भी बाधाएं आई थीं, इसलिए बाधाएं आती रहेंगी, लेकिन मंदिर करीब 36 से 39 माह में बनकर तैयार हो जाएगा। मंदिर निर्माण में देश के सभी लोगों का सहयोग मिल रहा है और उनसे और सहयोग की मांग भी की जाएगी।’

राजकाज-बेबाक बोल-कांग्रेस कथा 13: जहाज के पंछी

फिलहाल कांग्रेस भाजपा की नीति का कोई विकल्प नहीं दे पाई है। उसकी सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि समस्या क्या है यह सभी समझ रहे हैं लेकिन उसका हल बताने और उस पर चलने का हौसला नहीं है।

सोनिया गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की अहम बैठक, राहुल गांधी रहे मौजूद पर नहीं हुई अध्यक्ष पद की चर्चा

बैठक के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता पवन कुमार बंसल ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘बैठक में सकारात्मक चर्चा हुई। सोनिया गांधी ने कहा कि हम बड़ा परिवार हैं और पार्टी को मजबूत करना है।

राजपाट: गहराता संकट

मध्यप्रदेश और गुजरात में पार्टी के विधायक एक-एक कर भाजपा का रुख कर रहे हैं। मध्यप्रदेश में जहां कांग्रेस के नेताओं की अपनी चूकों से सरकार चली गई वहीं गुजरात में विधायकों का टूटना चिंता की बात है।

किसान आंदोलन: ‘क्या सोनिया गांधी किसान हैं?’ केंद्रीय मंत्री ने किसानों के बहाने मां-बेटे पर चलाए जुबानी तीर

इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने किसानों की मौत को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा था। राहुल गांधी ने एक ट्वीट कर कहा था कि ‘और कितने अन्नदाताओं को कुर्बानी देनी होगी? कृषि विरोधी कानून कब खत्म किए जाएंगे?’

‘लेटर बम’ गिरा कांग्रेस से नाराजगी जताने वाले नेताओं को मनाएंगी सोनिया गांधी? मुलाकात के लिए शनिवार का दिन मुकर्रर

अभी यह साफ नहीं है कि इस बैठक में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी मौजूद रहेंगे कि नहीं, लेकिन मीटिंग में कई ऐसे नेताओं के रहने की संभावना जताई जा रही है जो असंतुष्ट गुट के नहीं हैं।

इटली के गांव की लड़की सोनिया कैसे बनीं भारत की बहू, जानिए कब और कैसे हुई राजीव और सोनिया की मुलाकात

Sonia Gandhi: कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी का आज 74वां जन्मदिन हैं। सोनिया समय-समय पर भारत में घट रही घटनाओं पर अपने विचार रखती आई हैं।

सोनिया गांधी के लिए राजीव ने लिखी थी नैपकिन पर कविता, वेटर के जरिए पहुंचा प्रेम पत्र, इटली से भारत तक की कहानी

राजीव और सोनिया की कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी की मुलाकात धीरे-धीरे बढ़ने लगी। दोनों के बीच तीन साल तक मुलाकात चली।’ सोनिया गांधी के भारत आने का किस्सा भी बेहद दिलचस्प है।

सोनिया गांधी के दाएं हाथ थे अहमद पटेल, मंत्री न होकर भी हुआ करते थे सभी मंत्रियों से पावरफुल, पर्दे के पीछे से ही करते थे सारा काम

1991 में जब नरसिम्हा राव प्रधानमंत्री बने, तो अहमद पटेल को कांग्रेस वर्किंग कमेटी का सदस्य बनाया गया। 1996 में उन्हें अखिल भारतीय कांग्रेस समिति का कोषाध्यक्ष की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई।

चौपाल: इच्छाशक्ति की दरकार

सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि पार्टी अपने उस मतदाता वर्ग का भी ख्याल नहीं रख रही है, जो उसके परंपरागत वोटर माने जाते हैं। नतीजतन ऐसे निराश हताश लोग अन्य पार्टियों की ओर मुखातिब होने लगते हैं।

हम सुधारवादी हैं, विद्रोही नहीं, पार्टी में असंतोष पर बोले गुलाम नबी आजाद, कहा-5 स्टार होटलों से नहीं लड़े जाते चुनाव… यह कल्चर बदलना होगा

बिहार और बाकि राज्यों में उप चुनाव की हार पर आजाद ने कहा कि कांग्रेस के नेता आम लोगों से पूरी तरह से कटे हुए हैं। कांग्रेस नेताओं को कम से कम चुनावों के दौरान 5 स्टार कल्चर को छोड़ देना चाहिए।

आज का राशिफल
X