skill india

मोदी सरकार के TITP के तहत 2022 तक 3 लाख इंटर्न्स जाने हैं जापान, पर अब तक जा सके हैं महज 54

दो साल बाद, TITP ढांचे के तहत जापान को भेजे गए इंटर्न की कुल संख्या 54 है, जो अगस्त 2019 के अंत तक बढ़कर 59 हो जाएगी। ये जानकारी इस प्रोग्राम को लागू और मॉनिटरिंग कर रही संस्था नेशनल स्किल डवलपमेंट कॉर्पोरेशन (एनएसडीसी) से मिली है।

‘हर शख्स को घर, हर खेत को पानी’, दो साल में मोदी सरकार को पूरे करने हैं तीन दर्जन से ज्यादा वादे, देखें- लिस्ट

2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से ‘अच्छे दिन’ का वादा किया था। इसके बाद 2017 में ‘न्यू इंडिया’ का वादा किया। 2019 में सत्ता में फिर से काबिज होने के बाद सरकार ने देश को पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का सपना दिखाया है।

पांच लाख युवाओं को मिलेंगे 6000 रुपए महीना: नौकरियों पर घिर रही मोदी सरकार का बड़ा दांव, पेश की इंटर्नशिप की सबसे बड़ी स्‍कीम

इस साल जुलाई से करीब 3 लाख छात्र इस प्रोग्राम के तहत ट्रेनिंग लेना शुरु कर देंगे। वहीं एक साल के बाद यह आंकड़ा 5 लाख तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।

नरेंद्र मोदी सरकार के स्किल इंडिया मिशन की हकीकत: ट्रेनिंग सेंटर की जगह कहीं मिला मैरिज हॉल तो कहीं हॉस्टल

मंत्रालय की इंटरनल ऑडिट रिपोर्ट के मुताबिक सरकार द्वारा अनुदानित करीब 7 फीसदी संस्थान सिर्फ कागजों पर हैं। इनके अलावा 21 फीसदी संस्थानों के पास ट्रेनिंग के लिए बेसिक इक्वीपमेंट भी नहीं हैं।

सरकार के Skill India campaign के ब्रांड एंबेसडर बने सचिन तेंदुलकर

सरकार ने महान क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर को अपने कौशल भारत अभियान का चेहरा बनाया है।

बजट 2016: स्वच्छ भारत मिशन के लिए नौ हजार करोड़, कौशल योजनाओं को मिली कुछ छूट

जेटली ने कहा कि इस रफ्तार को बनाए रखने के लिए उन गांवों को पुरस्कृत करने के वास्ते केंद्र प्रायोजित योजनाओं से प्राथमिकता के आधार पर आवंटन किया जाएगा जो खुले में शौच करने की समस्या से मुक्त हो चुके हैं।

अमेरिकी विश्वविद्यालय के कुलपति ने कहा- मेक इन इंडिया राष्ट्रवादी योजना, युवाओं के लिए फायदेमंद

अमेरिका के एक प्रमुख विश्वविद्यालय में तैनात भारतीय मूल के कुलपति का कहना है कि ‘मेक इन इंडिया’ यथार्थ से ज्यादा राष्ट्रवादी दिखाई पड़ता है और रणनीति को हकीकत में बदलने के लिए पर्याप्त अवसंरचना, साजो सामान और पूरी तरह समायोजित अफसरशाही की जरूरत है।