sanskrit

डॉक्टर फिरोज को छोड़िए, संस्कृत को मशहूर बनाने में इन मुस्लिम विद्वानों ने भी दिया है बड़ा योगदान, वेदों के ज्ञाता अमीर खुसरो तक शामिल

मुहम्मद बिन तुगलक को इतिहास में एक मूर्ख राजा के तौर पर जाना जाता है, लेकिन उनके शासनकाल में भी संस्कृत की दो अहम रचनाएं हुई थीं। ब्रिटिश इतिहासकार स्टेनले लेन पूले ने तुगलक को एक ज्ञानी आदमी करार दिया था।

भारत का एकमात्र संस्कृत दैनिक ‘सुधर्मा’ बंद होने के कगार पर, केंद्र से मांगी मदद

इस अखबार की अभी 3,000 प्रतियां निकलती हैं और इसकी वार्षिक सदस्यता शुल्क महज 400 रुपए है।

प्रशांत के भरोसे बैठे हैं उत्तर प्रदेश के कांग्रेसी

फिलहाल प्रशांत किशोर के जादू के भरोसे खुद को ढीला छोड़ चुके उत्तर प्रदेश के कांग्रेसी शांत हैं। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष से लेकर उत्तर प्रदेश प्रभारी तक सिर्फ पीके की तरफ टकटकी लगाए देख रहे हैं। इस हकीकत का अहसास टीम पीके को भी हो चला है। अब उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती कांग्रेसियों में उस आत्मविश्वास को पैदा करना है जिसके भरोसे चुनाव में फतह हासिल की जाती है।

स्‍मृति ईरानी के बयान पर मनीष सिसोदिया ने ली चुटकी, … तो जावा स्क्रिप्‍ट को राष्‍ट्रविरोधी घोषित कर दीजिए

कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने कहा, ‘मैंने स्कूल में संस्कृत सीखी थी। नई भाषा सीखनी चाहिए। स्कूल में लागू कीजिए, संस्कृत सिखाइए, लेकिन आईआईटी में नहीं होना चाहिए।’

नरेंद्र मोदी: संस्कृत भाषा की वजह से नहीं डिग सकती भारत की धर्मनिरपेक्षता

भारत के सरकारी स्कूलों में जर्मन भाषा की जगह संस्कृत को लाए जाने पर उठे विवाद की पृष्ठभूमि में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारत की धर्मनिरपेक्षता इतनी कमजोर नहीं है कि यह एक भाषा की वजह से हिल जाएगी। बर्लिन में सोमवार रात भारतीय समुदाय द्वारा आयोजित स्वागत समारोह को संबोधित करते […]

केंद्रीय विद्यालयों में जर्मन की जगह संस्कृत का पाठ

जर्मन-संस्कृत विवाद पर अपना रुख साफ करते हुए केंद्र सरकार ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया कि केंद्रीय विद्यालयों (केवी) में छठी से आठवीं तक की कक्षाओं के पाठ्यक्रम में जर्मन की जगह संस्कृत तीसरी भाषा होगी। प्रधान न्यायाधीश एचएल दत्तू की पीठ के समक्ष पेश हुए अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने केंद्रीय […]

ये पढ़ा क्‍या!
X