sanskrit teaching

MP: पहले सरकारी स्कूल में सफाई, फिर बच्चों को संस्कृत पढ़ाता है यह चपरासी, 23 साल से कर रहा ऐसा काम

मध्यप्रदेश के इंदौर शहर से चालीस किमी दूर एक गांव के सरकारी हाईस्कूल में चपरासी वासुदेव वहीं संस्कृत पढ़ा रहे हैं। यह काम वह पिछले 23 वर्षों से बिना किसी अतिरिक्त वेतन के कर रहे हैं। उनके इस सराहनीय काम के लिए उनको मुख्यमंत्री उत्तमता पुरस्कार के लिए चुना गया है।

ये पढ़ा क्या?
X