RSS chief

हमारे लिए विश्व एक परिवार, ‘उनके’ लिए बाजार- बोले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत

दुनिया के सभी प्रश्नों का उत्तर हमारी परंपरा में है। विविधताओं को जोड़ने वाला तत्व सिर्फ भारत के पास ही है और हमें इसे विश्व को देना है। भारत की सोच ‘सभी को सुख मिले’ वाली है। भारत की सोच में किसी को छोटा नहीं माना जाएगा। ये सोच भारत को देनी है। उसमें विकास भी रहेगा, पर्यावरण की सुरक्षा भी रहेगी और व्यक्ति अधिकार संपन्न रहेगा और समाज भी सच्चे अर्थ में प्रबल होगा।

Birthday Special: मोहन भागवत हैं RSS के छठे चीफ, गोलवलकर के बाद सबसे जवान सरसंघचालक; वेटनरी ऑफिसर के तौर पर की थी करियर की शुरुआत

संघ की शाखाओं में कश्मीर मुद्दे को लेकर जागरुकता लाने वालों में मोहन भागवत का नाम प्रमुख है।

RSS चीफ मोहन भागवत ने पढ़ा अल्लामा इकबाल का शेर, कहा- ‘कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी’

RSS Chief Mohan Bhagwat, Allama Iqbal Sher: संघ प्रमुख ने कहा, “दुनिया के बाकी देशों के प्राचीन जीवन मूल्य मिट गए। कई देशों का तो नामो-निशान ही मिट चुका है। परंतु हमारे जीवन मूल्य अब तक नहीं बदले हैं। इसलिए इकबाल ने कहा है- “यूनान, मिस्र, रोम, सब मिट गए जहां से.. कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी।”

कोई नहीं जानता कब और कैसे होगा लेकिन राम मंदिर मेरे जीवनकाल में ही संपन्न होगाः RSS प्रमुख

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने बुधवार को उम्मीद जतायी कि राम मंदिर का निर्माण उनके जीवन काल में ही संपन्न होगा।

ये पढ़ा क्या?
X