road accidents

संपादकीय: हादसों की सड़क

पश्चिमी देशों की नकल पर हमारे यहां भी ऐसी सड़कों के विस्तार पर जोर दिया जाने लगा। माना गया कि इससे माल ढुलाई और सार्वजनिक परिवहन सुविधाओं में गति आएगी। निस्संदेह गति आई भी। मगर राष्ट्रीय राजमार्गों पर जैसी सुरक्षा व्यवस्था होनी चाहिए, वह अभी तक हमारे यहां नहीं हो पाई।

2019 में सड़क हादसों में 1.54 लाख से अधिक मौतें, 60% मामले ओवरस्पीडिंग के कारण हुए- NCRB

आंकड़ों बताते हैं कि 59.5 फीसदी सड़क हादसे ग्रामीण इलाकों में सामने आए जबकि 40.5 फीसदी दुर्घटनाएं शहरी क्षेत्रों में हुईं।

नशे में राहगीर को कार से कुचला, आत्मग्लानि से तंग आकर कर ली खुदकुशी

शराब के नशे में धुत होकर गाड़ी चला रहे शख्स ने एक राहगीर को कुचल दिया था। लोगों ने गाड़ी के ड्राइवर को पुलिस को सौंप दिया था। उसे बाद में जमानत भी मिल गई। पछतावे में डूबकर गाड़ी चलाने वाले शख्स ने आत्महत्या कर ली।

पंजाब में दर्दनाक हादसा: ट्रक ने स्टूडेंट्स को रौंदा, 10 की मौत

बच्चे पहले बस में यात्रा कर रहे थे, लेकिन राजमार्ग पर एक मिनी बस के साथ दुर्घटना के बाद वाहन से उतर गए। बस से उतरते ही, ट्रक पीछे से आया और उन्हें कुचल दिया।

हरियाणा: 50 लोगों से भरी बस में धमाका, कई जख्‍मी

हरियाणा और मध्‍य प्रदेश में हुए अलग-अलग बस हादसों में एक की मौत हो गई, जबकि 27 लोग घायल बताए जा रहे हैं।

देश में 5,00,00,000 से ज्यादा ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी, दस हजार रुपए तक बढ़ाया जा सकता है जुर्माना

भारत में लगभग हर तीसरा ड्राइविंग लाइसेंस जाली हो सकता है क्योंकि एक आधिकारिक आंकड़े के अनुसार सड़कों पर पांच करोड़ से अधिक लोगों के ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी पाए गए।

आज का राशिफल
X