Rio Olympic

रियो ओलंपिक में भारत के ध्वजवाहक होंगे अभिनव बिंद्रा

तैंतीस साल के बिंद्रा ओलंपिक में व्यक्तिगत स्पर्धाओं में भारत के एकमात्र स्वर्ण पदक विजेता हैं।

रियो के लिए पेस को छोड़ना होगा मिश्रित युगल का मोह

लिएंडर पेस को सातवां ओलंपिक खेलने का अपना सपना पूरा करने के लिए मिश्रित युगल खेलने का मोह छोड़ना होगा क्योंकि रोहन बोपन्ना को मनाने के प्रयास किए जा रहे हैं कि वे रियो ओलंपिक में पेस को पुरुष युगल में अपना जोड़ीदार चुन लें।

सुप्रीम कोर्ट जाने से पहले कुश्ती महासंघ से बात करेंगे सुशील कुमार

चयन के लिए ट्रायल की याचिका दिल्ली हाई कोर्ट में खारिज हो जाने के बाद दो बार के ओलंपिक पदकधारी पहलवान सुशील कुमार रियो ओलंपिक में भाग लेने की अंतिम मुहिम के तहत फिर से भारतीय कुश्ती महासंघ से बात करेंगे।

जूडो फाइटर अवतार सिंह को मिला रियो ओलंपिक का टिकट

पंजाब के गुरदासपुर के रहने वाले अवतार अभी पंजाब आर्म्ड पुलिस में कार्यरत हैं।

ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले इकलौते मुक्केबाज शिव थापा मानते हैं कि और भी बॉक्सर जा सकते हैं रियो

ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले एकमात्र भारतीय मुक्केबाज शिव थापा ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि और मुक्केबाज रियो के लिए कट में जगह बनाएंगे, हालांकि कैलेंडर में अभी सिर्फ एक ही क्वालीफाइंग टूर्नामेंट बचा है। गैर सरकारी संगठन ओलंपिक गोल्ड क्वेस्ट ने सोमवार को 22 साल के मुक्केबाज को रियो जाने […]

800 मीटर दौड़ में चौथे स्थान पर रहीं टिंटू लुका, भाला फेंक में नीरज चोपड़ा ने जीता रजत पदक

ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुकी टिंटू लुका 800 मीटर दौड़ में साधारण प्रदर्शन करते हुए चौथे स्थान पर रहीं जबकि भारतीयों ने यूरोप में विभिन्न स्थानों पर रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने का प्रयास जारी रखा।

एथलीट सीमा पूनिया ने जीता गोल्ड मेडल, कटाया रियो ओलम्पिक का टिकट

एशियाई खेलों की स्वर्ण पदकधारी चक्का फेंक एथलीट सीमा पूनिया ने रविवार को अमेरिका के सालिनास (कैलिफोर्निया) में पैट यंग्स थ्रोअर्स क्लासिक 2016 प्रतियोगिता में 62.62 मीटर के प्रयास से सोने का तमगा जीतते हुए रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया।

सुमीत रेड्डी ने कहा- रियो ओलंपिक क्वालीफिकेशन एक जिम्मेदारी है

पहली बार ओलंपिक खेल रहे मनु ने कहा कि वे अनुभव की कमी को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करेंगे।

रियो ओलंपिक में जगह बनाने से चूके मौसम खत्री

मौसम खत्री 97 किग्रा फ्रीस्टाइल भार वर्ग में ओलंपिक में जगह बनाने से सिर्फ एक जीत दूर थे लेकिन सेमीफाइनल में उन्हें मंगोलिया के खुदेरबुल्गा दोरखंड के खिलाफ 6-8 से शिकस्त का सामना करना पड़ा

ओलंपिक में फिर से पदक जीतना चाहती है अनुभवी इंतानोन

इंतानोन ने कहा कि अब वह रियो ओलंपिक में अपना सपना पूरा करना चाहती हैं।

मैरीकाम, शिव एशियाई ओलंपिक क्वालीफायर के सेमीफाइनल में

पांच बार की विश्व चैम्पियन और ओलंपिक कांस्य पदकधारी मैरीकॉम ने सुबह दबदबे भरा प्रदर्शन करते हुए नेश्ती पेटेसियो को 3-0 से शिकस्त दी।

हीना ने स्वर्ण पदक जीत कर ओलंपिक कोटा हासिल किया

विश्व की पूर्व नंबर एक निशानेबाज हीना ने यहां डा. कर्णीसिंह शूटिंग रेंज में आठ महिलाओं के बीच चले फाइनल में 199.4 अंक बनाए और वह चीनी ताइपै की तियान चिया चेन (198.1 अंक) और कोरिया की गिम युन मी (177.9 अंक) से आगे रही।

भारतीय निशानेबाज ओलंपिक टिकट पर साधेंगे निशाना

एशियाई ओलंपिक क्वालीफाइंग का आयोजन 27 जनवरी से तीन फरवरी तक कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में किया जाएगा। इसमें 32 देशों के 575 निशानेबाज 35 कोटा स्थानों के लिए चुनौती पेश करेंगे।

सुशील की नजरें रियो ओलंपिक पर

भारत के एकमात्र दो बार के व्यक्तिगत पदक विजेता सुशील कुमार ने कहा है कि वह रियो डि जनेरियो में इस साल अपने चौथे ओलंपिक में हिस्सा लेने के लिए तैयार है

रियो ओलंपिक के लिए पीबीएल से फायदा होगा : कश्यप

चोट के बाद वापसी करने वाले चोटी के खिलाड़ी पी कश्यप को पूरी उम्मीद है कि उन्हें आगामी प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) में खेलने से अपने प्रदर्शन में सुधार के अलावा रियो ओलंपिक में बेहतर करने में मदद मिलेगी…

डोपिंग ने बीते साल फिर झकझोरा भारतीय भारोत्तोलन को

भारत के सबसे ज्यादा भारोत्तोलक 2015 में प्रतिबंधित दवाओं के सेवन के दोषी पाए गए जिससे अच्छा प्रदर्शन हाशिए पर चला गया और अब भारतीय भारोत्तोलकों को अगले साल ओलंपिक से बाहर रहना पड़ सकता है..

भारतीय पुरुष हाकी टीम रियो ओलंपिक में जर्मनी, नीदरलैंड के पूल में

आठ बार की चैंपियन भारतीय पुरुष हाकी टीम रियो ओलंपिक 2016 में पूल बी में गत विजेता जर्मनी और दुनिया की दूसरे नंबर की टीम नीदरलैंड के साथ होगी..

गगन नारंग को रियो में बेहतर प्रदर्शन का भरोसा

लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाले मशहूर निशानेबाज गगन नारंग को उम्मीद है कि रियो में भारतीय निशानेबाजों का प्रदर्शन बेहतर रहेगा और वे इस बार ज्यादा पदकों पर निशाना साधने में अपनी महारत दिखाएंगे..

ये पढ़ा क्या?
X