reliance industries limited

मुकेश अंबानी के रिलायंस इंडस्ट्रीज और फ्यूचर डील के पीछे पड़ा अमेजॉन, अब हाई कोर्ट जाकर रुकवाने की तैयारी

सिंगापुर की आर्बिट्रेशन कोर्ट से रिलायंस और फ्यूचर ग्रुप की डील को रोकने का आदेश हासिल करने के बाद अमेजॉन ने अब इस पर अमल के लिए कमर कस ली है। जेफ बेजोस की लीडरशिप वाली कंपनी अब इस फैसले को लागू कराने के लिए भारतीय हाई कोर्ट का रुख कर सकती है।

किशोर बियानी की बेटियों अशनि और अवनि का भी है कारोबार में दखल, जानें- करती हैं क्या काम

किशोर बियानी ने बेटियों अशनि और अवनि को भी बिजनेस में शामिल किया है और उन्हें इसकी बारीकियां सिखाई हैं। यही नहीं किशोर बियानी कहते हैं कि उन्हें रिटेल सेक्टर की बारीकियां और ट्रेंड में चल रही चीजों की जानकारी अपनी बेटियों से ही मिलती रही है।

अमेजॉन के अड़ंगे से रिलायंस के साथ फेल हुई डील तो कारोबार समेटेंगे किशोर बियानी? 29 हजार नौकरियों पर होगा संकट

डील फेल होने पर किशोर बियानी अपने रिटेल बिजनेस को बंद करने और संपत्तियों को बेचने का फैसला लेते हैं तो इससे 29,000 कर्मचारियों के भविष्य पर संकट आ जाएगा।

रिलायंस इंडस्ट्रीज और फ्यूचर ग्रुप की डील पर लगी रोक, अमेजॉन की अपील पर आर्बिट्रेशन पैनल का फैसला

मामले की सीधे तौर पर जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने आर्बिट्रेशन पैनल के फैसले को लेकर कहा कि रिलायंस और फ्यूचर की डील पर आया यह निर्णय अमेजॉन के लिए व्यापक जीत की तरह है। अब उसे इस डील को रोके जाने के लिए एक तरह से एक आदेश मिल गया है।

मुकेश अंबानी को रिटेल बिजनेस बेचने पर अमेजॉन ने भेजा किशोर बियानी को नोटिस, करार के उल्लंघन का आरोप

बढ़ते कर्ज और दिवालिया प्रक्रिया से बचने के लिए किशोर बियानी ने अगस्त में अपने रिटेल बिजनेस को मुकेश अंबानी के रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड को बेच दिया था।

टीसीएस का मार्केट कैपिटलाइजेशन पहुंचा 10 लाख करोड़ रुपये के पार, सिर्फ महीने भर में 1 लाख करोड़ रुपये का इजाफा

टाटा कंसलटेंसी सर्विसेज (TCS) का मार्केट कैपिटलाइजेशन 10 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है। इसके साथ ही यह कंपनी मुकेश अंबानी के रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के बाद 10 लाख करोड़ की मार्केट वैल्यूएशन वाली देश की दूसरी कंपनी बन गई है।

सभी सरकारी कंपनिया मिलकर भी मुकेश अंबानी के साम्राज्य के बराबर नहीं, रिलायंस ने बनाया रिकॉर्ड

पिछले 6 महीनों में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने इक्विटी कैपिटल से 33 बिलियन डॉलर की धन राशि जुटाई है। इसके अलावा पिछले छह महीनों में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने अपने निवेशकों की धनराशि को भी दोगुने से भी अधिक कर दिया है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैपिटलाइजेशन हुआ 15 लाख करोड़ रुपये के पार, TCS बनी देश की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी

कंपनी के शेयर में बीते करीब 6 दिनों में 12.21 पर्सेंट की उछाल देखने को मिली है। इसके साथ ही कंपनी का बाजार पूंजीकरण 15.80 लाख करोड़ रुपये हो गया है। यह आंकड़ा छूने वाली रिलायंस देश की पहली कंपनी है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बनाया मार्केट कैपिटलाइजेशन का रिकॉर्ड, आज तक किसी भारतीय कंपनी को नहीं मिला था यह मुकाम

दिन भर के कारोबार में कंपनी का शेयर 8.45 पर्सेंट तक ऊपर चला गया और मार्केट कैपिटलाइजेशन भी 15,84,908 करोड़ रुपये के लेवल पर पहुंच गया था। यही नहीं कंपनी का शेयर भी बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में 2,343 के लेवल पर पहुंच गया था।

निवेशकों से 2 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा जुटाने के करीब मुकेश अंबानी, रिलायंस रिटेल से मिलेंगे 63,000 करोड़

सिल्वर लेक ने 1.75 प्रतिशत हिस्सेदारी के बदले में यह निवेश किया है। कंपनी की कुल वैल्यूएशन 4.21 लाख करोड़ रुपये आंकी गई है। पूरे मामले की जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने कहा कि कंपनी की ओर से नए शेयर किए जा सकते हैं।

डाटा के बाद फोन मार्केट में कब्जा जमाएगा जियो? दिसंबर तक 10 करोड़ सस्ते स्मार्टफोन उतारने की तैयारी में मुकेश अंबानी

कंपनी भारत में फोन मैन्युफैक्चर करने के लिए कुछ बड़े वेंडर्स से बातचीत भी कर रही है। जानकारों के मुताबिक सस्ते स्मार्टफोन्स मार्केट में बड़ा स्कोप भी है। इसकी एक वजह यह है कि सरकार चीनी कंपनियों का विकल्प तलाशने की कोशिश में है।

रिलायंस रिटेल में 7,300 करोड़ रुपये के निवेश की तैयारी में सिल्वर लेक, जानें- क्या है इस कंपनी का कारोबार

रिलायंस रिटेल की कुल वैल्यू 57 अरब डॉलर आंकी गई है और कंपनी अपने 10 फीसदी नए शेयरों को बेचने पर विचार कर रही है। हालांकि अब तक सिल्वर लेक या फिर रिलायंस की ओर से इस संबंध में कोई औपचारिक बयान जारी नहीं किया गया है।

बियानी फैमिली को 15 साल तक रिटेल बिजनेस से रहना होगा बाहर, मुकेश अंबानी से फ्यूचर ग्रुप की डील में हुआ करार

विशेषज्ञों की माने तो ज्यादातर नॉन कंपीट एग्रीमेंट 3 से 5 वर्ष के लिए मान्य होते हैं। संभव है कि फ्यूचर ग्रुप के आर्थिक संकट में घिरने के चलते यह अवधि बढ़ गई हो।

रिलायंस रिटेल को लेकर भी जियो जैसी प्लानिंग में मुकेश अंबानी, वॉलमार्ट कर सकती है बड़ा निवेश

रिलायंस रिटेल में वॉलमार्ट से निवेश हासिल कर मुकेश अंबानी कारोबार का विस्तार करने की तैयारी में हैं ताकि रिटेल सेक्टर में सीधे तौर पर अमेजॉन और डीमार्ट जैसी कंपनियों को कड़ी टक्कर दे सकें।

जानें, अब क्या करेंगे फ्यूचर ग्रुप के किशोर बियानी? मुकेश अंबानी को कारोबार बेच रिटेल बिजनेस से हुए बेदखल

अब किशोर बियानी के पास सिर्फ 4,000 करोड़ रुपये का एफएमसीजी कारोबार ही बचा है, जिसे वह फ्यूचर कन्जयूमर के नाम से चलाते हैं। इस कंपनी की मुखिया किशोर बियानी की बेटी अशनि बियानी हैं, जो फ्यूचर कन्जयूमर की एमडी हैं।

कर्ज चुकाने में ही चली जाएगी फ्यूचर ग्रुप को बेचने पर मिलने वाली बड़ी रकम, जानें- कितना बचेगा किशोर बियानी के हाथ

डील के तहत मिलने वाली रकम में से किशोर बियानी 13,000 करोड़ रुपये की बड़ी पूंजी कर्ज उतारने में खर्च कर देंगे। इसके अलावा 7,000 करोड़ रुपये के करीब किराया और अन्य देनदारियां बकाया हैं, जिसे फ्यूचर ग्रुप को अदा करना होगा।

मुकेश अंबानी के दाएं हाथ माने जाते हैं ये दोनों भाई, जानें- रिलायंस में करते हैं क्या काम, रिश्तेदारी का भी कनेक्शन

रिलायंस को पेट्रोकेमिकल्स क्षेत्र में एक वैश्विक लीडर बनाने में निखिल मेसवानी का अहम योगदान रहा है। 1 जुलाई, 1988 से वह कंपनी के बोर्ड में पूर्णकालिक निदेशक तौर पर शामिल रहे हैं।

पूर्व सरकारी अफसर को मुकेश अंबानी ने बनाया रिलायंस इंडस्ट्रीज का प्रेसिडेंट, हाल ही में हुए थे रिटायर

सरकारी अधिकारियों को हायर करने का रिलायंस का पुराना इतिहास रहा है। इसी साल की शुरुआत में कंपनी ने इंडियन ऑयल के एक और पूर्व चेयरमैन सार्थक बेहुरिया को सीनियर एडवाइजर के तौर पर नियुक्त किया था।

यह पढ़ा क्या?
X