Rakesh Tikait

किसानों से बोले टिकैत – खड़ी फसल को आग ही क्यों न लगानी पड़े, कृषि कानून निरस्त हुए बिना हम वापस नहीं जाएंगे

कृषि कानून निरस्त नहीं होने तक वापस घर नहीं जाने की बात दोहराते हुए टिकैत ने कहा कि किसानों को इसके लिये अपनी खड़ी फसल के बलिदान के लिये तैयार रहना चाहिए।

Farmer protest: केंद्र सरकार न सोचे कि हम अपनी फसल काटने लौट जाएंगे, जबरदस्ती की तो हम जला देंगे पैदावार, राकेश टिकैत ने हरियाणा से दी धमकी

Farmer protest: टिकैत ने कहा कि अगर केंद्र सरकार का रवैया यही रहा तो वो अपने ट्रैक्टर लेकर बंगाल जाने से भी गुरेज नहीं करेंगे। वहां भी एमएसपी नहीं मिल रहा है।

फंसे लोगों को दूध, लस्सी और फल देंगे’, राकेश टिकैत ने रेल रोको कार्यक्रम पर कहा- लोगों को बताएंगे समस्या

मीडिया से बातचीत करते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि ‘हम फंसे हुए लोगों को पानी, दूध, लस्सी और फल मुहैया कराएंगे। हम उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत भी कराएंगे।’

राकेश टिकैत ने गाजीपुर बॉर्डर पर चलाया हल, रेल रोको अभियान से पहले बोले- रेल रोक कर रेल चलवाएंगे

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि गुरुवार को रेल रोककर उनका मकसद रेल चलवाना है। उनका कहना था कि पिछले 8 महीनों से देश भर में रेल रुकी हुई हैं। लोगों की सुविधा के लिए रेल चलनी चाहिए।

‘राकेश टिकैत जाट पॉलिटिक्स कर सरकार पर दबाव बना रहे हैं?’, एंकर के सवाल पर BKU के धर्मेंद्र मालिक ने दिया जवाब…

बीकेयू प्रवक्ता ने इसे सिरे से खारिज करते हुए कहा कि वे सिर्फ किसानों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक कर रहे हैं। इसलिए हर जगह पंचायत आयोजित हो रहा है।

कृषि कानूनः केंद्र ही नहीं BKU के राकेश टिकैत भी नहीं ले पा रहे पूरी नींद, बोले- दिन में मीटिंग, रात में सफर कर रहे…

राकेश टिकैत ने कहा कि आज कल ऐसा चल रहा है कि दिन में मीटिंग करता हूं और रात को सफर करता हूं। कम सोने को मिलता है।

ये उनके दिमाग में गलत फितूर है, फिर छेड़खानी कर के देखो…किसान आंदोलन में कम हो रही भीड़ पर बोले टिकैत

टिकैत ने कहा कि संख्या कम नहीं है ये तो बहुत बड़ी संख्या है। जब जरूरत पड़ेगी किसान वापिस आ जाएंगे। किसानों को अपने खेत का काम भी देखना है।

किसान आंदोलनः जिस विभाग में 18 मंत्री होंगे, उसका यही हाल होगा- कृषि मंत्रालय पर बोले टिकैत

टिकैत ने कहा कि सरकार किसान आंदोलन को पहले खलिस्तानियों का बता रही थी। फिर इसे सिखों का आंदोलन कहा गया और अब इसे जाटों का आंदोलन बता रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेता यहां खुद आकर देख लें कि यह किसका आंदोलन है।

टिकैत ने बापू-हनुमान जी को बताया था ‘आंदोलनजीवी’, अयोध्या के महंतों ने जताई आपत्ति, बोले BKU नेता- PM मांगे माफी

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने ‘बापू और हनुमान’ को ‘आंदोलनजीवी’ बताया था। टिकैत के इस बयान पर अयोध्या के महंतों ने आपत्ति जताई है। बीकेयू नेता ने कहा था कि कुछ लोग हमको आंदोलनजीवी कहते हैं। सबसे बड़े आंदोलनजीवी तो ‘हनुमान जी’ थे। महात्मा गांधी भी आंदोलनजीवी थे।

BJP के मिशन चुनाव में किसान लगाएंगे पलीता? बोले टिकैत- बंगाल में क्यों नहीं जा सकते? चढ़ूनी ने कहा- जब BJP वाले हारेंगे, तभी तो आंदोलन जीतेगा

भाजपा ने बंगाल में किसान आंदोलन के दखल से बचने के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं, इसी के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बैठकें शुरू कर दी हैं।

राकेश टिकैत नहीं जानते उनके पास है कितनी प्रॉपर्टी, 3 बार हुआ सीधा सवाल, देने लगे गोल-मोल जवाब

इंटरव्यू के दौरान जब एंकर ने किसान नेता राकेश टिकैत से पूछा कि आप के पास कितनी प्रॉपर्टी है? टिकैत ने कहा कि अगर प्रॉपर्टी है तो गलत क्या है? पूरे देश के किसानों की जमीन मेरी है।

“मोदी जी बोलते बहुत हैं, जो बोलते हैं वे काम करते नहीं”, PM की ‘नेतागिरी’ पर बोले टिकैत

टिकैत ने कहा, “बीजेपी में पता चला है कि आपस में वहां तोड़-फोड़ हो रही है।” पत्रकार ने इसी पर मुस्कुराते हुए सवाल दागा- कुछ लोग संपर्क में हैं टिकैत साहब? BKU नेता भी इस पर हंसने लगे। हालांकि, जवाब आया- हमारी तो अंदर बात होती है। पर उन्होंने किसी नेता का नाम नहीं लिया।

पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ सकते हैं, फिर किसान की फसल के क्यों नहीं?- महंगाई की मार के बीच टिकैत का सवाल

BKU नेता राकेश टिकैत ने पूछा है कि देश में जब पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ सकते हैं, तो फिर किसानों की फसल की कीमतें क्यों नहीं बढ़ती हैं? यह पूछे जाने पर कि धीमे-धीमे आप उपभोक्ताओं के मुद्दे उठा रहे हैं? टिकैत का जवाब आया- उठाएंगे न…जिस हिसाब से महंगाई बढ़ रही है, […]

प्रेम व‍िवाह और टीवी देखने के सख्‍त ख‍िलाफ थे महेंद्र स‍िंह ट‍िकैत, पर ‘शोले’ से था प्‍यार

वे खुद को राजनीति और राजनेताओं से दूर रखते थे. जब महेंद्र सिंह टिकैत ने भारतीय किसान यूनियन की स्थापना की तो उन्होंने इसमें एक और शब्द जोड़ दिया “अराजनैतिक”।

महेंद्र सिंह टिकैत: सीएम को चूल्लू में पिलाया था पानी, मंच पर सुनाई थी खूब खरी-खोटी

मौजूदा क‍िसान आंदोलन का चेहरा बन गए भारतीय क‍िसान यून‍ियन (बीकेयू) के नेता राकेश ट‍िकैत के पि‍ता महेंद्र स‍िंह ट‍िकैत क‍िसानों के कद्दावर नेता थे। उनके ठेठ गंवई अंदाज, कड़े तेवर, रसूख और व‍िशाल समर्थकों की ताकत के आगे कई बार सरकारों को झुकना पड़ा था। तत्‍कालीन सीएम वीर बहादुर स‍िंह, मायावती से लेकर पीएम राजीव गांधी तक को। कैसे, यह जान‍िए।

सिर्फ बिल वापसी का नारा लगाया है, अभी गद्दी वापसी का नारा नहीं लगा, महापंचायत में राकेश टिकैत बोले- बात मान जाए केंद्र

राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार ज्यादा दिमाग ख़राब ना करे। अभी तो देश के जवान और किसान ने कहा है कि बिल वापस कर लो। अभी गद्दी वापसी का नारा नहीं लगाया हमने।

ज्यादा दिमाग खराब ना करे सरकार हमारा, राकेश टिकैत की केंद्र को धमकी

टिकैत ने कहा कि सरकार ज्यादा दिमाग न खराब करे, अभी हमने गद्दी वापस का नारा नहीं दिया है।

कृषि कानूनः जब तक नहीं मानी जाती किसानों की मांगें, तब तक केंद्र को चैन से बैठने न देंगे- बोले टिकैत

कृषि कानूनों पर आंदोलनरत किसान अपनी मांगों पर अडिग हैं। वे तीनों कानूनों की वापसी के साथ MSP पर अलग कानून बनाने से कम पर राजी नहीं हैं। रविवार को इस बात के संकेत BKU नेता राकेश टिकैत ने दिए। वह बोले कि जब तक किसानों की मांगें पूरी नहीं हो जातीं, तब तक हम […]

ये पढ़ा क्या?
X