Rakesh Tikait

बीमारी जहां से आई वहीं छोड़ आएंगे, ‘शूटर’ पर राकेश टिकैत बोले- सरकार की साजिश

शुक्रवार रात को पकडे जाने के बाद शूटर ने मीडिया के सामने कबूल किया था जब 26 तारीख को चार लोग स्टेज पर होंगे तभी उनको गोली मारा जाएगा। साथ ही शूटर ने यह भी कहा कि उसे इसके लिए चार लोगों की फोटो भी दी गयी है और इस काम को करने के लिए उसे प्रदीप सिंह ने कहा है जो राई थाने का एसएचओ है।

राकेश टिकैत पर विवादित टिप्पणी कर ट्रोल हुए महाभारत फेम एक्टर तो दिया ऐसा जवाब

महाभारत एक्टर गजेंद्र चौहान किसान नेता राकेश टिकैत पर एक टिप्पणी कर सोशल मीडिया पर घिर गए। उनका समर्थन करते हुए फिल्म एंकर शिखा धारीवाल ने एक ट्वीट किया जिस पर यूजर्स…

पुलिस के डंडे पड़ेंगे तो बक देगा कि टिकैत के यहां नौकरी करता है- किसान आंदोलन में पकड़ा गया संदिग्ध तो बोले फिल्ममेकर

किसान आंदोलन के बीच एक संदिग्ध व्यक्ति पकड़ा गया है जिसने कथित तौर पर किसान नेताओं को मारने की एक बड़ी साजिश का खुलासा किया है। इस बात पर अशोक पंडित ने ट्वीट कर कहा कि वो आदमी राकेश टिकैत के यहां नौकरी…

किसानों का प्रदर्शन कमजोर आंदोलन नहीं, ये लंबा चलेगा- टिकैत ने चेताया; 26 जनवरी को परेड भी निकलेगी

किसान नेता और भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि किसानों का प्रदर्शन कमजोर आंदोलन नहीं है, ये लंबा चलेगा। उन्होंने जोर देकर कहा कि 26 जनवरी को परेड भी निकलेगी।

हम सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करते हैं, जो जज राज्यसभा चले गए उन्हें भी प्रणाम करते हैं- राकेश टिकैत

राकेश टिकैत ने कहा, हम कोर्ट का सम्मान करते हैं। जो लोग रिटायर होकर राज्यसभा में चले जाते हैं उसका भी सम्मान करते हैं, उनको प्रणाम करते हैं।

बॉलीवुड एक्टर ने लिखा- राकेश टिकैत भूल गया है कि आंदोलन के बाद घर जाना ही है, फिर बाबा जी…; हुए ट्रोल

गजेंद्र चौहान के इस ट्वीट और इसकी भाषा पर ट्विटर यूजर्स भड़क गए। अजय कुमार नाम के यूजर ने लिखा, ‘गजेंद्र चौहान जी क्या आप यह कहना चाहते हैं कि योगी सरकार गुंडागर्दी..

किसी ने ट्रैक्टर मार्च रोका तो बक्कल उतार देंगे- किसान नेता राकेश टिकैत की चेतावनी

राकेश टिकैत ने कहा,’दिल्ली खबरदार जो ट्रैक्टर मार्च रोका, उसका इलाज भर देंगे जो ट्रैक्टर को रोकेगा, बक्कल उतार दिए जाएंगे जो ट्रैक्टर को रोका किसी ने।

राकेश टिकैत बोले- NIA के नोटिस का कर रहे इंतजार, अर्नब पर कहा- रोज यहीं बैठाते हैं, स्टूडियो में जाने का मन है

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि वह अर्नब गोस्वामी से सामने से मिलना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि बहस के दौरान वह अर्नब को देख नहीं पाते हैं इसलिए स्टूडियो जाने का मन है।

जब चौधरी महेन्द्र सिंह टिकैत के गांव पहुंचे CM को किसानों ने हाथ से पिलाया पानी, नाराज हो गए थे मुख्यमंत्री

1987 में महेंद्र सिंह टिकैत के गांव सिसौली में एक महापंचायत आयोजित की गई, इसमें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री वीर बहादुर सिंह भी पहुंचे थे। इसी बीच वीर बहादुर सिंह ने पानी पीने की इच्छा जाहिर की तो उन्हें मंच पर ही हाथ से पानी पिलाया गया।

लाइव डिबेट में कृषि विशेषज्ञ से बोले राकेश टिकैत – तुम्हें बीमारी है बोलने की ट्रेनिंग ले रखी है आठ-आठ दिनों की, वहां बोलना ही सिखाया जाता है

राकेश टिकैत बोले,’मैं तो ये कह रहा हूं कि सबको हटा दो, वो(बिचौलिए) हमारे कोई रिश्तेदार नहीं हैं? खरीद की सारी गारंटी सरकार ले ले ना।

बोले राकेश टिकैत: कौन रोकेगा, पुलिस तो ट्रैक्टर को सैल्यूट करेगी; दुनिया की सबसे बड़ी परेड मनेगी

राकेश टिकैत ने आगे कहा कि ये दिल्ली सुन ले कि हम आंदोलन भी करेंगे, बैठक भी करेंगे और धरना भी देंगे।

जब महेंद्र सिंह टिकैत को गिरफ्तारी करने पहुंची पुलिस, किसानों ने कर दी थी ट्रैक्टर-ट्रॉलियों से नाकेबंदी; छूट गए थे पसीने 

महेंद्र सिंह टिकैत को गिरफ्तार करने उनके गांव सिसौली पहुंची तो गिरफ्तारी की खबर सुनकर किसान भड़क गए‌। आसपास के गांवों से हजारों किसानों ने सिसौली पहुंचकर महेंद्र सिंह टिकैत को अपने घेरे में ले लिया था।

सरकार के साथ बातचीत से पहले बोले राकेश टिकैत, सच कहा तो सजा निश्चित, हन्नान ने कहा- कोई उम्मीद नहीं है

किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि किसानों की लड़ाई भी आजादी की लड़ाई जैसी है। जो किसान आंदोलन में आ रहा है सरकार उनको गुनहगार समझ रही है।

कृषि कानूनः जलेबी वो घुमा रहे- बोले BJP प्रवक्ता, टिकैत का जवाब- ये घुमाने-फिराने की बात तो करो न…

किसानों के आंदोलन का मंगलवार को 55वां दिन है। किसान अपनी मांगों को लेकर सड़कों पर डंटे हुए हैं। वो अपनी मांगें मनवाने के लिए आरपार के मूड में हैं।

जब महेंद्र सिंह टिकैत की अगुआई में किसान आंदोलन से दहशत में आ गए थे अफ़सर और मंत्री, झुक गई थी सरकार

किसान आंदोलन का नेतृत्व कर रहे प्रमुख चेहरों में से एक भारतीय़ किसान यूनियन (अराजनैतिक) के प्रवक्ता राकेश टिकैत भी हैं।

बोले राकेश टिकैत- NIA का ऑफिस तलाश रहे, जरा देख कर आवेंगे; सरकार हमें छेड़ कर तो दिखाए

किसान नेता राकेश टिकैत ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि एजेंसी आंदोलन में 5 -5 किलो आटा देने वाले लोगों को खोज रही है जबकि एजेंसियों के पास दूसरे बहुत सारे काम पड़े हैं। एजेंसी देश से पैसा लेकर भागे लोगों के बारे में कोई जाँच नहीं कर रही है जबकि किसान आंदोलन के नेताओं और इसमें शामिल होने वाले लोगों को परेशान कर रही है।

गणतंत्र दिवस पर UP किसानों का दिल्ली आह्वान, बोले- भाजपा को वोट दिया मगर कृषि बिलों पर बहुत गुस्सा

सिसौली के किसानों ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि हमारे गाँव में करीब 11000 वोटर हैं जिसमें में 8000 वोट 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को मिले थे लेकिन कृषि कानून के मुद्दे पर किसान और पार्टी अलग है.साथ ही किसान इनके विरोध में भी हैं।

जिसे अपने खेत की याद आ रही वो शीशी में ले आए खेत की मिट्टी, राकेश टिकैत बोले- दर्पण की तरह देखते रहो

सभी दौर की बातचीत विफल रहने के बाद किसानों ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च निकालने का ऐलान किया है।

ये पढ़ा क्या ?
X