Rajnath Singh

कृषि बिलः बोले राजनाथ सिंह- मैं भी किसान, सोच भी नहीं सकता कि सरकार अहित करेगी; Congress बोली- उपसभापति के कान में क्या कह रहे थे BJP सांसद?

बकौल राजनाथ, “उपसभापति के साथ किया गया दुर्व्यवहार दुर्भाग्यपूर्ण था। उनकी कुर्सी के पास बढ़ना, रूल बुक को फाड़ना, राज्यसभा या लोकसभा के इतिहास में ऐसी स्थिति कभी नहीं रही।”

दिग्विजय सिंह ने की राजनाथ सिंह की तारीफ, कहा- इनसे सीखिए नरेंद्र मोदी जी

राजनाथ सिंह ने ये भी कहा कि “भारतीय युवाओं की मेधा उनकी प्रतिभा को बढ़ाने में भी पंडित जवाहर लाल नेहरु का अहम योगदान है। इसके लिए उन्होंने आईआईटी, आईआईएम और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस की स्थापना की।

‘कई द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन कर रहा चीन’, राज्य सभा में राजनाथ सिंह ने कहा- हमारी सेना ने संयम के साथ शौर्य का भी किया प्रदर्शन

राजनाथ सिंह ने पूर्वी लद्दाख की स्थिति पर राज्यसभा में दिये अपने बयान में कहा कि हम पूर्वी लद्दाख में चुनौती का सामना कर रहे हैं, हम मुद्दे का शांतिपूर्ण ढंग से हल करना चाहते हैं और हमारे सशस्त्र बल देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए डटकर खड़े हैं।

LAC पर चीन ने किया है जमावड़ा, हमने भी की है जवाबी तैनाती, ज्‍यादा जानकारी नहीं दे पाऊंगा- लोकसभा में बोले राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह ने मंगलवार को लोकसभा में कहा कि चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर जमावड़ा किया है। उन्होंने कहा कि भारत की तरफ से भी जवाबी तैनाती की गई है। सिंह ने कहा कि वह इससे अधिक जानकारी अभी नहीं दे सकेंगे।

अनुच्छेद 370 के प्रावधान समाप्त होने के बाद पूर्ण रूप से देश की मुख्यधारा से जुड़े जम्मू कश्मीर, लद्दाखः केंद्र

राजनाथ सिंह ने आगे कहा- मौजूदा स्थिति के अनुसार पूर्वी लद्दाख और Gogra, Kongka La और Pangong Lake का North और South Banks पर कई टकराव वाले क्षेत्र हैं।

राजनाथ सिंह का चीनी रक्षा मंत्री से मिलना बड़ी भूल- BJP सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की राय

शनिवार को उन्होंने ट्वीट किया, “हमारे अच्छे रक्षा मंत्री को अपने स्तर पर चीनी रक्षा मंत्री के साथ बैठक के लिए राजी नहीं होना चाहिए था। भारत को ऐसा तब भी नहीं करना चाहिए था, जब चीन बातचीत के लिए तैयार रहता।”

जब राजनाथ सिंह और चीनी रक्षा मंत्री कर रहे थे बातचीत, अरुणाचल प्रदेश के पांच युवकों को बंधक बना ले गई PLA, कांग्रेस विधायक का दावा

कांग्रेस विधायक ने जिन लोगों के बंधक बनाए जाने का दावा किया है , उनके नाम टोच सिंगकम, प्रसाद रिंगलिंग, डोंगटू इबिया, तनु बेकर और नार्गु डिरी बताए जा रहे हैं।

1962 के बाद पहली बार LAC पर ऐसे खराब हालात, विदेश सचिव हर्ष श्रृंगला बोले

राजनाथ सिंह और चीनी रक्षा मंत्री वेई फेंग शंघाई कॉ-ऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन (SCO) की बैठक में हिस्सा लेने गए हुए हैं। दोनों नेताओं के बीच 2 घंटे 20 मिनट तक बात हुई।

रूसी अफसर ने मिलाने को बढ़ाया हाथ, राजनाथ सिंह ने जोड़ कर किया नमस्ते, वीडियो हो रहा वायरल

सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हो रहा है। रक्षा मंत्रालय के ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो शेयर किया गया है, जिसमें वो रूसी अधिकारियों से हाथ मिलाने के बजाय हाथ जोड़कर पारंपरिक तरीके से नमस्ते करते नजर आ रहे हैं।

जिन 101 सैन्य उपकरणों के आयात पर सरकार ने लगाया बैन, देखें उसकी पूरी लिस्ट

राजनाथ सिंह ने बताया कि जिन रक्षा उपकरणों के आयात पर रोक लगायी जाएगी, उनकी लिस्ट रक्षा मंत्रालय ने सुरक्षा बलों, सरकारी और निजी कंपनियों के साथ गहन चर्चा के बाद तैयार की है।

101 रक्षा उपकरण के आयात पर रोक, देश में ही बनेंगे आर्टिलरी गन, असॉल्ट रायफल, आत्मनिर्भर भारत पर राजनाथ सिंह का बड़ा ऐलान

जिन रक्षा उपकरणों का भारत में निर्माण किया जाएगा उनमें आर्टिलरी गन्स, असॉल्ट राइफल, कॉरवेट्स, सोनार सिस्टम, ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, एलसीएच, रडार समेत कई अन्य जरुरी उपकरण शामिल हैं।

मुझे संदेह है कि रक्षा मंत्रालय में चीनी जासूस है- बोले पी चिदंबरम

प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए पी.चिदंबरम ने कहा कि “उस बयान से नरेंद्र मोदी की प्रसिद्ध घोषणा को भी उजागर कर दिया कि भारतीय क्षेत्र में कोई घुसपैठ नहीं हुई है और कोई भी भारतीय क्षेत्र पर कब्जा नहीं कर रहा है।

रक्षा मंत्री का लेह दौराः PM मोदी के बाद चीन को राजनाथ सिंह का कड़ा संदेश! बंदूक उठा साधा निशाना, देखा सैन्य अभ्यास; जानी बॉर्डर पर जमीनी स्थिति

राजनाथ सिंह ने पेंगोंग झील के तट पर स्थित लद्दाख में एक अग्रिम सैन्य चौकी पर कहा, ‘‘भारत कोई कमजोर देश नहीं है। दुनिया में कोई भी ताकत भारत की एक इंच जमीन को भी नहीं छू सकती।’’

इधर राहुल गांधी ने बताया- चीन ने भारत पर क्यों बोला हमला? उधर, लेह में शस्त्र प्रदर्शन के बाद बोले रक्षा मंत्री- देश की 1 इंच जमीन नहीं कब्जा सकता कोई

रक्षा मंत्री के इस दौरे में प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल एम. एम. नरवणे भी उनके साथ रहे। इससे पहले, तीन जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लद्दाख का औचक दौरा किया था।

भारत-चीन पूर्वी लद्दाख से सैनिकों के पूरी तरह पीछे हटने पर सहमत, US रक्षा मंत्री से राजनाथ सिंह की हुई बात; उठा लद्दाख मुद्दा

मंत्रालय ने बताया कि दोनों पक्षों ने द्विपक्षीय समझौतों तथा प्रोटोकॉल के अनुरूप सीमावर्ती क्षेत्रों में अमन-चैन पूरी तरह बहाल करने के लिए एलएसी के आसपास सैनिकों के पूरी तरह पीछे हटने की बात दोहराई।

LAC विवादः चीनी सरहद पर फौज तैयार, हाल जानने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जाएंगे लेह, आर्मी चीफ भी रहेंगे साथ

भारत और चीन की सेनाओं के बीच पिछले सात सप्ताह से पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में कई जगहों पर गतिरोध की स्थिति बनी हुई है। गत 15 जून को गलवान घाटी में हिंसक झड़पों में 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने के बाद तनाव और बढ़ गया।

भारत कह रहा- नेपाल से ‘रोटी-बेटी का रिश्ता’, उधर, भारतीय बहू के लिए नागरिकता नियम बदलने की तैयारी में पड़ोसी देश

नेपाल सरकार ने नेपाली पुरुषों के साथ विवाह करने वाली विदेशी महिलाओं को शादी के सात साल बाद नागरिकता देने के फ़ैसले को अनुमति दे दी है। ऐसे में आने वाले समय में जो भारतीय महिला नेपाल के पुरुष से शादी करेगी उसे आसानी से नागरिकता नहीं मिलेगी और दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।

लद्दाख में शहादत: राजनाथ सिंंह ने ट्वीट में नहीं लिया चीन का नाम, राहुल गांधी ने पूछा- क्‍यों कर रहे शहीदों का अपमान

बता दें कि गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प पर राजनाथ सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा था, देश अपने सैनिकों की बहादुरी और बलिदान को कभी नहीं भूलेगा। शहीद सैनिकों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। देश इस मुश्किल की घड़ी में उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। हमें भारत के वीरों की बहादुरी और साहस पर गर्व है।

यह पढ़ा क्या?
X