ताज़ा खबर
 

ragging

संपादकीयः रैगिंग का रोग

यह किसी से छिपा नहीं है कि गैरकानूनी होने के बावजूद उच्च शिक्षण संस्थानों में होने वाली रैगिंग की घटनाओं में जूनियर विद्यार्थियों को कई बार बेहद अपमानजनक स्थितियों से गुजरना पड़ता है। प्रताड़ित किए जाने और यातना बर्दाश्त न होने की वजह से पीड़ित विद्यार्थियों के आत्महत्या तक कर लेने की खबरें आती रही हैं। हालांकि ऐसी घटनाओं पर हुई सामाजिक प्रतिक्रिया की वजह से ही इस ओर सरकार को संज्ञान लेना पड़ा और रैगिंग पर रोक लगाई गई।

बिहार: मेडिकल कॉलेज में रैगिंग, 33 छात्र दोषी करार

प्राचार्य ने बताया कि जुर्माने की रकम 30 नवंबर तक जमा करनी है। वरना इन्हें कक्षा में बैठ पढ़ाई करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

भोपाल: सीनियर छात्रों ने जूनियर्स को दिखाई पॉर्न फिल्‍म, दृश्‍यों की नकल करने का डाला दबाव

शिकायतकर्ता और आरोपी छात्र आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं। आरोपियों में से चार सैकंड ईयर और एक थर्ड ईयर का छात्र है।

रैगिंग के बाद छात्र ने की खुदकुशी

चेन्नई के एक इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ाई कर रहे 19 साल के एक छात्र ने संस्थान में अपने एक वरिष्ठ छात्र द्वारा कथित रूप से की गई ‘रैगिंग’ के बाद यहां..

सीनियर्स की रैगिंग से परेशान होकर की छात्र ने की खुदकुशी

चेन्नई के एक कॉलेज में इंजीनियरिंग के छात्र ने सीनियर छात्रों की रैगिंग से परेशान होकर खुदकुशी कर ली।