primary education

नेक पहल: जरूरतमंदों के दरवाजे पहुंची ‘पुलिस की पाठशाला’, सामुदायिक पुलिसिंग की टीम ने शुरू की कक्षाएं

इस सप्ताह की शुरुआत में निशंक ने कोविड-19 महामारी की परिस्थितियों के मद्देनजर दसवीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को फरवरी तक आयोजित करने से इनकार किया था।

राजनीति: बुनियादी बदलाव की दरकार

भले कुछ मामलों में गिने-चुने राज्यों के आंकड़े देश के अन्य हिस्सों से बेहतर हैं, पर निचली कक्षाओं में मामूली सुधार को छोड़ दें, तो पूरे देश में शिक्षा का स्तर गिरता जा रहा है। ग्रामीण भारत लगातार सामाजिक, शैक्षणिक और आर्थिक स्तर पर भयावह पिछड़ेपन से जूझ रहा है।

दिल्ली: चौथी-पांचवीं कक्षा के टॉपर्स को फ्री हवाई सफर कराएगा नगर निगम, जयपुर की सैर करेंगे बच्चे

इस अनोखे सफर के लिए नगर निगम के 10 स्कूलों के 40 प्रथम स्थान प्राप्त किए बच्चों को चुना गया है। चुने गए बच्चों में सुधा गुलाटी, सुनीता, अरुण कुमार, जसबीन कौर, मोहम्मद वारिस, मोहम्मद समीर जैसे आदि बच्चे शामिल हैं।

प्राथमिक शिक्षा की चुनौतियां

साक्षरता और शिक्षा के मामले में भारत की गिनती दुनिया के पिछड़े देशों में होती है। अगर हम अपने देश की तुलना आसपास के देशों से करें तो चीन, श्रीलंका, म्यांमा, ईरान से भी पीछे हैं..

ये पढ़ा क्या?
X