pregnancy

प्रेग्नेंसी में योग के इन आसनों से खुद को फिट रख रही हैं सौम्या टंडन

प्रेग्नेंसी के दौरान कुछ ऐसे योगासन हैं जो मां और बच्चे दोनों के लिए लाभकारी होता है। सौम्या टंडन बताएंगी की प्रेग्नेंसी के दौरान कौन सा योगासन करना स्वस्थ रहता है।

ब्रेस्टफीडिंग करवा रहीं महिलाओं के लिए बेहद फायदेमंद है अदरक वाली चाय, जानिए क्या मिलता है लाभ

स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को स्वस्थ फूड्स का सेवन करना आवश्यक होता है क्योंकि इससे उसके बच्चे का स्वास्थ्य जुड़ा होता है। ऐसे में अदरक वाली चाय उनके लिए एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है।

भीगे बादाम खाकर प्रेग्नेंसी में खुद को फिट रखती थीं नेहा धूपिया, जानिए और टिप्स

प्रेग्नेंसी के दौरान यदि आप भी नेहा धूपिया जैसा फिट रहना चाहती हैं तो उनके बताए टिप्स का पालन जरूर करें। ये टिप्स आपको प्रेग्नेंसी के दौरान भी सक्रिय रखने में मदद करेगा।

प्रेग्नेंसी में कब्ज की शिकायत दूर कर सकता है पालक, और भी हैं उपाय

गर्भावस्था के दौरान पालक का सेवन स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है क्योंकि यह शरीर को मजबूती प्रदान करता है और कई स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं से भी राहत दिलाने में मदद करता है।

इन आसान उपायों को अपनाएंगे तो प्रेग्नेंसी के दौरान नहीं होगी फूड क्रेविंग

गर्भावस्था के दौरान फूड क्रेविंग की समस्या आम होती है। हालांकि कई बार फूड क्रेविंग स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती है, इसलिए अपनी फूड क्रेविंग को कम करने के लिए आप कुछ आसान उपाय अपना सकती हैं और अपनी क्रेविंग कम कर सकती हैं।

गर्भावस्था के दौरान मोटापा बढ़ा सकती है दिक्कत, ऐसे रखें ध्यान

गर्भधारण करने के दौरान या फिर गर्भवति होने के बाद मोटापा कई जटिलताओं को बढ़ा सकता है। यदि आपका वजन भी जरूरत से ज्यादा तो आपको गर्भधारण करने से पहले इसे कम कर लेना चाहिए ताकि आपका स्वास्थ्य बेहतर रहे।

क्या सिजेरियन के बाद हो सकती है नॉर्मल डिलिवरी, जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट

इस बात में कितनी सच्चाई है कि सीजेरियन डिलीवरी के बाद नॉर्मल डिलीवरी हो सकती है या नहीं। यदि आप भी इस दुविधा में हैं तो अपनी इस परेशानी को कम करने सकते हैं।

प्री-मैच्योर नवजातों के लिए काफी मददगार साबित हो सकती है कैफीन

प्री-मैच्योर नवजात शिशु को निश्चित रूप से कैफीन का सेवन करवाना चाहिए। कैफीन उनके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है और सबसे जरूरी यह है कि इसका उनके स्वास्थ्य पर कोई नुकसान नहीं होता है।

प्रेग्नेंसी में वेजाइनल इंफेक्शन से बचने के लिए अपना सकती हैं ये घरेलू उपचार

प्रेग्नेंसी के दौरान वेजाइनल इंफेक्शन होने पर जल्द से जल्द अपने डॉक्टर से संपर्क करें। इसके अलावा आप इस इंफेक्शन से बचने के लिए कुछ घरेलू उपचारों की मदद भी ले सकते हैं।

गर्भनिरोधक गोलियां दिमाग को इस तरह पहुंचा रहीं नुकसान, हो जाएं सावधान

गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करना मानसिक और शारीरिक रूप से नुकसानदायक होता है। इसलिए जो महिलाएं अधिक गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती हैं उन्हें सावधान होने की आवश्यकता है।

प्रेग्नेंसी में सफर के दौरान इन चीजों के सेवन से बचना चाहिए, पहुंचा सकते हैं नुकसान

प्रेग्नेंसी के दौरान आपको कहीं जाने से पहले अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए। ऐसे में कुछ खाद्य पदार्थों का सेवन करके यात्रा के लिए बिल्कुल नहीं निकलना चाहिए।

प्रेग्नेंसी पीरियड में हो जाए पेट में संक्रमण तो इस तरह रखें ध्यान

गर्भावस्था के दौरान पेट के इंफेक्शन की समस्या आम होती है। ऐसा में इसका ध्यान रखना जरूरी होता है वरना शिशु के सेहत को नुकसान पहुंच सकता है। कुछ टिप्स हैं जिनकी मदद से आप इंफेक्शन को कम कर सकते हैं।

प्रेग्नेंसी में होने वाले घुटनों के दर्द में राहत के लिए ट्राइ करें ये टिप्स

प्रेग्नेंसी के दौरान घुटनों के दर्द के लिए कई आसान टिप्स हैं जिनका पालन नियमित रूप से करना लाभकारी साबित हो सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान इन टिप्स का पालन नुकसानदायक नहीं होता है।

प्रेग्नेंसी में हो जाए डायरिया तो इन तरीकों से रखें ध्यान

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में कई परिवर्तन होते हैं ऐसे में उन्हेंं पाचन संबंधी कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में कुछ घरेलू उपायों की मदद से आप इस परेशानी से राहत पा सकते हैं।

प्रेग्नेंसी में होने वाली गैस की समस्या से इन आयुर्वेदिक तरीकों से पा सकते हैं निजात

मोटापा, हार्मोन का बैलेंस ना होना और डाटबिटीज आदि प्रेग्नेंसी में गैस की समस्या को और भी अधिक बढ़ा देता है। नींबू में विटामिन सी होता है जो पाचन संबंधी समस्याओं का समाधान करने के लिए लाभकारी होता है। नींबू के रस में बेकिंग सोडा मिलाकर उसका सेवन करें। इसके अलावा आप अन्य घरेलू उपायों का भी उपयोग कर सकते हैं।

प्रेग्नेंसी में कब्ज से छुटकारे के लिए आजमा कर देखें ये घरेलू उपचार

प्रेग्नेंसी के दौरान कब्ज होना स्वाभाविक होता है। इससे बचने के लिए पेट पर सर्कुलर मोशन में तेल मालिश करें जिससे कब्ज की समस्या से निजात मिलती है। गर्भावस्था में अंतिम दिनों में ऐसा करने से बचना चाहिए। इसके अलावा आप अन्य कई घरेलू उपायों का इस्तेमाल कर सकती हैं।

प्रेग्नेंसी में ली ऐसी डाइट तो बढ़ जाएगा बच्चे में डायबिटीज का खतरा

नए शोधों में पाया गया है कि अगर होने वाली माँ हाई ग्लूटन डाइट लेती है तो गर्भ में पल रहे शिशु में डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है।

प्रेग्नेंसी के 9वें महीने में इन बातों पर अमल कर रह सकती हैं तनावमुक्त

प्रेग्नेंसी के दौरान तनाव लेना हानिकारक होता है। इसलिए तनाव होने पर आप कुछ आसान टिप्स का पालन करें जिससे आपका शरीर रिलैक्स महसूस करेगा।