Pranab Mukherjee

ऐसे थे प्रणब मुखर्जीः कांग्रेस के विरोध पर भी पहुंचे RSS कार्यालय, पढ़ें पूरा किस्सा

कांग्रेस में हो रहे इस बड़े विरोध के बाद भी वे पीछे नहीं हटे। वे मझे राजनीतिज्ञ थे। संघ के उन्हें आमंत्रित करने के पीछे मंशा थी कि वह भारतीय जनमानस में यह सन्देश दे पाए कि उसका विरोध समूची कांग्रेस नहीं बल्कि सिर्फ गाँधी परिवार ही करता है। प्रणब दा ने कार्यक्रम के दौरान कथनी से लेकर करनी तक बहुत सावधानी बरती।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर खेल जगत में शोक की लहर, कहा- देश ने सच्चे भारत रत्न को खो दिया

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली के नेतृत्व में खेल बिरादरी ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर सोमवार को शोक व्यक्त करते हुए कहा कि राष्ट्र ने एक महान नेता और सच्चे भारत रत्न को खो दिया, जिससे सब प्यार करते थे।

कब कब Congress की आंखों की किरकिरी बने प्रणब मुखर्जी?

साल 2017 में राष्ट्रपति के पद से हटने के बाद एक बार फिर वे कांग्रेसियों की आलोचना का शिकार हुए थे। वे साल 2018 में आरएसएस के एक कार्यक्रम में शरीक होने के लिए पहुँच गये थे। आरएसएस और कांग्रेस का पुराना वैचारिक मतभेद रहा है।

राजीव गांधी के चलते PM नहीं बन पाए थे प्रणब मुखर्जी- फोतेदार की किताब में दावा

किताब में लिखा गया है कि 1990 में वी. पी. सिंह की सरकार गिरने के बाद तत्कालीन राष्ट्रपति आर वेंकटरमण चाहते थे कि सरकार कांग्रेस की बने और उसका नेतृत्व प्रणब मुखर्जी करें लेकिन राजीव गाँधी राष्ट्रपति की इस राय के पूरी तरह से खिलाफ थे।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का राजकीय सम्मान संग अंतिम संस्कार, बेटा बोला- कोरोना नहीं ब्रेन सर्जरी थी देहांत की मुख्य कारक

84 वर्षीय मुखर्जी का सोमवार शाम को दिल्ली छावनी स्थित सेना के रिसर्च ऐंड रेफरल अस्पताल में निधन हो गया था। वह 21 दिनों से अस्पताल में भर्ती थे।

फेफड़ों में संक्रमण के बाद पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत हुई गंभीर, वेटिंलेटर सपोर्ट जारी

फेफड़े में इंफेक्शन होने की वजह से पूर्व राष्ट्रपति की तबीयत बिगड़ती जा रही है। अस्पताल की ओर से बताया गया है कि फेफड़ों में संक्रमण की वजह से सेप्टिक शॉक की स्थिति पैदा हो गई है।

प्रणब मुखर्जी: डॉक्‍टरों ने मना किया तो बगैर निकोटिन के पीते थे पाइप, इंदिरा ने सरे आम मारा था ताना

प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के चहेते थे। लेकिन उन्हें प्रणब दा की यह आदत पसंद नहीं थी। एक बार तो उन्होंने टोक भी दिया।

‘आप पूर्व राष्ट्रपति से बात कर रहे हैं, सलीका मत भूलिये’- जब राजदीप सरदेसाई पर बिफर पड़े थे प्रणब मुखर्जी

प्रणब मुखर्जी ने राजदीप से कहा, ‘मुझे पूरा कर लेने दीजिए… मैं आपको याद दिला रहा हूं कि आप एक पूर्व राष्ट्रपति से बातचीत कर रहे हैं, इसलिए सलीका मत भूलिए’।

Pranab Mukherjee Health News: इंदिरा गांधी की कहानी बता सोनिया को प्रेरित करते थे प्रणब मुखर्जी, राजीव ने पार्टी से दिया था निकाला

Pranab Mukherjee Health News Updates: प्रणब मुखर्जी 1969 में पहली बार राज्यसभा के लिए चुने गए थे, उसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा और वे पांच बार राज्यसभा के लिए चुने गए।

COVID-19 संक्रमित प्रणब मुखर्जी की हालत नाजुक, ब्रेन सर्जरी के बाद हैं वेंटिलेटर पर

अस्पताल के बयान के अनुसार, मुखर्जी की चिकित्सीय जांच में उनके दिमाग में बड़ा सा थक्का नजर आया है, जिसके लिए उनकी आपातकालीन जीवनरक्षक सर्जरी की गई।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को हुआ COVID-19, ट्वीट कर बोले- जो आए संपर्क में, वे करा लें जांच

साल 2012 से 2017 के बीच राष्ट्रपति रहे पोल्टू दा के टि्वटर हैंडल @CitiznMukherjee से इस बाबत लिखा गया- मैं आज किसी और काम से अस्पताल गया था। वहीं टेस्ट में मैं कोरोना पॉजिटिव पाया गया।

प्रणब मुखर्जी की चेतावनी- बहुमत का मतलब सबको साथ लेकर चलना, मनमर्जी करने वाली पार्टी को अगले चुनाव में नकार देती है जनता

उन्होंने कहा कि 1952 से लोगों ने अलग अलग पार्टियों को मजबूत जनादेश दिया है लेकिन कभी भी एक पार्टी को 50 फीसदी से ज्यादा वोट नहीं दिए हैं। पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि चुनावों में बहुमत आपको एक स्थिर सरकार बनाने का अधिकार देता है

प्रणब मुखर्जी समेत 3 अनमोल ‘रत्नों’ को भारत रत्न, PM से लेकर पहुंचे ये मेहमान, पर नहीं दिखे सोनिया-राहुल गांधी

83 साल के मुखर्जी इसके साथ ही पूर्व राष्ट्रपतियों राजेंद्र प्रसाद, सर्वपल्ली राधाकृष्णन, जाकिर हुसैन और वी वी गिरि के प्रतिष्ठित क्लब में शामिल हो गए, जिन्हें देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजा गया है।

प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न की खबर पर बेहद नाराज थीं बेटी शर्मिष्ठा, पूर्व राष्ट्रपति ने आरएसएस मुख्यालय को बताया शेर की मांद!

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी अपने पिता को भारत रत्न दिए जाने की खबर को लेकर उनसे नाराज थी। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने खुद को भारत रत्न पुरस्कार दिए जाने और आरएसएस मुख्यालय जाने से जुड़े वाकये को एक किताब के लिए दिए इंटरव्यू में बताया।

Loksabha Elections 2019: EVM में ‘छेड़छाड़’ विवाद पर EC को पूर्व राष्ट्रपति की नसीहत, ‘लेशमात्र भी संशय नहीं होना चाहिए’

Loksabha Elections 2019: उन्होंने ट्विटर हैंडल पर जारी एक बयान में कहा, ‘‘मैं मतदाताओं के फैसले से कथित छेड़छाड़ की खबरों पर चिंतित हूं। आयोग की देखरेख में मौजूद इन ईवीएम की सुरक्षा की जिम्मेदारी आयोग की है।’’

लाठियों के साथ रैली निकालने पर आरएसएस चीफ मोहन भागवत को नागपुर कोर्ट में हाजिर होने का आदेश

पूरी जिंदगी कांग्रेस की राजनीति करने वाले प्रणब मुखर्जी के संघ के कार्यक्रम में जाने की घटना ने मीडिया में खासी सुर्खियां बटोरी थीं। विपक्षी कांग्रेस ने उनके जाने का विरोध तो किया लेकिन बेहद सधी हुई प्रतिक्रिया दी थी।

रायसीना हिल्‍स पहुंच प्रणब मुखर्जी ने शुरू किया था ‘स्‍मार्ट ग्राम प्रोजेक्‍ट’, राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया बंद

पोल्टू दा के कार्यकाल में इसे राष्ट्रपति भवन का प्रोजेक्ट बताया गया था। प्रोजेक्ट के अंतर्गत हरियाणा के पांच गांव शामिल किए गए थे, जिनमें- ताजनगर, धौला, अलीपुर, हरचंदपुर और रोजका मेऊ को इस पहल के अंतर्गत राष्ट्रपति भवन द्वारा गोद लिया गया था।

मुकेश-अनिल अंबानी का झगड़ा सुलझाने उतरे थे प्रणब मुखर्जी! इन कारोबारी घरानों की लड़ाई भी हुईं मशहूर

अंबानी बनाम अंबानी की लड़ाई पिता धीरूभाई के गुजरने (2002 में) के बाद शुरू हुई। उन्होंने कोई वसीयत नहीं छोड़ी थी, लिहाजा बड़े बेटे मुकेश रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन और एमडी बने, जबकि अनिल को वाइस-चेयरमैन का पद मिला। पढ़ें, दोनों बंधुओं के बीच किस बात पर विवाद पनपा था।

ये पढ़ा क्या?
X