Pakistani terrorist

संपादकीय: आतंक का सिलसिला

ऐसा लगता है कि पाकिस्तान स्थित ठिकानों से अपनी गतिविधियां संचालित करने वाले आतंकी संगठनों और उनके संरक्षकों का मकसद भी शायद यही है। आतंकियों को चुपके से भारत की सीमा में प्रवेश कर आतंकी गतिविधियों को अंजाम देना या फिर सीमा पर सुरक्षा बलों को उलझाए रखना और उन्हें नुकसान पहुंचाने की कोशिश करना। यह एक तरह से शांति और स्थिरता की ओर बढ़ते कदमों को रोकने की कोशिश होती है, जिसमें वे आंशिक रूप से कामयाब भी होते हैं।

भारत में हमला करने घुसे 10 आतंकियों में से तीन गुजरात में मारे गए, सात के लिए अभियान जारी

इस समूह में लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद समूह के उग्रवादियों के होने की आशंका है।

ये पढ़ा क्या?
X