Migrants

मुद्दा: प्रवासी की जगह

ह्यूमन राइट्स वॉच की रिपोर्ट बताती है कि कतर में मौजूद सताईस लाख से ज्यादा प्रवासी कामगारों (जिनमें से ज्यादातर भारतीय हैं) की हालत इतनी खराब हो चुकी है कि उन्हें खाने-पीने के संकट से जूझना पड़ रहा है।

चिट्ठी विवादः ‘नीतीश कुमार आकर मांगें माफी’, बिहार CM पर बरस तेजस्वी यादव ने फाड़ा ADG का खत; फेंककर बोले- शर्म है इस सरकार पर

शुक्रवार शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस के बीच ADG की चिट्ठी फाड़कर फेंकते हुए उन्होंने कहा है कि सीएम को आकर सूबे की जनता से माफी मांगनी चाहिए। ये आखिर कैसे कह सकते हैं कि भूल हो गई?

‘Shramik Special’ में प्रवासी मजदूर ने तोड़ा दम, 8 घंटे तक लाश के इर्द-गिर्द यात्रियों को काटना पड़ा सफर

समाचार एजेंसी PTI ने पुलिस के हवाले से बताया कि बंगाल पहुंचने तक रेलगाड़ी को आठ घंटे लगे थे। ऐसे में मजदूर की मौत से लेकर तब तक अन्य यात्रियों का चिंता के मारे बुरा हाल हो गया था।

लॉकडाउन में प्रवासी मजदूर के बच्चे से पत्रकार ने पूछा कोरोना का मतलब, जवाब आया- मुझे खाना नहीं मिल रहा…

यही सवाल जब एक पत्रकार ने महानगर से पलायन कर रहे श्रमिक के बच्चे से पूछा तो उसका जवाब आया- मुझे ठीक से खाना नहीं मिल रहा है।

सिर पर झोला, आंखों में आंसू और गांव जाने की तड़प! दिल्ली में फंसी महिला का फूटा दर्द- पति गुजर गए, घर पर पड़ी लाश, बस पहुंचा दो घर

उन्होंने और उनके साथ एक अन्य महिला ने बताया था- रात 10 बजे से हैं यहां। खाने-पीने को भी कुछ नहीं मिला। हमें किसी भी गाड़ी में बैठा दीजिए। हम चले जाएंगे।

‘दो दिन से भूखे हैं, पैसा भी नहीं है, मोबाइल न होने से स्पेशल ट्रेन का भी नहीं पता,’ पैदल बिहार जा रहे मजदूरों का छलका दर्द

30 से ज्यादा प्रवासी श्रमिकों के एक समूह ने दिल्ली से बिहार के पूर्णिया जिले स्थित पैतृक गांव के लिए पैदल ही शुरू कर दी है, क्योंकि वे स्पेशल ट्रेन के बारे में अनजान हैं। उनको पता ही नहीं है कि ये स्पेशल ट्रेनें उन्हीं जैसे प्रवासियों को उनके घर भेजने के लिए चलाई जा रही हैं।

Lockdown 3.0: नहीं बचा एक भी पैसा, बेटे के जख्म से खून रिस रहा- पैदल गांव जाते मजदूर की दुख भरी कहानी

ट्रेनों या बसों के जरिए घर भेजने की व्यवस्था करने के केंद्र सरकार के ऐलान के बावजूद दिल्ली से कई प्रवासी मजूदर अब भी पैदल ही अपने गांव या गृहनगर की ओर रवाना हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश जा रहे ऐसे ही कुछ मजदूरों ने बताया कि उनके पास पैसे नहीं हैं।

जो फर्राटेदार अंग्रेजी बोलेगा, ट्रंप प्रशासन उसे प्रवासी बनाएगा, स्किल्ड, मेरिटधारियों के लिए खुले दरवाजे

ट्रंप प्रशासन का मानना है कि योग्यता आधारित प्रवासी व्यवस्था से दुनियाभर के सबसे अच्छे और प्रतिभाशाली लोग अमेरिका आएंगे जबकि लोगों के लिए गैरकानूनी रूप से देश में आना मुश्किल हो जाएगा।

साल 2017 में 1 लाख से अधिक अवैध प्रवासियों को ट्रंप प्रशासन ने किया गिरफ्तार, 42 फीसदी का है इजाफा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस साल 20 जनवरी को शपथ ली थी और 25 जनवरी को ट्रंप ने प्रशासन के आव्रजन प्रवर्तनालय निर्धारित करने के लिए नया कार्यकारी आदेश जारी कर दिया था।

शरणार्थियों को संबंध बनाने का सही तरीका सिखाने के लिए स्‍पेशल एजुकेशन प्रोग्राम लाई जर्मन सरकार

म्‍यूनिख में पब्‍ल‍िक पूल्‍स पर कार्टून्‍स के जरिए इन शरणार्थियों को चेतावनी दी जा रही है कि वे बिकनी पहनी महिलाओं के साथ तमीज से पेश आएं।

प्रवासियों ने यूनान-मैसेडोनिया सीमा बाड़ को तोड़ने की कोशिश की

मैसेडोनिया के राष्ट्रपति जी. इवानोव ने कहा है कि आस्ट्रिया के इस साल अपनी अधिकतम सीमा यानी प्रवासियों की संख्या 37,500 तक पहुंच जाने पर बाल्कन के रास्ते होकर आने वाले रास्ते को बंद करना होगा।

लीबिया: डूब गई वह नौका जिस पर सवार थे 400 यात्री

लीबिया तट पर एक नौका डूबने से कम से कम 400 प्रवासी लोगों की मौत हो गई है। ये लोग लीबिया से यूरोप पहुंचने का प्रयास कर रहे थे। डेली मेल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार इस हादसे में सुरक्षित बचे लोगों ने मंगलवार को बताया कि लीबिया तट से सोमवार को रवाना होने […]

IPL 2020
X