mahadevi verma

पुण्यतिथि विशेषः ‘मॉडर्न मीरा’ कही जाती थीं महादेवी वर्मा, जानें बापू ने क्यों विदेश जाने से कर दिया था मना

महादेवी वर्मा का सबसे क्रांतिकारी कदम था महिला-शिक्षा को बढ़ावा देना। उन्होंने इलाहाबाद में प्रयाग महिला विद्यापीठ के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया। उन्होंने 1955 में इलाहाबाद में साहित्यकार संसद की स्थापना की थी।

IPL 2020
X