Ladakh

पैंगोंग झील के पास चीन ने फिर जमा किए सैनिक, फिंगर 5 से 8 तक बढ़ा रहा ताकत, 29 जुलाई की सैटेलाइट इमेज से खुलासा- बोट की भी तैनाती

फिंगर 5 पर चीनी सेना के 3 बोट और फिंगर 6 पर 10 बोट दिखाई दे रहे हैं। फिंगर 5 पर पीएलए की नौसेना का बेस बना हुआ है। जिसमें करीब 40 कैंप हैं।

कौन हैं सीआर पाटिल, जिन्हें बनाया गया है गुजरात में नया BJP चीफ?

गुजरात में आने वाले दिनों में विधानसभा की आठ सीटों पर उपचुनाव होने हैं। इन उपचुनावों में सीआर पाटिल की नेतृत्व क्षमता की परीक्षा होगी।

चीन के साथ सीमा विवाद के बीच लद्दाख में राफेल तैनात करने की तैयारी, IAF बना रही यह योजना

पूर्वी लद्दाख और LAC के आसपास के क्षेत्रों में वायुसेना ने अपने लगभग सभी फ्रंट लाइन कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तैनात कर रखे हैं। इनमें Sukhoi 30 MKI, Jaguar और Mirage 2000 शामिल हैं। IAF ने इसके अलावा कुछ एडवांस लोकेशंस पर Apache अटैक हेलीकॉप्टर और Chinook चॉपर्स भी फौजियों को लाने-ले-जाने के लिए लगा रखे हैं।

इधर राहुल गांधी ने बताया- चीन ने भारत पर क्यों बोला हमला? उधर, लेह में शस्त्र प्रदर्शन के बाद बोले रक्षा मंत्री- देश की 1 इंच जमीन नहीं कब्जा सकता कोई

रक्षा मंत्री के इस दौरे में प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल एम. एम. नरवणे भी उनके साथ रहे। इससे पहले, तीन जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लद्दाख का औचक दौरा किया था।

पैंगोंग सो में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हाथापाई से दो हफ्ते पहले इंटेलीजेंस ने दे दी थी घुसपैठ की सूचना, पर सेना के पास पहुंची ही नहीं

भारतीय और चीनी सेना के बीच पहली बार पैंगोंग सो लेक के पास 5-6 मई को झड़प हुई थी, हालांकि भारत की खुफिया एजेंसी के पास चीन के बारे में अप्रैल के मध्य से ही इनपुट मौजूद था।

LAC विवादः गलवान में करीब एक से दो Km पीछे हटा चीन, टेंट, वाहन और फौजी भी हटाए

बता दें कि भारतीय और चीनी सेना के बीच पिछले सात हफ्तों से पूर्वी लद्दाख के कई इलाकों में गतिरोध जारी है। गलवान में 15 जून को हुई हिंसक झड़प के बाद तनाव कई गुणा बढ़ गया था जिसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे।

LAC पर तैनाती बढ़ाने में भारत के सामने आ रही ये बड़ी चुनौती, निपटने के लिए मंथन जारी

एलएसी पर चीन के साथ तनाव जारी है तो वह सैनिकों की लंबे समय तक तैनाती के लिए तैयारी करना एक मुश्किल काम है। सेना के अगले 6 हफ्तों में यह फैसला लेना है कि रसद आपूर्ति के हिसाब से कितने सैनिकों को सर्दी के दिनों में रिमोट इलाकों में तैनात करना है।

‘चीनी घुसपैठ के खिलाफ लद्दाखी लोग लगातार उठा रहे आवाज, अनसुना किया तो पड़ सकता है भुगतना’, राहुल गांधी ने चेताया

अपने एक ट्वीट में राहुल गांधी ने कहा था कि “लद्दाखी लोग कह रहे हैं कि चीन ने हमारी जमीन कब्जायी है। पीएम कह रहे हैं कि किसी ने हमारी जमीन पर कब्जा नहीं किया है। ऐसे में कोई तो झूठ बोल रहा है।”

LAC पर भारत-चीन के टकराव के बीच लद्दाख पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, 11 हजार फीट पर सैन्यकर्मियों से की बातचीत

पीएम मोदी के साथ सीडीएस जनरल बिपिन रावत और आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे भी लद्दाख पहुंचे।

टस से मस नहीं हो रहा चीन? अब गलवान में मैदानी सतह पर नक्शा बना मैंडरिन में लिखा- चाइना, 186 टेंट-शेल्टर भी जमाए- सैटेलाइट तस्वीरों में खुलासा

रिपोर्ट के मुताबिक, गलवान में चीन ने विवादित क्षेत्र में अलग-अलग आकार के कम से कम 186 के टेंट, झोपड़ियां और शेल्टर बना लिए हैं। फोटोज में वहां नदी/झील किनारे एक पियर भी दिखा। इतना ही नहीं, फिंगर 4 इलाके में भी चीनी निर्माण नजर आया।

गलवान घाटी में जिस जगह हुई थी हिंसक झड़प, वहां चीनी सेना ने किया निर्माण, अब भारतीय सेना पर नजर रख सकती है PLA

गलवान घाटी में पीपी-14 पॉइंट के पास के तटबंधीय इलाके में निर्माण कार्य इसलिए भी अहम है क्योंकि चीनी सेना यहां से नीचे नदी के तट पर भारतीय सेना की गतिविधियों पर नजर रख सकती है।

बाज नहीं आ रहा चीन! गलवान में 423 मीटर भीतर तक भारतीय इलाके में कर ली घुसपैठ- सैटेलाइट तस्वीरों में खुलासा

लद्दाख में एलएसी पर सेना ने इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप की तैनाती की है। बता दें कि इस ग्रुप में शामिल जवान ऊंची पहाड़ियों में युद्ध करने में पारंगत होते हैं। ये 17वीं माउंटेन कोर के जवान हैं, जिन्हें ऊंचे और दुर्गम इलाकों में युद्ध के लिए प्रशिक्षित किया गया है।

LAC पर कैसे होगी चीन की बोलती बंद? भारत के पूर्व विदेश सचिव ने बताए ये 3 रास्ते

Indo-China Conflict: पूर्व विदेश सचिव कंवल सिबल ने Jansatta.Com से एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा कि ऐसे सेंसेटिव एरिया, जो हम मानते हैं कि टैक्टिकल इंपॉर्टेंस और एडवांटेज के हैं, उसपर हम काबू कर लें। फिर चीन बार्गेन को मजबूर होगा।

India-China Border: नरम पड़ा चीन, कहा- टकराव के हर मुद्दे पर बनाएंगे सहमति, लद्दाख में सीमांत इलाकों का दौरा करेंगे सेना प्रमुख

India-China Border Face-off: इससे पहले, भारतीय सैनिकों से झड़प में अपने 40 सैनिकों के मारे जाने की खबर को चीन ने गलत बताया है। केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने भी 40 चीनी सैनिकों के मारे जाने का दावा किया था। इस बीच सेना ने कहा है कि चीन के साथ सोमवार को चली लंबी बैठक सकारात्मक और रचनात्मक माहौल में संपन्न हुई है।

जानें, कितना मुश्किल होता है किसी जवान के लिए लद्दाख पर डटे रहना

रात के समय लद्दाख की पूर्वी सीमा का तापमान जीरो डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है। वहीं सर्दियों के दिनों में तो यहां रात के समय तापमान माइनस 30 डिग्री सेल्सियस तक कम हो जाता है।

बौद्ध नेता का दावा- चीनी सेना ने पूर्वी लद्दाख में घुसपैठ की है; कहा- भारत अपना इंफ्रास्ट्रक्चर करे मजबूत

बुद्धिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा कि “श्योक से लेकर कराकोरम तक बहुत बड़ा इलाका है क्योंकि यहां एलएसी साफ तौर पर चिन्हित नहीं है इसलिए यहां घुसपैठ हुई है। फिर चाहे वो गलवान घाटी हो या फिर पैगोंग इलाका या डेमचोक।”

चीनी मोबाइल कंपनी के खिलाफ प्रदर्शन करने पहुंचे थे हिंदू रक्षा दल के कार्यकर्ता, धारा-144 के उल्लंघन में 30 के खिलाफ मुकदमा दर्ज

लद्दाख में चीनी सेना के हमले में 20 भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद से ही देशभर में चीनी उत्पादों के बायकॉट की मांग के साथ प्रदर्शन शुरू हो गए हैं।

‘सीधे शी जिनपिंग से गलवान घाटी पर सवाल पूछें पीएम मोदी, विदेश मंत्री को चीनी समकक्ष से मिलने से रोकें’ बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की नसीहत

भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी पीएम नरेंद्र मोदी को लगातार चीन और नेपाल मुद्दे पर नीतिगत सलाह देते रहे हैं।

ये पढ़ा क्या...
X