LAC

LAC विवाद के बीच भारत के क़ब्ज़े में चीन का सैनिक, सेना बोली- PLA जवान को लौटा देंगे

सीमा पर टकराव को लेकर दोनों पक्षों के बीच अब तक उच्च स्तरीय सैन्य वार्ता के सात दौर हो चुके हैं। सातवें दौर की वार्ता 12 अक्टूबर को हुई थी।

LAC विवादः चीन का आक्रामक रुख बातों से नहीं सकता बदल, ये कबूलने का आ गया है वक्त- लद्दाख पर बोले US के NSA

ओ ब्रायन ने रेखांकित किया कि चीन की अन्य अंतरराष्ट्रीय सहायता में वेनेजुएला के निकोलस मादुरो सहित दुनिया के ऐसे शासकों को निगरानी प्रणाली और दमन के उपकरण बेचना है जो लोगों के राजनीतिक और आर्थिक अधिकार सीमित करते हैं।

India-China Border News Live Updates: LAC के पास हथियार जुटा रहा चीन, जमीन के नीचे बना रहा सुरंग ताकि सैटेलाइट न पकड़ पाएं मौजूदगी

India-China Border News, India-China LAC Standoff Live Updates: पैंगोंग और रेजांग ला इलाकों में तनातनी के बाद अब देपसांग, गोगरा, हाट स्प्रिंग इलाकों में भी चीनी सेना अपना दबदबा बनाने का प्रयास कर रही है, जिससे तनाव और ज्यादा बढ़ रहा है।

अनुच्छेद 370 के प्रावधान समाप्त होने के बाद पूर्ण रूप से देश की मुख्यधारा से जुड़े जम्मू कश्मीर, लद्दाखः केंद्र

राजनाथ सिंह ने आगे कहा- मौजूदा स्थिति के अनुसार पूर्वी लद्दाख और Gogra, Kongka La और Pangong Lake का North और South Banks पर कई टकराव वाले क्षेत्र हैं।

India-China Border: कांग्रेस का आरोप- हमें लोकसभा में भारतीय सैनिकों के समर्थन में बोलने नहीं दिया गया

लोकसभा में पूर्वी लद्दाख की स्थिति पर दिये गये एक बयान में रक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि इस सदन को प्रस्ताव पारित करना चाहिए कि यह सदन और सारा देश सशस्त्र बलों के साथ है जो देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के लिए डटकर खड़े हैं।

LAC पर तनाव: PLA ने जुटा रखे हैं 50 हजार सैनिक और मिसाइल, भारत भी मुस्तैद

दोनों देशों के तनाव के बीच आज मॉस्को में भारतीय विदेशी मंत्री एस जयशंकर और चीन के विदेश मंत्री वांग यी के बीच एक अहम बैठक होने वाली है।

भारत और चीन की सीमा निर्धारित नहीं, वहां हमेशा समस्याएं रहेंगी- बोले चीनी विदेश मंत्री

वांग ने कहा कि इसके साथ ही द्विपक्षीय सबंधों में इन मुद्दों को उनके सही स्थान पर रखना चाहिए। चीनी विदेशमंत्री ने कहा कि चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई बार मुलाकात की है और कई अहम सहमति पर पहुंचे हैं।

पूर्व लद्दाख में दादागिरी पर अड़ा चीन, भारत को फिर ‘उकसाया’; दोष मढ़ बोला- PLA ने नही लांघी LAC

भारतीय सेना के हवाले से बताया कि जवानों ने पैंगोंग सो क्षेत्र में ‘‘एकतरफा’’ यथास्थिति बदलने के लिए चीन की पीएलए की चलाई गई ‘‘उकसावेपूर्ण सैन्य गतिविधि’’ विफल कर दी।

चीन संग तनातनी के बीच वेस्टर्न फ्रंट हुआ मजबूत! भारत ने तैनात किया स्वदेसी LCA तेजस फाइटर जेट

बताया जा रहा है कि दक्षिणी वायु कमान के तहत सुलूर से बाहर स्थित पहला एलसीए तेजस स्क्वाड्रन, 45 स्क्वाड्रन (फ्लाइंग डैगर्स) को एक ऑपरेशनल भूमिका में तैनात किया गया।

LAC पर भारत-चीन के टकराव के बीच लद्दाख पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, 11 हजार फीट पर सैन्यकर्मियों से की बातचीत

पीएम मोदी के साथ सीडीएस जनरल बिपिन रावत और आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे भी लद्दाख पहुंचे।

टस से मस नहीं हो रहा चीन? अब गलवान में मैदानी सतह पर नक्शा बना मैंडरिन में लिखा- चाइना, 186 टेंट-शेल्टर भी जमाए- सैटेलाइट तस्वीरों में खुलासा

रिपोर्ट के मुताबिक, गलवान में चीन ने विवादित क्षेत्र में अलग-अलग आकार के कम से कम 186 के टेंट, झोपड़ियां और शेल्टर बना लिए हैं। फोटोज में वहां नदी/झील किनारे एक पियर भी दिखा। इतना ही नहीं, फिंगर 4 इलाके में भी चीनी निर्माण नजर आया।

Chinese Apps Banned in India: नरेंद्र मोदी सरकार का बड़ा फैसला! चीन के TikTok, Shareit और WeChat समेत 59 ऐप्स किए बैन

Chinese Apps Banned in India: सरकार ने जिन 59 ऐप्स को बैन किया है, उनमें से अधिकतर चीन मूल के हैं। इनमें TikTok, Shareit, WeChat, Mi Video Call – Xiaomi आदि शामिल हैं।

LAC पर कैसे होगी चीन की बोलती बंद? भारत के पूर्व विदेश सचिव ने बताए ये 3 रास्ते

Indo-China Conflict: पूर्व विदेश सचिव कंवल सिबल ने Jansatta.Com से एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा कि ऐसे सेंसेटिव एरिया, जो हम मानते हैं कि टैक्टिकल इंपॉर्टेंस और एडवांटेज के हैं, उसपर हम काबू कर लें। फिर चीन बार्गेन को मजबूर होगा।

‘अब 1962 जैसी नहीं है सरकार’, लद्दाख BJP सांसद की चीन को चेतावनी- सर्जिकल स्ट्राइक से पहले PM ने वही लाइन की थी इस्तेमाल

बकौल नामग्याल, “हम बार-बार देश के जवानों को गंवाना नहीं चाहते हैं। हम नहीं चाहते हैं कि बॉर्डर पर आम नागरिकों की जिंदगी प्रभावित हो। यही वजह है कि हम एक बार में इस विवाद का हल चाहते हैं। 1962 में भारत ने एक बार नहीं बल्कि 100 बार धोखा दिया। उन्होंने युद्ध के दौरान तब हमारी 37,244 स्क्वायर किमी जमीन हड़प ली, जिसे आज अक्साई चिन कहा जाता है।”

UPA सरकार ने चीन से समझौते में नहीं जोड़ने दिया था ‘मौजूदा’ शब्‍द- पूर्व सैन्‍य अफसर ने बताई कहानी

बकौल लेफ्टिनेंट जनरल शेकेतकर, “1993 और 1996 के एंग्रीमेंट के बीच लिंक है। आपको इनमें समानताएं भी मिलेंगी। उस वक्त आगे के विवादों को रोकना/काबू रखने पर ही सबका जोर था। एग्रीमेंट में हम लाइन ऑफ कंट्रोल के बजाय एक्जिस्टिंग लाइन ऑफ कंट्रोल (मौजूदा) चाहते थे। चीनियों ने इस पर आपत्ति जताई थी, पर हमने राजनयिकों से कहा था- ये अच्छी चीज है।”

लद्दाख से लेकर अरुणाचल तक LAC पर भारतीय सेना युद्ध की तरह मुस्तैद, चीन की हर चाल का जवाब देने को तैयार

India-China: एक अधिकारी ने कहा कि गलवान घाटी में खूनी झड़प के बाद भारतीय सेना इस वक्त 3,488 KM लंबी LAC और पूर्वी क्षेत्र पर अब तक की सबसे ज्यादा अलर्ट पोजिशन में तैनात है।

India China Faceoff: सेना ने जारी की लद्दाख में शहीद 20 जवानों की सूची, जानें- जाबांजों के नाम

बता दें कि लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ ”हिंसक टकराव” के दौरान भारतीय सेना का एक अधिकारी समेत कुल 20 जवान शहीद हो गए। इस दौरान सेना की तरफ से बयान जारी कर कहा गया था कि भारत और चीन की सेना के वरिष्ठ अधिकारी लद्दाख में तनाव कम करने के लिये बैठक कर रहे हैं।

1962 युद्ध के बाद से गलवान घाटी पर रहा है भारत का अधिकार, अब चीन जता रहा अपना दावा, पिछले महीने की थी कई जगहों से घुसपैठ

India-China Border: गलवान घाटी साल 1962 में दोनों देशों के बीच हुए युद्ध के बाद से एलएसी के भारतीय में क्षेत्र में एक शांत इलाका था। मगर पिछले महीने चीनी सैनिकों में इस क्षेत्र में घुसपैठ की।

यह पढ़ा क्या?
X