JNU latest news

JNU विवाद: डीएम की राय-उमर खालिद की भूमिका की और ज्‍यादा जांच, पढ़ें क्‍या दी रिपोर्ट

जेएनयू कैंपस में कथित तौर पर देश विरोधी नारे लगने के मामले में देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार जेएनयू प्रेसिडेंट कन्‍हैया कुमार रिहा हो चुके हैं। दिल्‍ली सरकार की रिपोर्ट में उन्‍हें क्‍लीनचिट भी दे दी गई है।

इस सरहद को लांघने से परहेज करती रही है पुलिस…

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में पुलिस का प्रवेश आसान नहीं होता। प्रवेश के बाद छात्रों के विरोध को संभालना शायद पुलिस के वश से बाहर हो जाए इसलिए ताजा मामले में पुलिस और सरकार भी प्रवेश से कतरा रही थी

JNU परिसर ना सिर्फ राष्ट्रविरोधियों का, बल्कि PAK और चीनी एजेंटों का गढ़ बन गया हैः शिवसेना

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) प्रकरण पर शिवसेना ने सोमवार कहा कि विश्वविद्यालय के छात्रों के आंदोलन का समर्थन कर रहे तमाम राजनीतिज्ञों का निर्वाचित दर्जा खत्म कर दिया जाए और भारत विरोधी नारे लगाने वालों को जेल की सलाखों के पीछे डाला जाए।

JNU: ‘देशहित में है पाक जिंदाबाद, हिंदुस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाने वालों के खिलाफ कार्रवाही’

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद और गोरक्षपीठाधीश्वर आदित्यनाथ ने जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हाल में भारत विरोधी नारेबाजी के मामले में की गयी कार्रवाही का समर्थन करते हुए सोमवार कहा कि यह व्यापक देशहित में है।

मोदी सरकार पर मायावती का हमला, राजनीतिक षणयंत्र है JNU स्टूडेंट कन्हैया की गिरफ्तारी

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ अध्यक्ष की देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तारी को राजनीतिक षड्यंत्र बताया है।

JNU Row: नीतीश ने कन्हैया की गिरफ्तारी को बताया गलत, कहा- RSS-BJP के लोग देशभक्त बाकी देशद्रोही

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार और अन्य छात्रों की गिरफ्तारी को गलत बताया और कहा कि विश्वविद्यालय में लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा है।

JNU विवादः देशविरोधी नारे लगाने वाले कन्हैया की दो दिन बढ़ी रिमांड, पुलिस ने कहा जरूरी है पूछताछ

देशद्रोह और आपराधिक साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार यहां के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की पुलिस रिमांड सोमवार को दो दिन के लिए बढ़ा दी गई।

ये पढ़ा क्‍या!
X