ताज़ा खबर
 

jansatta epaper

taveen singh, column, jansatta, ravivari stambh, up election, riots, controversy

तवलीन सिंह का कॉलम : नई सुबह अभी दूर है

धर्म-मजहब से जुड़ी एक खुशखबरी भी थी पिछले सप्ताह, वह यह कि गुलबर्ग सोसाइटी में जिन्होंने आग लगाई थी 2002 के गुजरात दंगों के दूसरे दिन उनमें से कुछ लोग अब जेल भेज दिए गए हैं।

play, jansatta, rangmanch, epaper

रंगमंचः हिंदी रंगमंच की चुनौतियां

हिंदी रंगमंच के समक्ष चुनौतियां वास्तव में जितनी दिखतीं हैं, उतनी हैं नहीं। उसे अपने ही पैरोकारों से खतरा है।

Election Results Live, Election Results, Live Election Results, Election Results 2016

चौपाल : दोहरी मार

केंद्र सरकार सेवा कर के नाम पर जनता को लूट रही है। चौदह प्रतिशत सेवा कर पहले ही बहुत ज्यादा था पर उसे अब आधा-आधा प्रतिशत दो बार किसी न किसी नाम से बढ़ा कर पंद्रह प्रतिशत कर दिया गया है।

du, admissions, cyber cafe, money, charge, schools, colleges, education news, delhi news

चौपाल : आगे बढ़ती बेटियां

पिछले दिनों आए परीक्षा परिणामों में लड़कों के मुकाबले लड़कियों को कहीं ज्यादा सफलता मिलने का तथ्य सुखद और महत्त्वपूर्ण है।

gyanprakash vivek, gajal, jansatta, ravivari, column

दुनिया मेरे आगे : अनमोल खजाना

इतना कहकर मैं दरवाजे की तरफ बढ़ा। मांगी राम के दोनों बेटे दरवाजे के बेड़े पकड़े खड़े थे। उन्होंने मेरा रास्ता रोकना चाहा।

pulgaon, pulgaon fire, pulgaon army depot, pulgaon army depot fire news, central ammunition depot pulgaon

संपादकीय : आयुध में आग

असली वजह जांच के बाद पता चलेगी, पर सोचने की जरूरत है कि ऐसे हादसों पर रोक लगाने का क्या उपाय हो। इससे पहले भी कई आयुध डिपो में आग लग चुकी है, जिसके चलते सैकड़ों करोड़ का सैन्य साजो-सामान खाक हो चुका है।

village, nature, villager, jansatta

अखिलेश आर्येंदु : वीरान होते गांव

गांवों से कुटीर उद्योग खत्म हो गए हैं। पेड़ लगातार काटे जा रहे हैं। कुएं सूख गए हैं और जो बचे हैं वे सूखने के कगार पर हैं।

bulbul ke bachchhe, story, swapnil srivastava, jansatta, jansatta epaper

कहानी : बुलबुल के बच्चे

इच्छा के अंदर अनंत जिज्ञासाएं थीं। वह विकट सवाल पूछती और मैं चकरा जाता। मैं जानता था, जिन बच्चों के पास सवाल नहीं होते वे ठीक से विकसित नहीं हो पाते।

william shakespeare, articles, stories, blogs, play, anamika, jansatta, ravivariya

शेक्सपियर का संसार

इंग्लैंड में एवन नदी के किनारे बसे जिस छोटे से गांव, स्ट्रैटफोर्ड में शेक्सपियर 26 अप्रैल, 1564 के दिन जनमे थे, वह आज विश्वपर्यटकों का साहित्यिक तीर्थ है!