jansatta dunia mere aage column

खंडित सपनों का बोझ

अब विश्राम का नाम ही श्रम हो गया है। इसी विश्राम के साथ तरक्कियां मिल जाती हैं। उपलब्धियों के चांद-सितारे छू लेते हैं और...

राग-रंग

फागुन में और विशेषकर होली में राग और रंग दोनों शिखर पर होते हैं। यही हमें रंगों की सुध दिलाता है। फागुन की...

अभिव्यक्ति का आकाश

पिता-पुत्र या भाई-भाई के भिन्न विचारों को लेकर होने वाले झगड़े या मनमुटाव को हमारा समाज सामान्य रूप में स्वीकार कर लेता है, लेकिन...

दुनिया मेरे आगे: प्रेम की खोज में

प्रेम के बारे में कहा जाता है कि यह मिलन में ही नहीं, विरह में भी महसूस किया जा सकता है। प्रेम मधुर कल्पना...

दुनिया मेरे आगे: वक्त काटने के बजाय

दुनिया समझदारों से नहीं, दीवानों की वजह से चल रही है। पहिये के आविष्कार से लेकर आइपैड तक, जाने कितने आविष्कार पहले मस्तिष्क में...

कौशल बनाम जीवन

कौशल और जीवन के बीच जो संबंध हैं, उसके कई आयाम हो सकते हैं। किसी में दोनों का सीधा संबंध दिखाई पड़ता है तो...

ये पढ़ा क्या?
X