ताज़ा खबर
 

ips sanjiv bhatt

Sanjiv Bhatt, former ips Sanjiv Bhatt, former ips Sanjiv Bhatt arrested, Sanjiv Bhatt drug case, gujarat police, Hindi news, news in hindi, Jansatta

गुजरात के बर्खास्‍त IPS संजीव भट्ट ड्रग केस में गिरफ्तार, हाई कोर्ट के आदेश पर जांच कर रही CID

भट्ट 1996 में बनासकांठा जिले के पुलिस अधीक्षक थे। मामले की जानकारी के अनुसार भट्ट के नेतृत्व में बनासकांठा पुलिस ने वकील सुमेर सिंह राजपुरोहित को करीब एक किलोग्राम मादक पदार्थ रखने के आरोप में 1996 में गिरफ्तार किया था। उस समय बनासकांठा पुलिस ने दावा किया था कि मादक पदार्थ जिले के पालनपुर में होटल के उस कमरे से मिला था जिसमें राजपुरोहित ठहरे थे।

sanjiv bhatt

बंगले का अवैध निर्माण बचाने सुप्रीम कोर्ट गए थे गुजरात के बर्खास्‍त आईपीएस संजीव भट्ट, हारे

सुप्रीम कोर्ट ने आज अहमदाबाद म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन को संजीव भट्ट के बंगले में अवैध निर्माण को ध्वस्त करने की अनुमति दे दी है। बता दें कि संजीव भट्ट के पड़ोसी प्रवीणचंद्र पटेल साल 2012 में संजीव भट्टे के बंगले के अवैध निर्माण को ध्वस्त करने के लिए गुजरात हाईकोर्ट पहुंचे थे।

हनुमान-सीता पर बर्खास्त IPS संजीव भट्ट ने किया ट्वीट, लोगों ने जमकर सुनाई खरी खोटी

संजीव भट्ट ने एंग्री हनुमान का फोटो पोस्ट कर पूछा कि क्या इनसे सीता ने सुरक्षित महसूस किया होगा। उनके इस पोस्ट पर लोगों का आक्रोश उमड़ पड़ा। लोगों ने उन पर कार्रवाई करने की मांग की।

संजीव भट्ट ने उठाए टीम इंडिया में मुस्लिम क्रिकेटर न होने पर सवाल, लोग बोले- मोहम्मद शमी क्या हिंदू है?

पूर्व IPS अधिकारी ने कहा- क्या इस समय भारतीय क्रिकेट टीम में कोई मुस्लिम खिलाड़ी है? आजादी से आज तक ऐसा कितनी बार हुआ कि भारत की क्रिकेट टीम में कोई मुसलमान खिलाड़ी ना हो?

Sanjiv Bhatt, IPS Sanjiv Bhatt, RSS, Sangh, Manusmriti, Kamasutra, Lighter version of Cow Kamasutra, Mohan bhagwat, PM Narendra Modi, Hindi news, Jansatta

पूर्व आईपीएस ने कहा- संघ ला रहा है कामसूत्र का पवित्र वर्जन, नाम भी बताया

कामसूत्र भारत की प्राचीनतम शास्त्रों में से एक है। इस किताब में सेक्स और पारिवारिक जिंदगी से जुड़ी जानकारियां दी गई हैं।

आईपीएस संजीव भट्ट

‘सेक्स वीडियो’ को लेकर बुरे फंसे IPS संजीव भट्ट, जारी हुआ नोटिस

गुजरात के निलंबित आईपीएस संजीव भट्ट के कथित ‘सेक्स वीडियो’ का मामला सामने आया है जिसके बाद गुजरात सरकार की ओर से उन्हें नोटिस जारी कर 10 दिन में जवाब मांगा गया है।