ताज़ा खबर
 

Indira Gandhi

Priyanka Gandhi Vadra, Priyanka Gandhi, Congress, General Secretary, Sonbhadra, UP, Former PM, Indira Gandhi, Belchi, Bihar, Elephant, Congress, National News, Hindi News

सोनभद्र जाने की जिद पर अड़ीं प्रियंका वाड्रा, बेलछी नरसंहार के बाद इंदिरा गांधी भी हाथी पर सवार हो पहुंची थीं

गांव में जाने के लिए तब नदी पार करके जाना था, पर उस दौरान न तो नाव थी और न ही कोई और साधन। ऊपर से शाम भी ढल रही थी। सामने पानी से भरा कच्चे रास्ता था, जिस पर हिम्मत जुटाते हुए इंदिरा पैदल ही चल पड़ीं थी। आनन-फानन में जीप मंगाई गई। वह भी कीचड़ और पानी में फंस गई।

Indira Gandhi, 1975 Emergency, Emergency anniversary, sanjay gandhi, former pm Indira

Emergency: इंदिरा के मंत्री से बोले थे संजय गांधी- रेडियो पर चलाने से पहले मुझे दिखाओ खबरें, जानिए आपातकाल की पूरी कहानी

आखिर ऐसा क्या हुआ था कि देश में आपातकाल जैसा कड़ा फैसला लेना पड़ा था? क्या राजनारायण आपातकाल के पीछे थे एक बड़ी वजह।

इंदिरा गांधी नहीं, इस शख्स के दिमाग की उपज थी इमरजेंसी, पीएम से पहले राष्ट्रपति से कर ली थी बात

भारत में लगी इमरजेंसी के पीछे जिस शख्स का दिमाग था वह तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी नहीं थी। यह पूर्व नौकरशाह उस समय पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री रहे सिद्धार्थ शंकर राय के दिमाग की उपज थी।

Operation Blue Star, Golden Temple, amritsar Golden Temple, Operation Blue Star anniversary, indira gandhi

ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी पर स्वर्ण मंदिर में हंगामा, तलवारें लहराईं- खालिस्तान के समर्थन में नारेबाजी

दोनों पक्ष एक-दूसरे से झड़प करने लगे तो एसजीपीसी की टास्क फोर्स ने किसी तरह दोनों पक्षों को समझान की कोशिश की। इसके बाद माहौल को शांत कर स्थिति को कंट्रोल में किया गया।

ऑपरेशन ब्लू स्टार 35वीं बरसी: जानिए सबकुछ जो मैडम इंदिरा के आदेश पर हुआ

प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के आदेश पर हुए ऑपरेशन ब्लू स्टार ने पंजाब को आतंकवाद से मुक्त कर दिया था लेकिन यही उनकी हत्या की वजह बन गई।

Indira Gandhi, pm Indira Gandhi, congress, up police, statue of Indira Gandhi, Indira Gandhi congress, bjp, loksabha election

यूपी: पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की मूर्ति को पहनाया बुर्का, कांग्रेसियों का फूटा गुस्सा

कुछ अराजक तत्व मूर्ति को बुर्का पहनाकर वहां से चले गए जिसके बाद सोमवार सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले लोगों ने इंदिरा पार्क में पूर्व पीएम की मूर्ति पर बुर्का चढ़ा हुआ देखा तो वह दंग रहे गए। यह खबर पूरे इलाके में आग की तरह फैल गई।

lok sabha, lok sabha election, lok sabha election 2019, lok sabha election 2019 schedule, lok sabha election date, lok sabha election 2019 date, लोकसभा चुनाव, लोकसभा चुनाव 2019, chunav, lok sabha chunav, lok sabha chunav 2019 dates, lok sabha news, election 2019, election 2019 news

Lok Sabha Election 2019: रिपोर्टर कर रहा था चुनावी इंटरव्यू, बिहारी मजदूर ने फर्राटेदार अंग्रेजी में जवाब दे कर दिया हैरान, वीडियो वायरल

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): बिहारी मजदूर बोला, “अरे साहब ये काम-धाम का क्या होगा? मुझे काम चाहिए। पीएम मोदी से हम लोगों को काम दिलाने के लिए कहिए। हम लोगों को रोज काम नहीं मिलता।”

atal bihari vajpai, indira gandhi, emergency, bjp railly

जब इस सुपरहिट फिल्म से वाजपेयी की सभा फ्लॉप करने की इंदिरा गांधी ने चली थी चाल

आपातकाल के दौरान कांग्रेस पर से लोगों का भरोसा टूट रहा था। आपातकाल की घोषणा के साथ ही सभी नागरिकों के मौलिक अधिकार निलंबित कर दिए गए थे। अभिव्यक्ति का अधिकार ही नहीं रह गया था। लोगों में हताशा और निराशा थी। लिहाजा दिल्ली में सर्द मौसम के बावजूद लोग वाजपेयी की रैली में इकट्ठे हो रहे थे।

इंदिरा के बारे में जब संजय गांधी ने कहा था-लगता था मेरी मां तीन-चार दशकों तक चुनाव नहीं करवाएंगी

दिवंगत पत्रकार कुलदीप नैयर को संजय गांधी ने बताया था कि आपातकाल के दौरान स्थिति को देखते हुए उन्हें लगता था कि उनकी मां (इंदिरा गांधी) चीन-चार दशकों तक चुनाव नहीं कराएंगी।

यूपी कांग्रेस ऑफिस के उसी कमरे में बैठेंगी प्रियंका, जहां इंदिरा गांधी बैठा करती थीं?

प्रदेश कार्यालय में गुप्‍त सीढ़‍ियां भी बनाई गई हैं जो सीधे उस कमरे की ओर जाती हैं जहां कभी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी बैठकें किया करती थीं। प्रियंका को एसपीजी सुरक्षा प्राप्‍त है, ऐसे में उनके कार्यालय को लेकर कोई भी फैसला सुरक्षा बंदोबस्‍त जांचने के बाद ही होगा।

केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने की इंदिरा गांधी की तारीफ़, बताया उस समय के कई मर्द नेताओं से बेहतर

नितिन गडकरी का इंदिरा गांधी के संबंध में दिया गया यह बयान उनकी पार्टी-लाइन के बिल्कुल विपरीत है। क्योंकि, गडकरी की पार्टी बीजेपी अक्सर इंदिरा गांधी की नीतियों की आलोचना करती रही है। ख़ासकर देश में आपातकाल लागू करने को लेकर वह पूर्व प्रधानमंत्री को हमेशा निशाने पर रखती है।

जब इंदिरा से बोले अटल- पांच मिनट में तो आप अपने बाल भी ठीक नहीं कर सकतीं, हमसे कैसे निपटेंगी?

अटल बिहारी वाजपेयी की हाजिरजवाबी के किस्से बेहद मशहूर हैं। इंदिरा गांधी को दिए उनके कुछ जवाब आज भी याद किए जाते हैं।

indira gandhi

राज कपूर की बेटी से राजीव की शादी कराना चाहती थीं इंदिरा, किताब में दावा

पृथ्वीराज कपूर ने गोवलकर द्वारा अपने शोर कर रहे समर्थकों को नियंत्रित नहीं करने पर नाराजगी जतायी थी। पृथ्वीराज कपूर ने इस दौरान कहा था कि राजनीति में अनुशासन बेहद जरुरी है।

हत्‍या से कुछ दिन पहले ही, इंदिरा ने राजीव को चेताया था- अमिताभ को राजनीति में मत उतारो

इंदिरा गांधी ने राजीव गांधी को चेतावनी दी थी कि अमिताभ बच्चन को राजनीति में न उतारें। यह चेतावनी इंदिरा गांधी ने अपनी हत्या 31 अक्टूबर 1984 से कुछ दिनों पहले दी थी।

नहीं रहे इंदिरा के राजदार आरके धवनः 74 साल में 15 साल छोटी महिला से रचाई थी शादी

धवन ने अपना करियर इंदिरा गांधी के निजी सचिव के तौर पर साल 1962 में शुरू किया था। धवन उनकी हत्या के दिन यानी साल 1984 तक उनके निजी सचिव बने रहे। धवन आपातकाल के दिनों (1975—1977) में इंदिरा गांधी के सबसे ज्यादा करीबी लोगों में शामिल थे।

जब संसद से सीधे इंदिरा गांधी को CBI ने किया था गिरफ्तार, विरोध में कांग्रेस नेताओं ने हवाई जहाज कर लिया हाईजैक

शाह कमीशन अपनी जांच कर रही थी। पटियाला कोर्ट में शाह कमीशन की बैठक होती थी। कमीशन के सामने गवाही देने वाले ज्यादातर लोगों ने कहा था कि इमरजेंसी के लिए अगर कोई जिम्मेदार है तो वह इंदिरा गांधी ही हैं।

indira gandhi

‘भाइयों और बहनों, राष्ट्रपति जी ने आपातकाल की घोषणा की है’ पढ़िए इंदिरा गांधी की इमरजेंसी की पूरी कहानी

भारत में आपातकाल भी लागू हो सकता है इसका तब के दिग्गज नेताओं को भी अंदाजा नहीं था। भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी कहते हैं कि क्या हो सकता इसका अंदाजा नहीं था। न्यूज रीडर की जगह इंदिरा गांधी ने खुद आपातकाल की घोषणा की।

indira gandhi

इंदिरा गांधी के इस फैसले की जांच कराना चाहता है बीजेपी से जुड़ा थिंक-टैंक

सुमित भसीन ने कहा कि इंदिरा गांधी का यह फैसला इसलिए सवालों के घेरे में है क्योंकि जिस उद्देश्य के लिए बैंकों के राष्ट्रीयकरण का फैसला लिया गया था, वह उद्देश्य क्यों आज तक भी पूरा नहीं हुआ है?