ताज़ा खबर
 

indian penal code

विवाहेत्‍तर संबंधों के लिए महिला भी हो जिम्‍मेदार, सुप्रीम कोर्ट में याचिका का केंद्र ने किया विरोध

याचिका में ये कहा गया है कि विवाहेत्तर संबंध में पुरुष और महिला को बराबर का दोषी माना जाए। इंडियन पीनल कोड की धारा 497 के तहत दोषी उस पुरुष को ही माना जाता है, जिसने किसी महिला से यौन संबंध बनाए हों, जो उसकी पत्नी नहीं है।

obscene acts, Bombay High Court, private place, criminal, Indian Penal Code, Justices N H Patil, AM Badar, petition, Andheri Police, IPC section 294, Petitioners advocate, Rajendra Shirodkar

बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने कहा- प्राइवेट प्‍लेस में अश्‍लील हरकत करना अपराध नहीं

बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने कहा, ”प्राइवेट प्‍लेस में अश्‍लील हरकत करना या इसे देखना आईपीसी की धारा 294 के तहत नहीं आता।

मुसलमान एक से ज्‍यादा शादी करता है तो जुर्म नहीं: हाईकोर्ट

अगर कोई मुसलमान एक से ज्‍यादा शादी करता है तो उस पर भारतीय अपराध संहिता (आईपीसी) के तहत मुकदमा नहीं चलाया जा सकता। यह फैसला गुजरात हाईकोर्ट ने दिया है।