Indian army

दावा: 40 साल पुराने हथियार की बदौलत सीमा पर डटे हैं जवान, 2008 से कार्बाइन खरीद की हर कोशिश फेल! मोदी सरकार में भी लटकी 824 करोड़ की खरीद

वर्तमान में पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ तनाव के बीच , रक्षा मंत्रालय सैन्य साजोसमान की खरीद की प्रक्रिया को तेज कर दिया है। इसमें संयुक्त अरब अमीरात से 11 करोड़ डॉलर के काराकल 93,895 5.56x45mm कार्बाइन का ऑर्डर शामिल है।

LAC पर सेना पूरी तरह हटाने के बजाय बढ़ाने लगा चीन, कमांडर लेवल की बातचीत में फिंगर एरिया पर रहा फोकस

चाइनीज आर्मी बातचीत के बावजूद लद्दाख के पैंगोंग त्सो और देपसांग इलाकों से पीछे नहीं हट रही है। इतना ही नहीं चीन अरुणाचल प्रदेश में एलएसी के नजदीक भी अपनी सेना की तैनाती बढ़ा रहा है।

पैंगोंग झील के पास चीन ने फिर जमा किए सैनिक, फिंगर 5 से 8 तक बढ़ा रहा ताकत, 29 जुलाई की सैटेलाइट इमेज से खुलासा- बोट की भी तैनाती

फिंगर 5 पर चीनी सेना के 3 बोट और फिंगर 6 पर 10 बोट दिखाई दे रहे हैं। फिंगर 5 पर पीएलए की नौसेना का बेस बना हुआ है। जिसमें करीब 40 कैंप हैं।

चीन की कथनी और करनी में फर्क़, विदेश मंत्रालय के हटने के ऐलान के बावजूद पैंगोंग त्सो और गोगरा प्वाइंट में डटी है चीनी सेना

चीनी रक्षा मंत्रालय ने दावा किया था कि दोनों पक्षों के सैनिक धीरे-धीरे विघटित हो रहे हैं और डी-एस्केलेशन की ओर बढ़ रहा है। लेकिन इस दावे के कुछ ही घंटों के भीतर भारतीय सेना के सूत्रों का कहना है कि पिछले दो सप्ताह से ज्यादा समय हो गया है और यहां कोई पॉज़िटिव मूवमेंट दिखाई नहीं दी है।

‘राष्ट्रवाद पर अपना कहा ही लागू नहीं कर पाते हैं नरेंद्र मोदी, तो नेहरू से कैसे अलग?’, बोले पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल

लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) एचएस पनाग ने कहा कि मैं पीएम मोदी का प्रशंसक हूं, लेकिन कई मुद्दों पर उनकी आलोचना करने का अधिकार रखता हूं। अगर वह राष्ट्रवाद पर जो कहते है उसे लागू नहीं कर सकते, तो वह नेहरू से अलग कैसे है?

जेएनयू छात्र ने सेना पर की टिप्पणी, दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR, RSS की बेइज्जती से जोड़ दिया मामला

एक सामाजिक कार्यकर्ता तजिंदर यादव ने 8 जुलाई को कापसहेड़ा पुलिस स्टेशन में एक प्राथमिकी दर्ज की थी जिसमें दावा किया गया था कि जेएनयू छात्र ने ट्वीट किया था कि कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ भारतीय सेना का ऑपरेशन “गलत और देश के खिलाफ” था।

‘वतन पर मर-मिटने वालों का…’ कारगिल विजय दिवस पर अपनों को भेजें ये संदेश

इस साल कारगिल विजय दिवस के खास अवसर पर शहीदों को नमन और श्रद्धांजलि देने के लिए अपनों से ये कोट्स और मैसेज शेयर करें और इस दिन को याद करें।

भारत की कूटनीतिक और सैन्य कामयाबी, आंख दिखाई तो पैंगोंग त्सो और गोगरा प्वाइंट से पीछे हटने को तैयार हुआ चीन

वहीं चीनी विदेश मंत्रालय ने भी अपने एक बयान में कहा है कि ‘दोनों पक्ष सीमा पर मौजूद सैनिकों को पीछे हटाने की दिशा में सकारात्मक प्रतिक्रिया दिखा रहे हैं।

सैन्य कमांडर स्तर की चार बार हो चुकी वार्त्ता, पर भारत ने कभी नहीं उठाई डेपसांग मैदान में घुसपैठ की बात, LAC से 18KM अंदर घुस चुके चीनी सैनिक!

भारत और चीन के बीच वार्ता के बाद दोनों देशों की सेनाएं गलवान घाटी, हॉट स्प्रिंग्स-गोगरा और पैंगोंग सो से पीछे हटी हैं, पर डेप्सांग कूटनीतिक तौर पर इन सब इलाकों से ज्यादा अहम बताया जाता है।

युद्ध के मैदान में भी सात टन का मिलिट्री स्टोर पैराशूट गिरा सकता है भारत, DRDO ने विकसित किया P7 हैवी ड्रॉप सिस्टम

डीआरडीओ की इस स्वदेशी तकनीक के लिए लार्सेन एंड टूब्रो सिस्टम प्लेटफॉर्म और ऑर्डनेंस फैक्ट्री पैराशूट बना रही है।

गलवान घाटी के फिंगर 4 में अभी भी डटी हुई है चीनी सेना, 10 जुलाई की लैटेस्ट सैटेलाइट इमेजरी से हुआ खुलासा

दोनों सेनाओं के बीच अगले हफ्ते कोर्प्स कमांडर लेवल की बातचीत हो सकती है। दोनों पक्षों ने विवाद वाली तीन जगहों गलवान घाटी, गोगरा और हॉट स्प्रिंग्स में 3 किलोमीटर का बफर जोन बना लिया है।

अपने मोबाइल में फेसबुक, इंस्टाग्राम नहीं चला सकेंगे सेना के अधिकारी व जवान, सुरक्षा कारणों से दिए गए 80 से अधिक ऐप्स डिलीट करने के निर्देश

सेना ने इसके पीछे सुरक्षा कारणों का हवाला दिया है। सेना की तरफ से कहा गया है कि इन ऐप्स को 15 जुलाई तक अपने मोबाइल से हटा देना है नहीं तो इसके बाद कार्रवाई की जाएगी।

मोदी ने हिम्मत दिखाई, चीन के हाथ मरोड़े तो टेंट और टैंक वापस चले गए- सोशल मीडिया पर लोग ऐसे दिखा रहे उत्‍साह

भारतीय सेना की तारीफ करते हुए लिखा कि हमारे 20 जवानों के बलिदान ने चीन को पीछे हटने पर मजबूर कर दिया है। एक यूजर ने लिखा कि “इतिहास के पटल पर मोदी सरकार का राष्ट्रवादी युग स्वर्णिम काल के रूप में लिखा जाएगा।”

पीछे हटने को राज़ी होने के बाद भी चीन ने नहीं छोड़ी अकड़: दिया कड़ा बयान, भारत ने नहीं किया खंडन

गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प को दिमाग में रखते हुए भारतीय विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि दोनों पक्षों को चरणबद्ध तरीके से एलएसी से सैनिकों को वापस बुलाना चाहिए।

मार दिए हमारे 14 लोग – इस आरोप के साथ पाकिस्‍तान ने भारत के राजनयिक को किया तलब

भारतीय सेना का कहना है कि पाकिस्तानी फौज द्वारा रविवार को एलओसी पर कई जगह सीजफायर का उल्लंघन किया गया। जिसका भारतीय सेना ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया।

LAC पर तैनाती बढ़ाने में भारत के सामने आ रही ये बड़ी चुनौती, निपटने के लिए मंथन जारी

एलएसी पर चीन के साथ तनाव जारी है तो वह सैनिकों की लंबे समय तक तैनाती के लिए तैयारी करना एक मुश्किल काम है। सेना के अगले 6 हफ्तों में यह फैसला लेना है कि रसद आपूर्ति के हिसाब से कितने सैनिकों को सर्दी के दिनों में रिमोट इलाकों में तैनात करना है।

जीडी बख्शीः पहले भी कैमरे पर मर्यादा भंग कर चुके हैं पूर्व मेजर जनरल, पाकिस्तान से बदले की आग के चलते सेना में की नौकरी

पुलवामा हमले के बाद ABP न्यूज पर एक डिबेट के दौरान उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान को अपने नापाक इरादों के लिए भारी कीमत चुकानी होगी। मैं वादा करता हूं कि अगर पाकिस्तान को महाभारत चाहिए, तो वह हो कर रहेगी!

गलवान घाटी में भारतीय सेना ने तैनात किए टी-90 टैंक, चीन को मुंहतोड़ जवाब देने की तैयारी

सेना ने सीमा पर होवित्जर तोपों के अलावा दो टैंक रेजीमेंट भी चुसुल सेक्टर में तैनात कर दी है। चीनी सेना द्वारा भारत के साथ डील करने की कोशिश की जा रही है लेकिन भारतीय सेना यथास्थिति बहाल करने की मांग पर अड़ी है।

ये पढ़ा क्या...
X