India China border row

India China Faceoff: एलएसी की चीन की परिभाषा को भारत ने किया खारिज, तनाव और बढ़ने का खतरा

विदेश मंत्रालय ने कहा कि साल 2003 तक दोनों देशों की तरफ से एलएसी के निर्धारण को लेकर कोशिश होती रही है लेकिन इसके बाद चीन की तरफ से इस संबंध में रुचि नहीं दिखाई गई जिसके बाद से यह प्रक्रिया रुक गई। ऐसे में चीन का यह कहना कि केवल एक ही एलएसी है यह वादे का उल्लंघन है।

चीन ने 4 साल में भारत की 1600 कंपनियों में किया एक अरब डॉलर का निवेश, सरकार ने राज्यसभा में दी जानकारी

इनमें से ऑटोमोबाइल उद्योग, पुस्तकों की छपाई (लिथो प्रिंटिंग उद्योग सहित), इलेक्ट्रॉनिक्स, सेवाओं और बिजली के उपकरणों की कंपनियों ने इस अवधि के दौरान चीन से 10 करोड़ डॉलर से अधिक का एफडीआई प्राप्त किया।

जंग के अभ्‍यास के लिए ऐसे तैयार हो रही चीन की सेना, जारी किया वीडियो

इससे पहले भारत और चीन के बीच जारी गतिरोध के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रूस में चीनी रक्षा मंत्री वेई फेंगही से मुलाकात की थी। तब राजनाथ सिंह ने भारत की स्थिति स्पष्ट करते हुए चीन को कड़ा संदेश दिया था।

भारत-चीन रिश्तों में तल्खी के बीच भारतीय जवानों ने की चीनी नागरिकों की मदद, सिक्किम में भटके लोगों को दवा, ऑक्सीजन दिए; राह भी दिखाई

तीन सितंबर को उत्तरी सिक्किम के पठार क्षेत्र में तीनी चीनी नागरिक रास्ता भटक गए थे। तापमान शून्य से भी कम होने के चलते इन लोगों को कई कठिनाइयों का सामना भी करना पड़ा। चीनी नागरिकों को परेशान होता देख भारतीय सेना के जवान वहां पुहंचे और तीनों चीनी नागरिकों की मदद की।

और गहराया LAC विवाद! दक्षिणी पैंगॉन्ग में बौखलाए चीन ने तैनात कर दिए टैंक और पैदल सेना, भारत यूं दे रहा है ‘जवाब’

सेना प्रमुख बाल मुकुंद नरवने ने बताया कि वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास हालत तनावपूर्ण हैं। हमने एलएसी पर अपनी सुरक्षा के लिए सैन्य बलों की तैनाती की है।

सरहद पर तनाव झेल नहीं पाएगा भारत- मायनस 24 फ़ीसदी जीडीपी पर ग्लोबल टाइम्स ने लगाया मौक़े पर चौका

लेख में एक बार फिर से चीन ने गलत आरोप लगाते हुए कहा कि भारतीय सैनिक चीनी क्षेत्र में घुस आए। लेख में कहा गया है कि भारतीय सरकार भले ही सीमा पर नया विवाद पैदा करना चाहती हो लेकिन इससे लगता है कि सरकार कोरोना वायरस महामारी और अर्थव्यवस्था पर काबू पाने की असमर्थता को सीमा पर विवाद के जरिए छिपा रही है।

चीन से निपटने को पीएम मोदी की अगुवाई में बनी रणनीति: बयानबाजी कम, पैट्रोलिंग बंद, पर संघर्ष बिंदु पर निगाहें और निचले हिस्से में जवानों की मुस्तैदी

प्रधानमंत्री और एनएसए के अलावा विदेश मंत्री एस जयशंकर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृह मंत्री अमित शाह इस दृष्टिकोण को अंतिम रूप देने में बतौर सहायक शामिल थे।

भारत-चीन के बीच कम नहीं हो रहा तनाव, LAC की तरफ लद्दाख से भेजे गए और ITBP और Army के जवान

शुरुआत में भारत की तरफ से रिजर्व सैनिकों को लद्दाख सीमा पर भेजा गया था लेकिन अब सैनिकों को जम्मू कश्मीर से लद्दाख भेजा जा रहा है।

सीमा विवाद को हल करने के लिए चीन को बैठना होगा हमारे साथ, भारत को कोई चेतावनी नहीं दे सकता: राजनाथ सिंह

मानेसर (हरियाणा)। अरुणाचल प्रदेश में सीमा सड़क बनाने की सरकार की योजना पर चीन की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया आने पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज उसे यह कहते हुए कड़ा संदेश दिया कि कोई भी भारत को चेतावनी नहीं दे सकता। उन्होंने एक कार्यक्रम के इतर संवाददाताओं से कहा कि आज, कोई भी […]

यह पढ़ा क्या?
X