मुंबई एयरपोर्ट पर एअर इंडिया की फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग हुई है। दरअसल, हैदारबाद से मुंबई आ रही फ्लाइट AI 620 के लैडिंग के वक्त अचानक टायर के पास धुंआ दिखाई दिया और इसी वजह से पायलेट को इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी।

कन्हैया ने दावा किया कि भाजपा ‘राष्ट्रवाद’ का मुद्दा इस वजह से उछाल रही है, क्योंकि उसने विकास के जो वादे किए थे वे पूरे नहीं हो सके हैं।

कन्हैया कुमार ने कहा, ‘‘सरकार ने रोहित वेमुला के मुद्दे को दबाने के लिए जेएनयू मुद्दे का इस्तेमाल किया।

छात्रों ने मंगलवार (22 मार्च) को एचसीयू कुलपति अप्पा राव पोडिले के आधिकारिक आवास में तोड़फोड़ की थी।

कन्हैया कुमार ने कहा, “कैम्पस अभियान (कैंपेन) के तहत हम विश्वविद्यालयों में सामाजिक न्याय सुनिश्चित करना चाहते हैं

पुलिस ने बताया कि एहतियाती उपाय के तहत हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय परिसर में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है

कन्हैया कुमार रोहित वेमुला की खुदकुशी के मुद्दे पर होने वाले एक प्रदर्शन में हिस्सा ले सकते हैं और उनकी मां से भी मिल सकते हैं।’’

मुफ्ती शाहिद अली कासमी ने फतवे को जायजे ठहराते हुए कहा कि हालांकि ‘मातृभूमि’ जैसे शब्‍द देश के लिए बेपनाह मोहब्‍बत का इजहार कराते हैं, पर किसी मुल्क को देवी के तौर पर नहीं पूज सकते।

फतवे में कहा गया है कि देश के मुसलमान भारत से प्रेम करते हैं। लेकिन भारत माता की जय बोलना इस्‍लाम विरोधी और तर्कहीन बात है।

माल्या के वकील ने कहा कि वह गैर जमानती वारंट को रद्द करने के लिए हाई कोर्ट जाएंगे। 14वें अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपालिटन मजिस्ट्रेट की अदालत ने दस मार्च को अब ठप खड़ी किंगफिशर एअरलाइंस, उसके चेयरमैन विजय माल्या और कंपनी के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी के खिलाफ यह गैर जमानती वारंट जारी किया।

सीपीआई ने कहा, ‘‘जो भी लोग स्टूडेंट्स फेडरेशन में हैं, वे हमारी पार्टी के सदस्य नहीं हैं। कन्हैया निश्चित तौर पर हमारे पार्टी परिवार से ताल्लुक रखता है।’’

तेलुगू फिल्म ‘सावित्रि’ के ऑडियो रिलीज के मौके पर मिस्टर बालाकृष्णा ने कहा कि उनके प्रशंसक यह स्वीकार नहीं करेंगे कि वह सामान्य तरीके से किसी महिला का पीछा करें। उन्होंने कहा, मुझे उस महिला को या तो किस करना होगा या फिर प्रेगनेंट।”

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘रोहित वेमुला से लेकर राहुल गांधी तक…मोदी सरकार की ओर से विचारों को दबाने के खिलाफ आवाज उठाने वाले हर शख्स को देशद्रोही घोषित किया जा रहा है।’

अपने समुदाय को पिछड़े वर्ग में आरक्षण दिलाने के लिए आंदोलनरत कापू नेता मुद्रगडा पद्मनाभम ने सोमवार को अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल की धमकी देते हुए सरकार पर कापू समुदाय को बदनाम करने का आरोप लगाया।